अर्थजगत की 5 बड़ी खबरें: शेयर बाजार में कोहराम, 52 हफ्ते के निचले स्तर पर निफ्टी और उड़ान भरने को तैयार आकाश एयर!

भारतीय शेयर बाजार गुरुवार को भारी गिरावट के चलते निवेशकों को 5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है, सेंसेक्स-निफ्टी 52 हफ्ते के निचले स्तर पर बंद हुआ है और विमानन कंपनी आकाश एयर को अपना बहुप्रतीक्षित पहला बोइंग 737 मैक्स विमान मिल गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

शेयर बाजार में हाहाकार, 52 हफ्ते के निचले स्तर पर आया निफ्टी

अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व द्वारा बुधवार को प्रमुख ब्याज दरों में 0.75 फीसदी की भारी वृद्धि करने का असर गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार में दिखाई दिया। भारतीय शेयर बाजार गुरुवार को भारी गिरावट के चलते निवेशकों को 5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। सेंसेक्स-निफ्टी 52 हफ्ते के निचले स्तर पर बंद हुआ है। सेंसेक्स और निफ्टी में लगातार 5वें दिन बिकवाली देखने को मिली है. कारोबार के अंत में सेंसेक्स 1045.60 अंक यानी 1.99 फीसदी की गिरावट के साथ 51,495.79 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं निफ्टी 331.55 अंक यानी 2.11 फीसदी टूटकर 15360.60 के स्तर पर बंद हुआ। बुधवार को बाजार बंद होने पर बीएसई में लिस्टेड शेयरों का मार्केट कैप 244.65 लाख करोड़ रुपये था जो गुरुवार को बाजार में भारी बिकवाली के चलते घटकर 239.20 लाख करोड़ रुपये पर आ गया। इस तरह एक दिन पहले से तुलना में निवेशकों को करीब 5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। शेयर बाजार में मचे कोहराम की बड़ी वजह यूएस फेड रिजर्व के फैसले हैं. दरअसल, आसमान पर पहुंची महंगाई को जमीन पर लाने के लिए अमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने बुधवार देर रात ब्‍याज दरों में 0.75 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी। यह 28 साल में सबसे ज्‍यादा है. फेड रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पॉवेल ने आगे भी ऐसी ही बढ़ोतरी करने का संकेत दिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS

टेस्ला ने एक बार फिर बढ़ाई अपनी इलेक्ट्रिक कार की कीमतें

एलन मस्क के स्वामित्व वाली टेस्ला ने एक बार फिर अपनी इलेक्ट्रिक कारों की कीमतों में अपने पूरे लाइनअप में कुछ मॉडलों की कीमतों में 6,000 डॉलर तक की बढ़ोतरी की है। ऑटो-टेक वेबसाइट इलेक्ट्रेक के अनुसार, 2021 में लगभग हर महीने कीमतों में बढ़ोतरी के एक साल बाद, टेस्ला ने 2022 की शुरुआत में अपने इलेक्ट्रिक वाहनों में कीमतों में तेजी से वृद्धि को धीमा कर दिया था। हालाँकि, अब इलेक्ट्रिक वाहन कंपनी ने अपने पूरे लाइनअप में कीमतों में फिर से वृद्धि करने के लिए अपने ऑनलाइन कन्फीगुरेटर को रातों-रात अपडेट कर दिया है।

मॉडल 3 वह है जिसे सभी टेस्ला लाइनअप की सबसे छोटी कीमत में वृद्धि मिली है। रिपोर्ट में कहा गया है कि केवल मॉडल 3 लॉन्ग रेंज प्रभावित हुई है क्योंकि यह 54,490 डॉलर से 57,990 डॉलर तक चला गया। 2,500 डॉलर की कीमत में वृद्धि हुई। टेस्ला का सबसे लोकप्रिय मॉडल बन बनने वाली मॉडल वाई की कीमत में वृद्धि हुई है क्योंकि इलेक्ट्रिक एसयूवी के दोनों संस्करणों की कीमत बढ़ रही है। मॉडल वाई लॉन्ग रेंज 62,990 डॉलर से 65,990 डॉलर और मॉडल वाई का प्रदर्शन 67,990 डॉलर से 69,990 डॉलर हो गया। टेस्ला मॉडल एस ने भी इसकी कीमत में काफी वृद्धि देखी और यह कुछ महीने पहले 5,000 डॉलर की बड़ी वृद्धि के बाद है। मॉडल एस डुअल मोटर ऑल-व्हील ड्राइव लॉन्ग रेंज मूल्य वृद्धि के साथ 99,990 डॉलर से 104,990 डॉलर तक चला गया। फ्लैगशिप इलेक्ट्रिक सेडान का प्लेड संस्करण समान कीमत 135,990 पर रहता है। मॉडल एक्स डुअल मोटर ऑल-व्हील ड्राइव लॉन्ग रेंज मूल्य वृद्धि के साथ 114,990 डॉलर से 120,990 डॉलर तक चला गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

