RBI के प्रतिबंध के बाद Paytm के शेयरों में 20 फीसदी की गिरावट, लोअर सर्किट लगा

पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) पेटीएम की एक सहयोगी कंपनी है और इसके 100 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं। इसके पास 300 मिलियन वॉलेट उपयोगकर्ता, 30 मिलियन बैंक खाताधारक और मूल्य के हिसाब से फास्ट टैग में 17 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने पेटीएम पर बड़ी कार्रवाई करते हुए उसके कई सेवाओं पर रोक लगा दी है। आरबीआई ने बुधवार को पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) की ओर से 29 फरवरी, 2024 के बाद किसी भी ग्राहक खाते, प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट्स, वॉलेट और फास्टैग में जमा या टॉप-अप स्वीकार करने पर रोक लगा दी है। इस कार्रवाई के बाद गुरुवार को पेटीएम के शेयर धड़ाम हो गए। आज पेटीएम के शेयरों में 20 फीसदी की गिरावट आई। बीएसई पर पेटीएम 20 फीसदी नीचे 608.80 रुपए पर कारोबार कर रहा है।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज ने एक रिपोर्ट में कहा कि बिजनेस आउटलुक अनिश्चित है और स्टॉक को घटाकर न्यूट्रल कर दिया गया है।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) पेटीएम की एक सहयोगी कंपनी है और इसके 100 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं। इसके पास 300 मिलियन वॉलेट उपयोगकर्ता, 30 मिलियन बैंक खाताधारक और मूल्य के हिसाब से फास्ट टैग में 17 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी है।


इससे पहले, आरबीआई ने 11 मार्च की अपनी पिछली प्रेस विज्ञप्ति में पीपीबीएल को नए ग्राहकों को शामिल करना बंद करने का निर्देश दिया था। लगातार गैर-अनुपालन चिंताओं का हवाला देते हुए नियामक ने सख्त रुख अपनाया है।

आरबीआई ने 31 जनवरी, 2024 को कड़े कदम उठाते हुए पीपीबीएल के लिए व्यावसायिक गतिविधियों का दायरा काफी सीमित कर दिया।

पेटीएम ने हाल ही में अपने बीएनपीएल परिचालन को छोटा करने की योजना की घोषणा की है और व्यक्तिगत और व्यापारिक ऋणों को बढ़ाकर प्रभाव को कम करने के लिए काम कर रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस पृष्ठभूमि में, नवीनतम उपाय इसके बिजनेस आउटलुक पर गंभीर चिंताएं पैदा करते हैं और समग्र निवेशकों के विश्वास को नुकसान पहुंचाते हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;