अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: बिहार में कोरोना से व्यवसाय का ‘शटरडाउन’ ! सेंसेक्स 581 अंक टूटा, निफ्टी 8264 पर बंद हुआ

कोरोनावायरस के प्रकोप के लगातार गहराने से विदेशी एवं घरेलू शेयर बाजार में गुरुवार को भी बिकवाली का भारी दबाव बना रहा, जिससे सेंसेक्स पिछले सत्र से 581 अंकों की गिरावट के साथ 28,288 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 205 अंक नीचे आकर 8,264 पर बंद हुआ।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में कोरोना से व्यवसाय का 'शटरडाउन' !

पटना के मॉल हों या बाजार, रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म हों या सिनेमा हॉल, कुछ दिन पहले तक लोगों की आवाजाही से ये स्थान गुलजार रहते थे लेकिन आज या तो ये बंद हैं या फिर यहां लोगों की भीड़ काफी कम हो गई है। आलम यह है कि कोरोनावायरस के भय से हर जगह कारोबार में गिरावट आई है।

बिहार में महामारी एक्ट लागू होने के बाद शिक्षण संस्थानों, मल्टीप्लेक्स, जिम आदि बंद करा दिए गए हैं। बिग बाजार खुला जरूर है लेकिन यहां सिर्फ राशन का सामान ही मिल रहा है। सेंट्रल मॉल में लोग पहुंच रहे हैं लेकिन बंद देखकर वापस लौट रहे।

सेंसेक्स 581 अंक टूटा, निफ्टी 8264 पर बंद हुआ

कोरोनावायरस के प्रकोप के लगातार गहराने से विदेशी एवं घरेलू शेयर बाजार में गुरुवार को भी बिकवाली का भारी दबाव बना रहा, जिससे सेंसेक्स पिछले सत्र से 581 अंकों की गिरावट के साथ 28,288 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 205 अंक नीचे आकर 8,264 पर बंद हुआ। कोरोना के कहर से दुनियाभर में आर्थिक गतिविधियां चरमरा गई है, जिस कारण बाजार में निराशा का माहौल बना हुआ है।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 581.28 अंकों यानी 2.01 फीसदी की गिरावट के साथ 28,288.23 पर बंद हुआ। सत्र के आरंभ में सेंसेक्स पिछले सत्र से कमजोरी के साथ 27,773.36 पर खुला और दिनभर कारोबार के दौरान 26,714.46 तक लुढ़का, जबकि इसका ऊपरी स्तर 29,370.53 रहा। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी पिछले सत्र के मुकाबले 205.35 अंकों यानी 2.42 फीसदी की गिरावट के साथ 8,263.45 पर बंद हुआ, जबकि सत्र के आरंभ में सेंसेक्स 8,063.30 पर खुला और 8,575.45 तक चढ़ा। दिनभर के कारोबार के दौरान निफ्टी का निचला स्तर 7,832.55 रहा।

बिहार में पोल्ट्री व्यवसाय पर कोरोना का 'वायरस', चिकेन बाजार धड़ाम

कोरोनावायरस के असर बिहार के पोल्ट्री व्यवसाय पर भी पड़ा है। बिहार में पोल्ट्री व्यवसाय पूरी तरह ध्वस्त हो गया है। व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि कोरोना का चिकेन से कोई लेना देना नहीं है, लेकिन अफवाह के कारण यह व्यवसाय पूरी तरह ध्वस्त हो गया। स्थिति यहां तक आ गई है कि खुदरा बाजार में 150 से 160 रुपए प्रति किलोग्राम बिकने वाला चिकेन फिलहाल 50 से 60 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से बिक रहा है।

एक अनुमान के मुताबिक, बिहार में ही हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। ऋण लेकर व्यवसाय कर रहे लोगों की हालत यह है कि आने वाले दिनों में उनके कर्ज लौटाने का भी भय सता रहा है। पश्चिमी चंपारण के हरनाटांड़ स्थित चम्पारण एग्रो फर्म के संचालक रविशंकर नाथ तिवारी बताते हैं कि ब्रीडिग फामिर्ंग में काफी बड़े पैमाने में चूजा तैयार किया जाता है, लेकिन इस बार कोरोना के अफवाह ने सारा धंधा चौपट कर दिया है। तिवारी बताते हैं कि एक चूजा तैयार करने में करीब 24 रुपये का खर्च आता है। लेकिन इस बार मुर्गे की बिक्री नहीं होने से एक लाख से ज्यादा चूजे को जमीन में दफना दिया गया।

कोविड-19 संक्रमण के चलते बंद नहीं होगी आजादपुर मंडी : चेयरमैन

कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर देश की राजधानी स्थित आजादपुर मंडी में एहतियात व सुरक्षा के उपाय अपनाए जा रहे हैं, लेकिन इस कारण से मंडी बंद नहीं होगी। आजादपुर मंडी एपीएमसी-एग्रीकल्चरल प्रोड्यूस मार्केटिंग कमेटी के चेयरमैन ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी। चेयरमैन आदिल अहमद खान ने आईएएनएस से कहा, "मंडी में कारोबारियों को सैनिटाइजर्स बंटवाए गए हैं और हाथ धोने की जगह साबुन रखवा दिया गया है और मंडी में साफ-सफाई का खास ध्यान रखा जा रहा है।"

शेयर बाजार के बाद सोने पर कोरोना वायरस की मार, चांदी का और बुरा हाल!

अक्सर जब शेयर बाजार में गिरावट गिरावट का दौर चलता था, तो निवेशक सोने की तरफ रुख करते थे। और वैसे भी भारत में सोने में निवेश सुरक्षित माना जाता है। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से सोने की भी चमक फीकी पड़ गई है। वहीं सोने से ज्यादा चांदी टूट रहा है। कोरोना की वजह से पिछले एक हफ्ते में गोल्ड करीब 7 फीसदी टूट चुका है। वहीं,चांदी में 22 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है। जानकार बता रहे हैं कि इस माहौल में निवेशक सोने में निवेश की बजाय कैश में रहना पसंद कर रहे हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय