अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: सिग्नल को मिला WhatsApp पॉलिसी का फायदा, नीरव मोदी के प्रत्यर्पण केस में इस दिन होगा फैसला!

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी की वजह से लोगों ने अब नए मैसेजिंग ऐप्स को इन्स्टॉल करना शुरू कर दिया है। सिग्नल ऐप इसका फायदा मिल रहा है और नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटिश कोर्ट 25 फरवरी को फैसला सुना सकता है।

फोटो: @signalapp
फोटो: @signalapp
user

नवजीवन डेस्क

सिग्नल ऐप को मिल रहा है वॉट्सऐप की पॉलिसी का फायदा!

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी की वजह से लोगों ने अब नए मैसेजिंग ऐप्स को इन्स्टॉल करना शुरू कर दिया है। इसका सबसे ज्यादा फायदा टेलीग्राम और सिग्नल ऐप को मिल रहा है। सोशल मीडिया पर भी इन ऐप्स की चर्चा होने लगी है। आपको बता दें, हाल ही में मैसेजिंग ऐप्स द्वारा यूजर की इंफॉर्मेशन और डेटा कलेक्ट करने की रिपोर्ट आई थी। इसमें टेलीग्राम और सिग्नल ऐसे ऐप्स हैं जो यूजर का सबसे कम डेटा कलेक्ट कर रहे हैं। सिग्नल मैसेजिंग ऐप्स के पास यूजर का सिर्फ मोबाइल नंबर ही होता है। बीते 2 दिन से सिग्नल ऐप सोशल मीडिया में छाया हुआ है। यही वजह है कि ये लोगों की पहली पसंद बन रहा है। लाखों यूजर्स इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर चुके हैं। सिग्नल ने इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर भी शेयर की है। कंपनी ने बताया कि पिछले दो दिन से हमारे ऐप्स की डाउनलोडिंग बढ़ गई है। इसकी वजह से वेरीफिकेशन कोड आने में देरी हो रही है। कंपनी ने अपने मैसेज प्लेटफार्म से जुड़ने के लिए गाइडलाइन भी जारी की है।

पेट्रोल, डीजल के दाम दूसरे दिन स्थिर

पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को लगातार दूसरे दिन स्थिरता बनी रही, लेकिन दाम में आगे बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है क्योंकि इस सप्ताह के आखिरी चार दिनों में बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के भाव 10 फीसदी से ज्यादा की तेजी दर्ज की गई है। बेंट्र क्रूड का भाव 56 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर चला गया है जोकि फरवरी 2020 के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है। इधर, देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का भाव रिकॉर्ड उंचे स्तर पर बना हुआ है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल की कीमतें क्रमश: 84.20 रुपये, 85.68 रुपये, 90.83 रुपये और 86.96 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर बनी हुई हैं। इससे पहले चार अक्टूबर 2018 को चारों महानगरों में पेट्रोल का भाव रिकॉर्ड ऊंचे स्तर क्रमश: 84 रुपये, 85.80 रुपये, 91.34 रुपये और 87.33 रुपये प्रति लीटर तक चला गया था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण मामले में इस दिन ब्रिटेन की अदालत सुना सकती है फैसला

वांटेड भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटिश कोर्ट 25 फरवरी को फैसला सुना सकता है। नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई पूरी हो चुकी है। नीरव मोदी के भारत को प्रत्यर्पण मामले में ब्रिटेन की अदालत में अंतिम सुनवाई में बताया गया कि नीरव मोदी पोंजी जैसी एक योजना के लिए जिम्मेदार है, जिसके कारण पंजाब नेशनल बैंक में एक बड़ी धोखाधड़ी हुई। दो दिवसीय सुनवाई का शुक्रवार को दूसरा दिन था। भारत सरकार की ओर से इस मामले की पैरवी अदालत में ब्रिटेन की क्राउन अभियोजन सेवा (क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस) कर रही है। नीरव मोदी ने दक्षिण- पश्चिम लंदन स्थित वैंड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिए इस सुनवाई में भाग लिया।

अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: सिग्नल को मिला WhatsApp पॉलिसी का फायदा, नीरव मोदी के प्रत्यर्पण केस में इस दिन होगा फैसला!

गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत डिजिटल मोड का उपयोग करने वाले निवेशकों को मिलेगी छूट

सरकार अपनी गोल्ड बॉन्ड योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने और डिजिटल मोड के माध्यम से भुगतान करने वाले निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट देगी। वित्त मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, सब्सक्रिप्शन के लिए डिजिट मोड का उपयोग करने वाले निवेशकों के लिए, सोने के बॉन्ड की कीमत 5,054 रुपये प्रति ग्राम होगी। अन्यथा, सदस्यता अवधि के दौरान बॉन्ड का निर्गम मूल्य 5,104 रुपये प्रति ग्राम होगा।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

गूगल ने प्ले स्टोर से हटाया कंजर्वेटिव्स का पार्लर ऐप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की सामूहिक लड़ाई में गूगल ने अपने प्ले स्टोर से कंजर्वेटिव्स और चरमपंथियों के सोशल मीडिया ऐप पार्लर को हटा दिया है। ऐक्सियोस की रिपोर्ट के अनुसार, टेक दिग्गज ने पाया कि पार्लर ने अमेरिका में 'हिंसा को भड़काने' की मांग करने वाली पोस्ट को हटाने के लिए कड़ी कार्रवाई नहीं की थी।

गूगल ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, "हम पार्लर ऐप में लगातार हो रही पोस्ट्स के बारे में जानते हैं जो अमेरिका में चल रही हिंसा को भड़काना चाहती हैं। सार्वजनिक सुरक्षा को खतरे में देखते हुए हम तत्काल प्ले स्टोर से ऐप की लिस्टिंग को रद्द कर रहे हैं जब तक कि वह इन मुद्दों पर काम नहीं करता है।"

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next