रसोई गैस और विमान ईंधन के दामों में इजाफा, जानिए अब कितनी ढीली होगी आपकी जेब

14.2 किलोग्राम वाले रसोई गैस सिलेंडर के दाम में 5 रुपए का इजाफा किया गया है। बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर अब 706.50 रुपए प्रति सिलेंडर हो गया है। लगातार दूसरे महीने एलपीजी सिलेंडर की दरों में वृद्धि की गई है। इससे पहले एक मार्च को इसमें 42.5 रुपये प्रति सिलेंडर की वृद्धि की गयी थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

मोदी सरकार ने नए वित्त वर्ष के पहले ही दिन आम आदमी को दो बड़े झटके दिए हैं। आज से रसोई गैस सिलेंडर और हवाई ईंधन की कीमतों में इजाफा कर दिया गया है। जिसके बाद आने वाले दिनों में हवाई किरायों में बढ़ोत्तरी की संभावना है।

14.2 किलोग्राम वाले रसोई गैस सिलेंडर के दाम में 5 रुपए का इजाफा किया गया है। बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर अब 706.50 रुपए प्रति सिलेंडर हो गया है। लगातार दूसरे महीने एलपीजी सिलेंडर की दरों में वृद्धि की गई है। इससे पहले एक मार्च को इसमें 42.5 रुपये प्रति सिलेंडर की वृद्धि की गयी थी। हालांकि सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमतों में कोई इजाफा नहीं किया गया है। बता दें कि उपभोक्ताओं को सलाना 12 सब्सिडी वाले सिलेंडर मिलते हैं। 12 से अधिक सिलेंडर लेने पर सब्सिडी नहीं दी जाती है। फिलहाल सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर का दाम 495.86 रुपये प्रति सिलेंडर

केरोसिन की कीमतों में भी बढोतरी की गई है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दूकानों पर मिलने वाली केरोसिन तेल की कीमतों में 30 पैसे की वृद्धि की गई है। इसकी कीमत अब 32.54 रुपए प्रति लीटर हो गया है।

हवाई यात्रियों के लिए भी नए वित्त वर्ष की शुरुआत अच्छी नहीं रही। विमान ईंधन के भाव में 677.1 रुपए प्रति किलोलीटर की वृद्धि की गई है। वैश्विक स्तर पर कीमतों में वृद्धि के बाद लगातार दूसरे महीने विमान ईंधन महंगा हुआ है। विमान ईंधन अब 63,472.22 रुपये प्रति किलोलीटर हो गए है। एटीएफ की कीमतों में बढ़ोतरी से न सिर्फ हवाई यात्रियों की जेब ढीली होगी। बल्कि इसकी मार नकदी संकट झेल रही विमानन कंपनियों पर भी पड़ेगी।

लोकप्रिय