अर्थजगत की 5 बड़ी खबरें: धनतेरस से पहले शेयर बाजार में हुई धन की बारिश, लौटी रौनक और सोने के दाम में फिर आई गिरावट

नवंबर महीने के पहले दिन और धनतेरस से एक दिन पहले आज शेयर बाजार निवेशकों ने खुल कर खरीदारी की और सोने की कीमत में आज फिर गिरावट दर्ज की गई है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

शेयर बाजार में लौटी रौनक, सेंसेक्स 60 हजार के पार, निफ्टी में भी तेजी

नवंबर महीने के पहले दिन और धनतेरस से एक दिन पहले आज शेयर बाजार निवेशकों ने खुल कर खरीदारी की। जिसके कारण भारतीय शेयर बाजार के दोनों प्रमुख सूचकांकों ने महीने और सप्ताह के पहले दिन की ओपनिंग, दिन भर का कारोबार और शाम की क्लोज़िंग शानदार स्तर पर की। आज के दिन में शेयर बाजार के दोनों सूचकांक एक बार भी नकारात्मक स्तर पर नहीं गए। 1 नवंबर को बीएसई (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) के 30 शीर्ष कंपनियों के सूचकांक सेंसेक्स ने 831.53 अंकों की बढ़त के साथ 60,138.46 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) के निफ्टी ने 258.00 अंकों की बढ़त के साथ 17,929.65 के स्तर पर बंद हुई। आज के दिन सेंसेक्स 1.40 प्रतिशत गेन किया। वहीं, निफ्टी ने आज दिन भर के कारोबार में 1.46 प्रतिशत का लाभ कमाया।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images

सोने के दाम में आज फिर गिरावट, जानें क्या है नए रेट

सोने की कीमत में आज फिर गिरावट दर्ज की गई है। वैश्विक बाजारों में कमजोरी के रुख के बीच राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार में सोमवार को सोना 10 रुपये की मामूली गिरावट के साथ 46,673 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी। इससे पिछले कारोबारी सत्र में सोना 46,683 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी की कीमत भी 230 रुपये की गिरावट के साथ 63,014 रुपये प्रति किलोग्राम रह गयी। पिछले कारोबारी सत्र में यह 63,244 रुपये प्रति किलो बंद हुई थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी क्रमश: 1,783 डॉलर प्रति औंस और 23.75 डॉलर प्रति औंस पर लगभग अपरिवर्तित रहे। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ‘‘अमेरिका के जिंस एक्सचेंज, कॉमेक्स में सोने की हाजिर कीमत सोमवार को 1,783 डॉलर प्रति औंस पर अपरिवर्तित रहने से सोने की कीमतों में स्थिरता रही।’’

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

एयरटेल ने की उद्यमों के लिए नई 5जी पहल की शुरुआत

भारती एयरटेल ने उच्च गति और कम-विलंबता नेटवर्क का उपयोग करके उद्यम ग्रेड उपयोग के मामलों की एक विस्तृत श्रृंखला को प्रदर्शित करने के लिए एक नई हैशटैग 5जीफॉरबिजनेस पहल शुरू की है। कंपनी ने सोमवार को इस नई पहल की घोषणा की है। एयरटेल एक्सेंचर, एडब्ल्यूएस, सीआईएससीओ, एरिक्सन, गूगल क्लाउड, नोकिया, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) जैसी प्रौद्योगिकी कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रहा है ताकि अपोलो हॉस्पिटल्स, फ्लिपकार्ट और कई प्रमुख निर्माण कंपनियों जैसे उद्योग के प्रमुख ब्रांडों के साथ 5जी-आधारित परीक्षण किया जा सके। भारती एयरटेल के सीटीओ रणदीप सिंह सेखों ने कहा, "5जी पारिस्थितिकी तंत्र उद्यमों के लिए उत्पादकता बढ़ाने और डिजिटल रूप से सक्षम अनुप्रयोगों के साथ अपने ग्राहकों को और भी बेहतर सेवा देने के लिए असीमित संभावनाएं खोलेगा।" कंपनी ने कहा कि इन समाधानों को एयरटेल को आवंटित 5जी टेस्ट स्पेक्ट्रम पर तैनात किया जाएगा और इसमें स्मार्ट फैक्ट्री, स्मार्ट हेल्थकेयर, 5जी पावर्ड क्वालिटी इंस्पेक्शन, डिजिटल ट्विन, कनेक्टेड फ्रंटलाइन वर्कफोर्स और एआर/वीआर आधारित यूज केस जैसे उपयोग के मामले शामिल होंगे। उपयोग के मामलों का प्रदर्शन एंड-यूजर लोकेशन और एयरटेल के गुड़गांव के मानेसर स्थित नेटवर्क एक्सपीरियंस सेंटर में उन्नत 5जी लैब में आयोजित किया जाएगा। इस साल की शुरुआत में एयरटेल ने लाइव 4जी नेटवर्क पर भारत के पहले 5जी अनुभव का प्रदर्शन किया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

