अर्थ जगत: कारोबार के आखिरी घंटे में निफ्टी में भारी गिरावट और तीसरी तिमाही में एयरटेल का शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़ा

शेयर बाजार में कारोबार के अंतिम घंटों के दौरान सोमवार को भारी गिरावट देखी गई। टेलीकॉम प्रमुख भारती एयरटेल लिमिटेड ने सोमवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कुल शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़कर 2,442 करोड़ रुपए हो गया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

तीसरी तिमाही में एयरटेल का शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़कर 2,442 करोड़ रुपए हुआ

अर्थ जगत: कारोबार के आखिरी घंटे में निफ्टी में भारी गिरावट और तीसरी तिमाही में एयरटेल का शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़ा

टेलीकॉम प्रमुख भारती एयरटेल लिमिटेड ने सोमवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कुल शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़कर 2,442 करोड़ रुपए हो गया।

तिमाही के दौरान परिचालन से कंपनी का समेकित राजस्व 6 प्रतिशत बढ़कर 37,900 करोड़ रुपए हो गया, जो पिछले वित्तीय वर्ष की समान अवधि में 35,804 करोड़ रुपए था। कंपनी ने एक्सचेंज फाइलिंग में कहा कि अफ्रीका में मुद्रा अवमूल्यन से राजस्व आंशिक रूप से प्रभावित हुआ है।

एयरटेल का प्रति उपयोगकर्ता औसत राजस्व (एआरपीयू) मामूली रूप से बढ़कर 208 रुपए हो गया, जबकि दूसरी तिमाही में यह 203 रुपए था। तीसरी तिमाही में एयरटेल का भारत में राजस्व सालाना आधार पर 11.4 प्रतिशत बढ़कर 27,811 करोड़ रुपए हो गया।

कारोबार के आखिरी घंटे में निफ्टी में भारी गिरावट

शेयर बाजार में कारोबार के अंतिम घंटों के दौरान सोमवार को भारी गिरावट देखी गई। सेंसेक्स 354.21 अंक या 0.49 प्रतिशत गिरकर 71,731.42 पर और निफ्टी 82.10 अंक या 0.38 प्रतिशत गिरकर 21,771.70 पर बंद हुआ।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि जनवरी के लिए मजबूत अमेरिकी नौकरी डेटा से संकेत मिला कि आने वाले समय में यूएस फेड से दर में कटौती की उम्मीद है। नायर ने कहा, यह अमेरिकी बॉन्ड यील्ड में 4 फीसदी से अधिक के तेज उछाल से पता चलता है, जिसने हाई वैलुएशन के बीच निवेशकों को अंतरिम बजट के बाद की रैली से मुनाफावसूली करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा, हालांकि, कच्चे तेल की कीमतों में मौजूदा गिरावट से समर्थन मिला है।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा अनुसंधान प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा कि निफ्टी में आखिरी घंटे की बिकवाली के कारण सूचकांक 82 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ।


नकदी संकट के बीच बायजू ने फुटबॉलर लियोनेल मेस्सी के साथ सस्पेंड की डील

अर्थ जगत: कारोबार के आखिरी घंटे में निफ्टी में भारी गिरावट और तीसरी तिमाही में एयरटेल का शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़ा
ians

संकट में फंसी एडटेक प्रमुख बायजू ने कथित तौर पर फुटबॉल आइकन लियोनेल मेस्सी के साथ ग्लोबल ब्रांड एम्बेसडर के रूप में अपना तीन साल का करार निलंबित कर दिया है।

कंपनी ने 2022 में मेस्सी को समान शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए ब्रांड एंबेसडर के रूप में साइन किया था। रिपोर्टों के अनुसार, गंभीर नकदी संकट का सामना करते हुए, कंपनी ने अब इस समझौते को रोक दिया है और विचार-विमर्श कर रही है कि क्या कॉन्ट्रैक्ट को समय से पहले समाप्त किया जाए या दूसरे विकल्प तलाशे जाएं।

