अर्थ जगत: व्हर्लपूल इंडिया के शेयरों में बड़ी गिरावट और मजबूत जीडीपी अनुमान से उछला निफ्टी

मूल कंपनी में अपनी हिस्सेदारी 24 फीसदी तक कम करने की घोषणा के बाद शुक्रवार को व्हर्लपूल ऑफ इंडिया के शेयरों में 8 फीसदी से अधिक की गिरावट आई। निफ्टी शुक्रवार को ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुंच गया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मजबूत जीडीपी अनुमान से उछला निफ्टी, अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंचा

फोटो: IANS
फोटो: IANS

सितंबर तिमाही में उम्मीद से ज्यादा तेज आर्थिक वृद्धि और वैश्विक ब्याज दर परिदृश्य को लेकर उम्मीद बढ़ने से निफ्टी शुक्रवार को ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुंच गया। मिड-स्मॉल कैप सेगमेंट में भी भारी बढ़ोतरी हुई। एसएएस ऑनलाइन के संस्थापक और सीईओ श्रेय जैन ने ये बात कही है।

निफ्टी 134.75 अंक या 0.67 प्रतिशत की बढ़त के साथ 20,267.90 पर बंद हुआ, जबकि सेंसेक्स 492.75 अंक या 0.74 प्रतिशत चढ़कर 67,481.19 पर पहुंच गया, जो अपने सर्वकालिक उच्च स्तर 67,927.23 से सिर्फ 446 अंक दूर है। हालांकि शुक्रवार के आंकड़े और अधिक हो सकते थे, लेकिन रविवार को आने वाले चुनाव परिणामों के कारण निवेशकों ने सावधानी बरती।

व्हर्लपूल इंडिया के शेयरों में 8 फीसदी से अधिक की गिरावट

फोटो: IANS
फोटो: IANS

मूल कंपनी में अपनी हिस्सेदारी 24 फीसदी तक कम करने की घोषणा के बाद शुक्रवार को व्हर्लपूल ऑफ इंडिया के शेयरों में 8 फीसदी से अधिक की गिरावट आई। बीएसई पर व्हर्लपूल ऑफ इंडिया का शेयर 8.83 फीसदी गिरकर 1429 रुपये पर है। व्हर्लपूल कॉर्पोरेशन ने गुरुवार को 2024 में व्हर्लपूल ऑफ इंडिया लिमिटेड (व्हर्लपूल इंडिया) में अपने स्वामित्व हित का 24 प्रतिशत तक बेचने की घोषणा की थी।

व्हर्लपूल वर्तमान में पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी के माध्यम से व्हर्लपूल इंडिया में 75 प्रतिशत स्वामित्व हित रखता है, और इस तरह के लेनदेन के पूरा होने के बाद व्हर्लपूल इंडिया में बहुमत हित बनाए रखने का इरादा रखता है। कंपनी को उम्मीद है कि लेन-देन से प्राप्त आय का उपयोग ऋण कम करने के लिए किया जाएगा, जिससे बैलेंस शीट मजबूत होगी।


दो हजार रुपये के 97 प्रत‍िशत से अधिक नोट आ गए वापस : आरबीआई

फोटो: IANS
फोटो: IANS

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शुक्रवार को घोषणा की कि 30 नवंबर, 2023 को कारोबार बंद होने पर प्रचलन में 2,000 रुपये के बैंक नोटों का कुल मूल्य घटकर 9,760 करोड़ रुपये हो गया है। इस प्रकार, 19 मई, 2023 तक प्रचलन में 2,000 रुपये के 97.26 प्रतिशत बैंक नोट वापस आ गए हैं।

जब 2,000 रुपये के नोटों को वापस लेने की घोषणा की गई तो उनकी कुल कीमत 3.56 लाख करोड़ रुपये थी। 2,000 रुपये के बैंक नोटों को जमा करने या बदलने की सुविधा शुरुआत में 30 सितंबर तक देश की सभी बैंक शाखाओं में उपलब्ध थी, जिसे बाद में 7 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया था। 2,000 रुपये के बैंक नोटों को बदलने की सुविधा आरबीआई के 19 निर्गम कार्यालयों में भी उपलब्ध थी।

काउंटरों पर 2,000 रुपये मूल्यवर्ग के बैंक नोटों को बदलने के अलावा, आरबीआई कार्यालय व्यक्तियों/संस्थाओं से उनके बैंक खातों में जमा करने के लिए 2,000 रुपये के बैंक नोट भी स्वीकार कर रहे हैं।

बेंगलुरु टेक समिट : वैज्ञानिक माशेलकर ने कहा, भारत में प्रति डॉलर सबसे अधिक बौद्धिक पूंजी है

फोटो: IANS
फोटो: IANS

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के पूर्व महानिदेशक आर.ए. माशेलकर ने कहा कि भारत के पास प्रति डॉलर सबसे अधिक बौद्धिक पूंजी (हाईएस्ट इंटेलेक्चुअल कैपिटल) है, यही कारण है कि भारतीय नवाचार दुनिया में धूम मचा रहा है।

बेंगलुरु टेक समिट 2023 में एक पूर्ण सत्र को संबोधित करते हुए, प्रमुख लीडर और इनोवेशन विशेषज्ञ ने राष्ट्रीय रासायनिक प्रयोगशाला के एक वर्ष के भीतर अंतर्राष्ट्रीय परामर्श संगठन बनने और हाल ही में भारत के यूपीआई इनोवेशन का उदाहरण दिया, जिसमें 2022 में 74.05 बिलियन से अधिक लेनदेन हुए, जो दुनिया के लेनदेन का 46 प्रतिशत है।

उन्होंने आगे कहा, ''हमारा यूपीआई अब भूटान और सिंगापुर में भी स्वीकार किया जा रहा है, जो हमारे लोगों के ज़मीनी स्तर के दृष्टिकोण को दर्शाता है।'' आर.ए. माशेलकर ने स्टार्ट-अप को सुनिश्चित सफलता के लिए छह सिद्धांतों का पालन करने के बारे में बताया।


पीयूष गोयल ने कॉरपोरेट्स से निवेश बढ़ाने का किया आग्रह

फोटो: IANS
फोटो: IANS

केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कॉरपोरेट्स से भारत में निवेश बढ़ाने का आग्रह किया, क्योंकि बुनियादी ढांचे के बड़े पैमाने पर विकास से देश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ रही है। 'तीसरे भारत ऋण पूंजी बाजार शिखर सम्मेलन 2023 - के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए, गोयल ने कहा: "वित्तपोषण का प्रतिस्पर्धी स्रोत उन लोगों से निवेश आकर्षित कर रहा है जो अधिक सुरक्षा की तलाश में हैं। शेयर बाजार भी पहली बार 4 ट्रिलियन का आंकड़ा छू रहा है और भारत बड़े अवसरों वाले शीर्ष पांच वैश्विक बाजारों में से एक है।

उन्होंने कहा कि भारत की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में सरकारी और निजी क्षेत्र दोनों का भारी निवेश देश की अर्थव्यवस्था को सशक्त बना रहा है और इसे गति दे रहा है। गोयल ने कॉरपोरेट जगत से भारत में निवेश करने का आग्रह किया, क्योंकि देश दुनिया के एक विश्वसनीय भागीदार और एक जीवंत लोकतंत्र के रूप में बहुत उज्ज्वल भविष्य के शिखर पर खड़ा है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;