कोरोना महामारी के बीच RBI गवर्नर ने कहा- दूसरी लहर ने एक बार फिर अर्थव्यवस्था के लिए संकट पैदा किया

कोरोना महामारी के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास आज प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर के बाद इकनॉमी बेहतर होने लगी थी लेकिन दूसरी लहर ने एक बार फिर संकट पैदा कर दिया है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना महामारी के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास आज प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। उन्होंने कहा कि भारतीय रिज़र्व बैंक वर्तमान कोरोना के स्थिति की निगरानी करना जारी रखेगा। विशेष रूप से नागरिकों, व्यापारिक संस्थाओं और दूसरी लहर से प्रभावित संस्थानों के लिए अपने नियंत्रण के सभी संसाधनों और उपकरणों को तैनात करेगा उनका कहना है कि कोरोना की पहली लहर के बाद इकनॉमी बेहतर होने लगी थी लेकिन दूसरी लहर ने एक बार फिर संकट पैदा कर दिया है।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार वैक्सीनेशन में तेजी ला रही है। उन्होने आगे कहा कि ग्लोबल इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत है। भारत की बात करें तो भारतीय इकोनॉमी भी दबाव से उबरती दिख रही है। आगे अच्छे मॉनसून से ग्रामीण मांग में तेजी संभव है। मैन्यफैक्चरिंग इकाइयों में भी धीमापन थमता नजर आ रहा है।

इस दौरान आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कोविड रिलेटेड हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर और सर्विसेस के लिए 50 हजार करोड़ की लिक्विडिटी का ऐलान किया है। बैंकों की तरफ से इस लिक्विडिटी का इस्‍तेमाल अस्‍पताल, ऑक्‍सीजन सप्‍लायर्स, वैक्‍सीन इम्‍पोर्टर, कोरोना दवा के लिए प्रॉयरिटी लेंडिंग के लिए किया जाएगा।

उन्होंने आगे कहा कि स्मॉल, मीडियम लेवल के बिजनेस के लिए 25 करोड़ रुपये तक की लोन रिस्ट्रक्चरिंग की सुविधा दी गई है। यह सुविधा उनके लिए है जिन्होंने पिछली बार नहीं ली थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 05 May 2021, 12:03 PM