एक माह में हिंदुस्तान मोटर्स के शेयर 103 प्रतिशत चमके

शेयर बाजार में मचे भारी कोहराम के बावजूद लोकप्रिय एम्बेस्डर कार निर्मित करने वाली वाहन कंपनी हिंदुस्तान मोटर्स के शेयर गत एक माह में 103 प्रतिशत उछले हैं। गत 15 दिनों से हिंदुस्तान मोटर्स अपने निवेशकों के लिए कमाऊ कंपनी बनी हुई है। गुरुवार को अपराह्न 2.23 बजे कंपनी के शेयर 23 रुपये प्रति शेयर पर कारोबार रह रहे थे जबकि एक माह पहले यह 11 रुपये प्रति शेयर पर ट्रेड कर रहा था। समान अवधि में घरेलू शेयर बाजार करीब पांच प्रतिशत टूटे हैं।

गौरतलब है कि हिंदुस्तान मोटर्स की स्थापना आजादी से पहले गुजरात में हुई थी लेकिन 1948 से इसका संचालन पश्चिम बंगाल के हुगली जिले के उत्तरपाड़ा से होने लगा। इसी जगह से कंपनी ने एम्बेस्डर कार का निर्माण शुरू किया था। कंपनी का एक संयंत्र मध्यप्रदेश में इंदौर के पास पीतमपुरा में भी है, जहां 1,800 सीसी सीएनजी और एक टन पेलोड वाले मिनी ट्रक विनर के वैरिएंट का निर्माण होता है। बीएसई के मुताबिक कंपनी का मौजूदा बाजार पूंजीकरण 482 करोड़ रुपये है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

इटली में सापेक्ष गरीबी बढ़ी, जद में आये 29 लाख परिवार : रिपोर्ट

इटली में सापेक्ष या तुलनात्मक गरीबी की जद में आने वाले परिवारों की संख्या साल 2021 में बढ़कर 29 लाख हो गई, जबकि 2020 में ऐसे परिवारों की संख्या 26 लाख थी। चीन की संवाद समिति शिन्हुआ ने इटली के राष्ट्रीय सांख्यिकी संस्थान के आंकड़ो के हवाले से कहा है कि साल 2020 में देश के 10.1 प्रतिशत परिवार तुलनात्मक गरीबी की जद में थे लेकिन 2021 में यह दायरा बढ़कर 11.1 प्रतिशत हो गया। सापेक्ष गरीबी या तुलनात्मक गरीबी का मतलब है, ऐसा परिवार या व्यक्ति, जो किसी इलाके में रहने वाले परिवारों के औसत आय से 50 फीसदी कम पर जीवनयापन करता हो।

सरकारी आंकड़े ये भी बताते हैं कि इटली में साल 2021 में 19 लाख से अधिक परिवार पूर्ण गरीबी में थे। यह आंकड़ा 2020 की तुलना में थोड़ी राहत देने वाला है। वर्ष 2020 में देश के 7.7 प्रतिशत परिवार पूर्ण गरीबी में जीवन जी रहे थे लेकिन 2021 में यह आंकड़ा घटकर 7.5 प्रतिशत हो गया। पूर्ण गरीबी ऐसी अवस्था है, जब व्यक्ति या परिवार स्वस्थ भोजन, आवास, बिजली, शिक्षा और स्वच्छ जल जैसे मूलभूत सुविधाओं से भी वंचित हो।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

आकाश एयर को पहले बोइंग विमान की डिलीवरी हुई

शेयर बाजार के चर्चित निवेशक राकेश झुनझुनवाला द्वारा समर्थित विमानन कंपनी आकाश एयर को अपना बहुप्रतीक्षित पहला बोइंग 737 मैक्स विमान मिल गया है। विमानन कंपनी ने गुरुवार को जारी बयान में कहा कि उसने अमेरिका के सिएटल में अपने पहले बोइंग विमान की डिलीवरी ली है। कंपनी ने कुल 72 बोइंग विमानों का ऑर्डर दिया था। कंपनी को मार्च 2023 तक 18 विमानों की डिलीवरी होनी है। शेष 54 विमानों की डिलीवरी अगले चार साल में होगी। विमानन कंपनी के संस्थापक, प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय दुबे ने कहा कि आकाश एयर की यात्रा में यह एक प्रतीकात्मक मील का पत्थर है। पहले विमान के डिलीवरी के साथ ही एयर ऑपरेटर परमिट हासिल करने की प्रक्रिया में कंपनी एक कदम और बढ़ गई है। कंपनी का कहना है कि बोइंग 737 मैक्स ईंधन की कम खपत करने के साथ ही कम कार्बन उर्त्सजन करता है। यह अधिक दक्ष और भरोसेमंद हैं।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia