भारत में निवेश 13 साल के निचले स्तर पर पहुंचा, राहुल गांधी ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

एक रिपोर्ट के अनुसार दिसंबर तिमाही के दौरान भारत में निवेश में भारी कमी आई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार के इस रिकॉर्ड को ‘फेक इन इंडिया’ कार्यक्रम ठहराया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

केंद्र की मोदी सरकार के तमाम दावों के बावजूद देश की नई परियोजनाओं में दिसंबर तिमाही के दौरान बीते 13 वर्षों में सबसे कम निवेश हुआ है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) की एक रिपोर्ट से सामने आया है कि दिसंबर तिमाही में भारतीय कंपनियों ने नई परियोजनाओं के लिए 77,000 करोड़ का निवेश किया है, जो काफी निराशाजनक है। बीते 13 साल की किसी भी तिमाही में भारतीय कंपनियों द्वारा नई परियोजनाओं में यह सबसे कम निवेश है। इसके अलावा विनिर्माण क्षेत्र में भी स्थिति काफी निराशाजनक है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीएमआईई की इस रिपोर्ट को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने इस संबंध में एक वेबसाइट की खबर को ट्वीट पीएम मोदी के 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम पर निशाना साधा। कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट किया, "दोस्तों, फेक इन इंडिया कार्यक्रम पर ताजा अपडेट।"

सीएमआईई की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में मैनुफैक्चरिंग क्षेत्र में निवेश में सबसे ज्यादा कमी आई है। इससे स्पष्ट होता है कि सरकार के तमाम दावों के बावजूद देश में निवेश की रफ्तार में काफी कमी आई है। विशेषज्ञों की राय के अनुसार इसमें आने वाले समय में किसी बड़े बदलाव की उम्मीद नहीं है। निवेश में भारी कमी की वजह से भारत के आर्थिक विकास पर विपरित असर पड़ सकता है।

लोकप्रिय