हालांकि, बायजू ने मेस्सी को समझौते के शुरुआती वर्ष के लिए भुगतान किया है। इकोनॉमिक टाइम्स ने सबसे पहले बायजू-मेस्सी समझौते में नए डेवलपमेंट पर रिपोर्ट दी थी। कंपनी ने डेवलपमेंट पर आधिकारिक तौर पर कोई कमेंट नहीं किया।

ब्रांड गार्जियनशिप इंडेक्स में मुकेश अंबानी देश में नंबर-1, दुनिया में दूसरे स्थान पर

अर्थ जगत: कारोबार के आखिरी घंटे में निफ्टी में भारी गिरावट और तीसरी तिमाही में एयरटेल का शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़ा

ब्रांड फाइनेंस द्वारा जारी ब्रांड गार्जियनशिप इंडेक्स 2024 में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी को सभी भारतीयों में पहला और विश्व स्तर पर दूसरा स्थान दिया गया। ब्रांड गार्जियनशिप इंडेक्स दुनिया भर के सीईओ का आँकलन इस आधार पर करता है कि वे सभी हितधारकों - कर्मचारियों, निवेशकों और व्यापक समाज - की जरूरतों को संतुलित करके स्थायी तरीके से व्यावसायिक मूल्य का किस हद तक निर्माण कर रहे हैं।

मुकेश अंबानी को 2023 की रैंकिंग में भी दुनिया में दूसरे स्थान पर रखा गया था। इस वर्ष अंबानी को 'विविधीकृत' समूहों के बीच ब्रांड गार्जियनशिप इंडेक्स 2024 में पहला स्थान दिया गया है।

अंबानी को माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला, गूगल के सुंदर पिचाई, एप्पल के टिम कुक और टेस्ला के एलोन मस्क जैसे वैश्विक दिग्गजों और टाटा समूह के एन.चंद्रशेखरन, महिंद्रा समूह के अनीश शाह जैसे कई अन्य भारतीयों से ऊपर स्थान दिया गया है।

ब्रांड फाइनेंस के सर्वेक्षण में मुकेश अंबानी को 80.3 का बीजीआई स्कोर दिया गया, जो चीन स्थित टेनसेंट के हुआतेंग मा के 81.6 से थोड़ा कम है।


बोर्ड के सदस्यों को मस्क के नशीली दवाओं के उपयोग के बारे में पता था, दोस्तों ने उन्हें पुनर्वास के लिए जाने को कहा: रिपोर्ट

अर्थ जगत: कारोबार के आखिरी घंटे में निफ्टी में भारी गिरावट और तीसरी तिमाही में एयरटेल का शुद्ध लाभ 54 प्रतिशत बढ़ा

टेस्ला और स्पेसएक्स के कुछ बोर्ड सदस्य एलन मस्क द्वारा "अवैध दवाओं के इस्तेमाल' के बारे में जानते हैं और नियमित रूप से उनके साथ ड्रग्स लेते हैं, 'क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे परहेज करने से अरबपति परेशान हो सकते हैं, जिनके जरिए उन्‍होंने बहुत सारा पैसा बनाया है।'' यह बात मीडिया में कही गई है।

द वॉल स्ट्रीट जर्नल (डब्लूएसजे) की रिपोर्ट के अनुसार, "वे मस्क के करीब होने से मिलने वाली सामाजिक पूंजी को खोने का जोखिम नहीं उठाना चाहते, जो कुछ लोगों के लिए राजा के करीब होने जैसा लगता है।"

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है, "बोर्ड के सदस्यों ने स्टॉक पुरस्कारों और अलग-अलग निवेशों से सैकड़ों करोड़ कमाए हैं। इनमें से कुछ ने मस्क के साथ ड्रग्स भी लिया है।"

डब्ल्यूएसजे के अनुसार, मस्क के मित्र और अन्य करीबी चिंतित हैं कि नशीली दवाओं के उपयोग से उनकी स्थिति खराब हो रही है, और कुछ ने उन्हें पुनर्वसन के लिए जाने के लिए कहा। मस्क ने सोमवार को जवाब दिया कि किसी ने भी उनसे पुनर्वास का जिक्र नहीं किया है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;