लगातार छठी बार रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं, 6.5% पर ही बनी रहेगी ब्याज दर

केंद्रीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने एक बार फिर से नीतिगत ब्याज दर रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। लगातार छठी बार रेपो रेट को 6.5% पर रखा है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

आरबीआई ने मुद्रास्फीति को नियंत्रण में रखने और साथ ही अर्थव्यवस्था में विकास को गति देने की अपनी नीति के तहत गुरुवार को रेपो दर को लगातार छठी बार 6.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा। मौद्रिक नीति समिति के छह में से पांच सदस्यों ने दर निर्णय के पक्ष में मतदान किया।

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक बयान में कहा, मौद्रिक नीति सक्रिय रूप से अवस्फीतिकारी बनी रहनी चाहिए। दास ने कहा कि घरेलू आर्थिक गतिविधि मजबूत बनी हुई है और विकास की गति अगले वित्तीय वर्ष में भी जारी रहने की उम्मीद है। आरबीआई ने 2024-25 के लिए वास्तविक जीडीपी वृद्धि 7 प्रति‍शत आंकी है।


उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले वर्षों में केंद्र और राज्य सरकारों का कर्ज कम होने की उम्मीद है। साथ ही, आरबीआई गवर्नर ने बढ़ते कर्ज पर चिंता व्यक्त की, इससे कई देशों में गंभीर चिंता पैदा हो रही है, जो वैश्विक वित्तीय प्रणाली को प्रभावित

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;