अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: शेयर बाजार में कोहराम, करोड़ों डूबे और पूरी दुनिया आर्थिक मंदी के सबसे बुरे दौर में

शेयर बाजार में आज बड़ी उठापटक देखने को मिला है। सेंसेक्स में 900 अंकों की बड़ी गिरावट हुई। इस गिरावट की वजह से निवेशकों के 300000 करोड़ रुपए डूब गए हैं। दूसरी ओर 1930 के बाद पूरी दुनिया अब फिर से आर्थिक मंदी के सबसे बुरे दौर से गुजर रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

विनय कुमार

शेयर बाजार में आज बड़ी उठापटक देखने को मिला है। सेंसेक्स में 900 अंकों की बड़ी गिरावट हुई। इस गिरावट की वजह से निवेशकों के 300000 करोड़ रुपए डूब गए हैं। कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच आज घरेलू शेयर बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई। आज शेयर बाजार में शुरुआत के साथ ही गिरावट देखने को मिली, गुरुवार को सेंसेक्स में 935 अंकों की गिरावट देखने को मिल रही है और यह गिरकर 39860 के करीब ट्रेड कर रहा है, जबकि निफ्टी में 265 अंकों से ज्यादा गिरावट है और यह 11700 के करीब पहुंच गया है।

पूरी दुनिया आर्थिक मंदी के सबसे बुरे दौर में

पूरी दुनिया अब फिर से आर्थिक मंदी के सबसे बुरे दौर से गुजर रही है। साथ ही गरीब और विकास कर रहे देशों के लिए कोरोना सबसे ज्यादा विनाशकारी साबित हो रहा है। यह जानकारी वर्ल्ड बैंक ने दी है। वर्ल्ड बैंक के प्रेसीडेंट डेविड मालपास ने कहा कि आर्थिक मंदी में कई देशों में जोखिम का खतरा बढ़ रहा है। डेविड मालपास ने कहा कि यह मंदी बहुत गहरी है। यह उनके लिए और ज्यादा मुसीबत पैदा कर रही है जो ज्यादा ही गरीब हैं। वर्ल्ड बैंक देशों के विकास के एक बड़े कार्यक्रम पर काम कर रहा है। यह इस फिस्कल वर्ष में होने की उम्मीद है।

पीएफआरडीए के तहत एयूएम 5 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा

पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए ) ने गुरुवार को घोषणा की है कि एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 5 लाख करोड़ रुपये की सीमा को पार कर गया है। नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) और अटल पेंशन योजना (एपीवाई) के तहत ग्राहकों के योगदान ने 12 साल की अवधि में संयुक्त रूप से इस ऐतिहासिक आंकड़े को छूने में मदद की है।

पिछले कुछ वर्षों में एनपीएस ग्राहकों की संख्या में वृद्धि काफी उल्लेखनीय रही है। सरकारी क्षेत्र के 70.40 लाख कर्मचारी और गैर-सरकारी क्षेत्र के 24.24 लाख कर्मचारी इस योजना में शामिल हुए हैं।

रेगुलेटरी बॉडी पीएफआरडीए ग्राहक रजिस्ट्रेशन, एग्जिट प्रोसेस और अन्य सर्विस रिक्वेस्ट को सहज और सब्सक्राइबर फ्रेंडली बनाने के लिए नियमित रूप से प्रयासरत है। यह नियमित रूप से ओटीपी/ई-साइनिंग बेस्ड ऑन बोडिर्ंग, ऑफ लाइन आधार-बेस्ड ऑन बोडिर्ंग, थर्ड पार्टी ऑनबोडिर्ंग के बाद केवाईसी सत्यापन, ई-नामांकन, एनपीएस सब्सक्राइबर्स के लिए ई-एग्जिट जैसे विभिन्न सब्सक्राइबर ऑथेंटिकेशन के नए तरीकों को पेश करता रहा है।

पीएफआरडीए के अध्यक्ष, सुप्रतिम बंद्योपाध्याय ने कहा, एयूएम के अंतर्गत 5 लाख करोड़ रुपये की सीमा को हासिल करना एक बड़ी उपलब्धि है। यह पीएफआरडीए और एनपीएस में ग्राहकों के विश्वास को दशार्ता है। हमने बेहतर प्रणाली और कुशल पेशेवर फंड मैनेजरों के साथ एक मजबूत और खास व्यवस्था पर काम किया है, जो हमारे ग्राहकों को उनके रिटायरमेंट फंड जमा करने में सक्षम बनाता है।"

GST पर फिर घिरी मोदी सरकार, केंद्र को SC में चुनौती देने की तैयारी में केरल समेत गैर BJP शासित राज्य

जीएसटी मामले में सरकार एक बार फिर घिरती हुई दिखाई दे रही है। केरल के वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने एक ट्वीट में कहा कि कुछ राज्यों को GST मुआवजा मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की संभावना है। इसाक ने कहा कि राज्यों में से कुछ के जीएसटी मुआवजे के बारे में केंद्र के भेदभावपूर्ण और गैरकानूनी कार्रवाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की संभावना है। इससे पहले थॉमस इसाक ने मंगलवार को कहा था कि GST मुआवजे के बदले कर्ज लेने के विकल्प के विरोध में केरल सुप्रीम कोर्ट जाएगा। उसके साथ नौ और राज्य भी शामिल होंगे।

रैपिडो ने 14 भारतीय शहरों में ऑटो सेवा शुरू की

बाइक टैक्सी सेवा प्रदाता रैपिडो ने गुरुवार को 10 राज्यों के 14 शहरों में अपनी ऑटो सेवाएं शुरू की। कंपनी के अनुसार, इसकी यह सेवा यात्रियों को अपने घर के आराम और सुरक्षा से अपने रोजमर्रा के आवागमन के लिए ऑटो बुक करने की अनुमति देगी।

रैपिडो ने कहा कि यह ऑटो चालकों और ग्राहकों के लिए दी जाने वाली सेवाओं के मूल्य निर्धारण में मानकीकरण लाएगा।

रैपिडो के सह-संस्थापक अरविंद शंकर ने कहा, कोरोना महामारी के बीच बाइक टैक्सी के बाद अ1टो सबसे पसंदीदा माध्यम के रूप में उभरा है। यह मार्केट काफई व्यापक है और इसका सिर्फ पांच फीसदी हिस्सा ही ऑनलाइन हो सका है।'' यह सेवा अतिरिक्त न्यूनतम सुविधा शुल्क के साथ मीटर की कीमत पर उपलब्ध होगी।

कंपनी की योजना 2020 तक भारत के 50 शहरों में ऑटो सेवा का विस्तार करने की है। यह लॉन्च का पहला चरण है और रैपिडो ने कहा कि यह अब तक 20,000 ऑटो कैप्टन (ड्राइवर-पार्टनर) को अपने साथ जोड़ चुकी है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

next