अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: इस महीने से बंद हो सकते हैं ये पुराने नोट! और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में फिर लगी 'आग'

भारतीय रिजर्व बैंक 100, 10 और 5 रुपए के पुरानी सीरिज के नोट को बंद करने की योजना बना रहा है और पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को फिर लगातार दूसरे दिन वृद्धि दर्ज की गई। पेट्रोल का भाव देश में फिर एक नई उंचाई पर चला गया है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

मार्च से बंद हो सकते हैं 100, 10 और 5 रुपए के पुराने नोट!

भारतीय रिजर्व बैंक 100, 10 और 5 रुपए के पुरानी सीरिज के नोट को बंद करने की योजना बना रहा है। RBI के असिस्टेंट जनरल मैनेजर बी. महेश ने यह बात कही है। मेंगलुरु में डिस्ट्रिक्ट लेवल सिक्युरिटी कमेटी और डिस्ट्रिक्ट लेवल करेंसी मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में AGM ने कहा कि RBI मार्च-अप्रैल से धीरे-धीरे इन नोटों को सर्कुलेशन से हटाने की योजना बना रहा है। कार्यक्रम में बोलते हुए बी. महेश ने कहा कि 15 साल बाद भी कारोबारी और आम जनता 10 रुपए के सिक्के को स्वीकार नहीं कर रहे हैं। इस कारण 10 रुपए के यह सिक्के बैंकों और RBI के लिए समस्या बन गए हैं। 2019 में RBI ने लैवेंडर (हल्का बैंगनी) कलर में 100 रुपए का नया नोट जारी किया था। इस नोट के पीछे 'रानी की वाव' का चित्र है। यह एक बावड़ी है जो गुजरात के पाटन में सरस्वती नदी के किनारे स्थित है। नए नोट को जारी करते समय RBI ने कहा था कि सभी प्रकार के 100 रुपए के नोट प्रचलन में रहेंगे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

पेट्रोल, डीजल के दाम दूसरे दिन भी बढ़े

पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को फिर लगातार दूसरे दिन वृद्धि दर्ज की गई। पेट्रोल का भाव देश में फिर एक नई उंचाई पर चला गया है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में हाल के दिनों में आई तेजी से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि हो रही है। हालांकि बीते सत्र में कच्चे तेल के दाम में गिरावट दर्ज की गई। तेल विपणन कंपनियों ने शनिवार को पेट्रोल के दाम में दिल्ली में 25 पैसे, कोलकाता और मुंबई में 24 पैसे, जबकि चेन्नई में 22 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि दर्ज की गई। वहीं, डीजल के दाम में दिल्ली और कोलकाता में 25 पैसे, मुंबई में 26 पैसे और चेन्नई में 24 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हो गई है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल की कीमतें बढ़कर क्रमश: 85.70 रुपये, 87.11 रुपये, 92.28 रुपये और 88.29 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं। डीजल की कीमतें भी बढ़कर दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 75.88 रुपये, 79.48 रुपये, 82.66 रुपये और 81.14 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं। अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का मार्च डिलीवरी अनुबंध शुक्रवार को बीते सत्र से 1.80 फीसदी की गिरावट के साथ 55.09 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

विदेशी निवेशकों ने भारतीय शेयर बाजार में इतने लाख करोड़ का किया निवेश

विदेशी संस्थागत निवेशकों ने जनवरी 2020 से जनवरी 2021 के अभी तक के शेयर बाजार के कारोबार में 1.90 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया है। इस साल जनवरी में अभी तक कुल शुद्ध निवेश 24,469 करोड़ रुपए रहा है। यह लगातार चौथा महीना है, जब FII पॉजिटिव निवेश कर रहे हैं। आंकड़े बताते हैं कि भारतीय शेयर बाजार की तेजी में इन निवेशकों का बहुत बड़ा योगदान है। हालांकि ये निवेशक भारतीय अर्थव्यवस्था और आगे के सुधार को लेकर काफी उम्मीद रखे हैं। बड़े बाजारों में उनको सबसे ज्यादा रिटर्न भारतीय बाजार में मिला है। 21 जनवरी को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 50 हजार को टच किया। यह इसका ऐतिहासिक रिकॉर्ड है। हालांकि यह इस लेवल पर टिक नहीं पाया।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images

बीते 1 साल में 3 गुना बढ़े कच्चे लोहे के दाम

आयरन ओर और स्टील के दामों में बेतहाशा बढ़ोतरी के बाद जहां बड़ी स्टील कंपनियां मुनाफा काट रही हैं वहीं छोटी कंपनियां बंद होने की कगार पर पहुंच गई हैं। इसके चलते एंगल, टीएमटी, स्टील चादर, ऑटो पार्ट्स, नट-बोल्ट व कील जैसे सामानों की किल्लत होने की आशंका है। उद्योग के जानकारों के मुताबिक, छोटे स्टील प्लांट्स 60-70 प्रतिशत क्षमता पर काम कर रहे हैं। यदि आयरन ओर की कीमतों पर लगाम नहीं लगा तो उत्पादन क्षमता 40 फीसदी से नीचे आ सकती है।छत्तीसगढ़ और झारखंड में सबसे अधिक मिनी स्टील प्लांट्स हैं।

 3 गुना बढ़े कच्चे लोहे के दाम
3 गुना बढ़े कच्चे लोहे के दाम

मुनाफावसूली के दबाव में साप्ताहिक स्तर पर कमजोरी के साथ बंद हुआ शेयर बाजार

घरेलू शेयर बाजार ने इस सप्ताह इंतिहास जरूर रचा, लेकिन आखिर में मुनाफावसूली हावी होने से प्रमुख संवेदी सूचकांकों में साप्ताहिक स्तर पर मामूली कमजोरी रही। अमेरिका में नये राष्ट्रपति जो बाइडेन के सत्ता संभालने से पहले कोरोना प्रोत्साहन पैकेज की उम्मीदों से भारतीय शेयर बाजार में काफी उत्साह का माहौल बना रहा और सेंसेक्स पहली बार 50,000 के पार चला गया और निफ्टी ने भी नया रिकॉर्ड बनाया। मगर, सप्ताह के आखिरी दो सत्रों में आई गिरावट के चलते सेंसेक्स और निफ्टी साप्ताहिक स्तर पर कमजोरी के साथ बंद हुए। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स इस सप्ताह के आखिरी सत्र में शुक्रवार को पिछले सप्ताह से 156.13 अंकों यानी 0.32 फीसदी की गिरावट के साथ 48,878.54 पर बंद हुआ।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next