एप्पल ने वैश्विक स्मार्टफोन बाजार में हासिल किया दूसरा स्थान

एप्पल ने आईफोन 13 के लॉन्च के साथ दूसरा स्थान हासिल किया है, कंपनी ने इस साल तीसरी तिमाही में 49.2 मिलियन स्मार्टफोन की शिपिंग और 14 फीसदी की वृद्धि दर्ज की है। मार्केट रिसर्च फर्म कैनालिस की रिपोर्ट के मुताबिक, शाओमी 44 मिलियन यूनिट्स और 14 फीसदी शेयर के साथ तीसरे स्थान पर आ गया है। शोध विश्लेषक ले जुआन चीव ने कहा, "आईफोन 13 की मजबूत शुरूआत के साथ प्री-ऑर्डर उच्च थे और पिछले साल के विपरीत, एप्पल बिक्री बढ़ाने के लिए अपने खुदरा स्टोरों की पूरी ताकत का इस्तेमाल कर रहा है।" पुराने आईफोन यूजर्स के लिए डिवाइस बेहतर कैमरा, बैटरी लाइफ और 5जी के साथ एक बेहतर अपग्रेड साबित हुआ है। सैमसंग एक बार फिर अग्रणी विक्रेता है, जिसने तीसरी तिमाही में 21 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 69.4 मिलियन यूनिट की शिपिंग की है। ओप्पो और वीवो ने क्रमश: 36.7 मिलियन और 34.2 मिलियन यूनिट की शिपिंग करते हुए चौथा और पांचवां स्थान हासिल किया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

यूपीआई लेन-देन अक्टूबर में पहली बार 100 बिलियन डॉलर के पार

भारत में पहली बार अक्टूबर में एकीकृत भुगतान इंटरफेस (यूपीआई) के माध्यम से 7.7 लाख करोड़ रुपये (मूल्य के हिसाब से 100 अरब डॉलर से अधिक) का डिजिटल लेनदेन हुआ। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) द्वारा सोमवार को जारी लेटेस्ट आंकड़ों के अनुसार यह जानकारी दी गई। अक्टूबर के महीने में, जिसने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर रिकॉर्ड उत्सव की खरीदारी देखी, डिजिटल भुगतान में कुल 4.2 बिलियन यूपीआई लेनदेन देखे गए। सितंबर में, एनपीसीआई ने 3.65 अरब यूपीआई लेनदेन के माध्यम से 6.54 लाख करोड़ रुपये का डिजिटल भुगतान दर्ज किया। वर्तमान में, फोनपे, गूगल पे और पेयटीएम डिजिटल भुगतान के क्षेत्र में अग्रणी हैं। फोनपे ने सितंबर में 3.06 लाख करोड़ रुपये और गूगल पे ने 2.5 लाख करोड़ रुपये के डिजिटल लेनदेन रजिस्टर्ड किए। फोनपे के वर्तमान में 325 मिलियन से अधिक रजिस्टर्ड यूजर्स हैं। प्लेटफॉर्म को पूरे भारत में 22 मिलियन से अधिक मर्चेंट आउटलेट्स पर भी स्वीकार किया जाता है।

सितंबर में फोनपे पल्स के एक अध्ययन से पता चला है कि 19,000 पिन कोड वाले 30 करोड़ से अधिक भारतीय अब डिजिटल भुगतान का उपयोग करते हैं। हर पांच फोनपे मासिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं में से चार टियर 2 और 3 शहरों से हैं, और प्रत्येक तीन में से दो उपयोगकर्ता टियर-3 शहरों से हैं। फोनपे ऐप पर पहली बार होने वाले 63 प्रतिशत से अधिक लेन-देन पैसे ट्रांसफर करने के लिए होते हैं, यह पुष्टि करते हुए कि यह श्रेणी ग्राहकों के लिए यूपीआई ऐप डाउनलोड करने के लिए शुरूआती हुक के रूप में कार्य करती है। फोनपे ने इस श्रेणी के लिए लेनदेन में 182 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की और 2020 की दूसरी तिमाही में और 2021 की दूसरी तिमाही के बीच ग्राहकों में 72 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia