अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: काफी नहीं मोदी सरकार का आर्थिक पैकेज! खुदरा कारोबारियों में नाराजगी, ऑटो सेक्‍टर भी खुश नहीं

रेटिंग एजेंसी मूडीज ने केंद्र सरकार की ओर से जारी किए गए 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज को कोरोना के संकट से निपटने के लिए नाकाफी करार दिया है। सरकार के इस पैकेज से ऑटो इंडस्‍ट्री और रिटेल कारोबारियों में भी नाराजगी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना के संकट से निपटने के लिए काफी नहीं 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज!

रेटिंग एजेंसी मूडीज ने केंद्र सरकार की ओर से जारी किए गए 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज को कोरोना के संकट से निपटने के लिए नाकाफी करार दिया है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि इससे एसेट रिस्क कम होगा, लेकिन कोरोना के निगेटिव असर से पूरी तरह बचना मुश्किल होगा। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि इस तरह से सरकार ने एसेट रिस्क कम करने की कोशिश की है, लेकिन इससे कोरोना के संकट से पूरी तरह से नहीं निपटा जा सकेगा। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग के लिए पैकेज को लेकर रेटिंग एजेंसी ने कहा कि भारत में यह सेक्टर कोरोना के दौर से पहले से ही संकट से गुजर रहा है और अब स्लोडाउन में और इजाफा हो जाएगा। रेटिंग एजेंसी ने नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनिय़ों के लिए जारी किए गए पैकेज को लेकर कहा कि कंपनियों को तत्काल कैश की जरूरत है। ऐसे में जरूरतों को देखते हुए यह पैकेज काफी कम है।

आर्थिक पैकेज से खुदरा कारोबारियों में नाराजगी, ऑटो सेक्‍टर भी खुश नहीं

कोरोना संकट से उबारने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था। इस पैकेज के बारे में विस्‍तार से बताने के लिए वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लगातार 5 दिनों तक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की। हालांकि, सरकार के इस पैकेज से ऑटो इंडस्‍ट्री और रिटेल कारोबारियों में नाराजगी है।

रिटेल कारोबारियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने तो आर्थिक पैकेज पर पुनर्विचार की भी मांग कर दी है। कैट ने कहा कि व्यापारियों ने संकट के समय सबसे अधिक प्रतिबद्धता दिखायी है और वे कोरोना वायरस महामारी के कारण कायम संकट की स्थिति में देश के प्रति अपने दायित्वों को निभाते रहेंगे। लेकिन आर्थिक पैकेज की व्यापक घोषणाओं में जगह नहीं मिलना निराशाजनक है।

वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम ने कहा, ‘आत्मनिर्भर भारत’ पैकेज में ऑटो सेक्‍टर को कुछ नहीं दिया गया। जबकि नौकरी बचाने और मांग बढ़ाने के लिए इस क्षेत्र को तत्काल राहत देने की जरूरत है। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चर्स (सियाम) ने कहा कि उसने विभिन्न स्तर पर सरकार के साथ चर्चा की थी। उसे 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज में सरकार से सीधी राजकोषीय मदद (कर छूट) की उम्मीद थी।

डिजनी स्ट्रीमिंग प्रमुख बने टिक-टॉक के नए सीईओ

लंबे समय तक डिजनी स्ट्रीमिंग प्रमुख के तौर पर सेवा देने के बाद, केविन मेयर अब शॉर्ट-वीडियो मेकिंग प्लेटफॉर्म टिक-टॉक में बतौर सीईओ पदभार संभालेंगे। साथ ही वह बाइटडांस के मुख्य परिचालन अधिकारी होंगे। बाइटडांस कंपनी टिक-टॉक है। बाइटडांस ने सोमवार को एक बयान में कहा, "टिक-टॉक के वर्तमान अध्यक्ष एलेक्स झू अब बाइटडांस वीपी का पदभार संभालेंगे। वह रणनीति और उत्पाद डिजाइन पर ध्यान केंद्रित करेंगे।" मेयर ने 2018 में डिजनी के डायरेक्ट-टू-कंज्यूमर और इंटरनेशनल सेगमेंट का नेतृत्व किया था और ईएसपीएन प्लस और डिजनी प्लस के सफल लॉन्च किया था।

भारत में लांच हुआ मोटोरोला फ्लैगशिप 'एज प्लस', कीमत मात्र 74,999 रुपये

मोटोरोला ने मंगलवार को फ्लैगशिप स्मार्टफोन 'एज प्लस' 5 जी सपोर्ट, डायनामिक और इमर्सिव डिस्प्ले के साथ अपना स्मार्टफोन भारत में 74,999 रुपये में लॉन्च किया। स्मार्टफोन स्मोकी संगरिया और थंडर ग्रे कलर वेरिएंट में उपलब्ध होगा। कोई भी इसे फ्लिपकार्ट के जरिए प्री-बुक कर सकता है। यह स्मार्टफोन भारत में 26 मई से बिकना शुरू होगा। ग्राहक आईसीआईसीआई क्रेडिट कार्ड से 7,500 रुपये का फ्लैट कैशबैक प्राप्त कर सकते हैं।

स्पेसिफिकेशन्स की बात करें तो, इस स्मार्टफोन में 6.7 इंच की फुल एचडी प्लस डिस्प्ले दी गई है। इसे कंपनी एंडलेस एज डिस्प्ले बता रही है। इसमें 90एचजेड रिफ्रेश रेट के साथ एचडीआर 10 प्लस का सपोर्ट दिया गया है। डिवाइस क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 865 सॉस द्वारा संचालित है। इसे सिर्फ एक वेरिएंट 12जीबी रैम और 256 जीबी स्टोरेज में पेश किया गया है।

शेयर बाजार में रिकवरी, सेंसेक्‍स 168 अंक मजबूत, निफ्टी 8,880 अंक पर बंद

इकोनॉमी को बूस्‍ट देने के लिए 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज भी भारतीय शेयर बाजार की रफ्तार को तेज करने में नाकाम साबित होता दिख रहा है। यही वजह है कि सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन यानी सोमवार को शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखी गई तो वहीं मंगलवार को मामूली रिकवरी दिखी। कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 167.19 अंक या 0.56 फीसदी की बढ़त के साथ 30,196.17 अंक पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी की बात करें तो ये 55.85 अंक या 0.63 फीसदी बढ़त के साथ 8,879.10 अंक पर रहा। हालांकि, कारोबार के दौरान सेंसेक्‍स 700 अंक तक मजबूत हुआ और 30 हजार 700 अंक के स्‍तर तक पहुंच गया।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय