दुनिया में आर्थिक संकट की आहट के बीच बड़ी-बड़ी कंपनियों में छंटनी का दौर जारी, अब SAP में होगी छंटनी

एसएपी ने कहा कि नौकरियों में कटौती उसके लगभग 112,000 कर्मचारियों की संख्या का लगभग 2.5 प्रतिशत होगी। दुनिया में आर्थिक संकट की आहट के बीच बड़ी-बड़ी कंपनियों में छंटनी का दौर जारी है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

दुनिया में आर्थिक संकट की आहट के बीच बड़ी-बड़ी कंपनियों में छंटनी का दौर जारी है। अब यूरोपीय सॉफ्टवेयर दिग्गज एसएपी टेक कंपनियों में कर्मचारियों की छंटनी में शामिल हो गई और गुरुवार को घोषणा की कि वह लगभग 2,900 नौकरियों में कटौती कर रही है, जब प्रतिष्ठित अमेरिकी टेक कंपनी आईबीएम ने कहा कि वह लगभग 3,900 नौकरियों में कटौती कर रही है। ये संख्या पिछले साल 150,000 नौकरियों में कटौती और उस संख्या का लगभग 30 प्रतिशत है जो कंप्यूटरवल्र्ड द्वारा बुधवार को रिपोर्ट की गई थी।

एसएपी ने कहा कि नौकरियों में कटौती उसके लगभग 112,000 कर्मचारियों की संख्या का लगभग 2.5 प्रतिशत होगी।

जर्मनी मुख्यालय वाली कंपनी ने यह भी कहा कि वह अमेरिकी सॉफ्टवेयर कंपनी क्वाल्ट्रिक्स के अपने 71 प्रतिशत स्वामित्व को छोड़ना चाहती है।


एसएपी के सीईओ क्रिश्चियन क्लेन ने एक स्ट्रीम किए गए वीडियो में छंटनी को 'बहुत लक्षित पुनर्गठन' कहा, जो उन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करेगा, जहां हम अपने त्वरित विकास को जारी रखने के लिए सबसे मजबूत हैं।

आईबीएम ने बुधवार को घोषित छंटनी को अपनी तकनीकी सेवा इकाई और अपनी स्वास्थ्य सेवा इकाई की बिक्री से जोड़ा, यह कहते हुए कि यह राजस्व से जुड़ा नहीं था। आईबीएम ने कहा कि उसका तिमाही राजस्व 6 प्रतिशत बढ़कर 16.7 अरब डॉलर हो गया।

आईबीएम के अध्यक्ष और सीईओ अरविंद कृष्ण ने एक सकारात्मक तस्वीर पेश करते हुए कहा : "2023 को देखते हुए हम अपने मध्य-एकल अंक मॉडल के अनुरूप पूरे साल के राजस्व में वृद्धि की उम्मीद करते हैं।"

उन्होंने कहा, "सभी भौगोलिक क्षेत्रों में ग्राहकों ने तेजी से हमारे हाइब्रिड क्लाउड और एआई समाधानों को अपनाया है, क्योंकि प्रौद्योगिकी आज के कारोबारी माहौल में एक अलग शक्ति बनी हुई है।"

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */