अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: दुकानों से आटा, चीनी, चावल समते सभी ब्रांडेड सामान गायब और जानें शेयर बाजार का हाल

लॉकडाउन के बाद दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में दूध, सब्जी और राशन की कई दुकानें धीरे-धीरे खाली होने लगी थी। अब ग्राहकों को मन माफिक ब्रांड की वस्तुएं नहीं मिल रही हैं। अधिकांश स्थानों पर खुला आटा, चीनी, चावल ही मौजूद है। शेयर बाजार शुक्रवार को लाल निशान के साथ बंद हुआ।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दुकानों में खुला आटा, चीनी, चावल मौजूद ब्रांडेड सामान नदारद

लॉकडाउन के बाद दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में दूध, सब्जी और राशन की कई दुकानें धीरे-धीरे खाली होने लगी थी। हालांकि अब दुकानों में फल, सब्जियां, दूध, अनाज, दालें आदि की सप्लाई बहाल होने लगी है। लेकिन अभी भी ग्राहकों को मन माफिक ब्रांड की वस्तुएं नहीं मिल रही हैं। अधिकांश स्थानों पर खुला आटा, चीनी, चावल ही मौजूद है।

चांदनी चौक स्थित मोर सराय रोड पर दूध का कारोबार करने वाले सुभाष चंद्र ने कहा, "लॉकडाउन के बाद शुरुआती दिनों में कई दूध सप्लायर यहां नहीं पहुंच सके। इसके कारण सप्लाई में बाधा पड़ी है। हालांकि अब दूध की सप्लाई सामान्य है। शरुआती दिनों में लोगों को दूध की सप्लाई ठप होने का आशंका थी और उन्होंने आवश्यकता से अधिक दूध खरीदा। जिसके कारण भी दूध की आपूर्ति में दिक्कतें हुईं, लेकिन अब हालात लगभग सामान्य है।"

674 अंक लुढ़क कर सेंसेक्स 27,590 पर बंद, निफ्टी 8100 से आया नीचे

शेयर बाजार शुक्रवार को लाल निशान के साथ बंद हुआ। 674 अंक लुढ़क कर सेंसेक्स 27,590 के स्तर पर बंद हुआ तो वहीं निफ्टी भी 170 अंकों के नुकसान के साथ 8100 के नीचे आ गया। NIFTY 50 आज 8,083.80 के स्तर पर बंद हुआ। इसमें कुल 170 अंक यानी 2.06% का नुकसान हुआ। वहीं NIFTY NEXT 50 भी 264 अंकों की गिरावट के साथ 20,399 पर बंद हुआ। मिडकैप शेयरों की भी हालत अच्छी नहीं रही। NIFTY MIDCAP 50 भी 58.45 अंकों के नुकसान के साथ 3,037 पर बंद हुआ। सबसे ज्यादा पिटाई बैंक शेयरों की हुई। बैंक निफ्टी 5.27 फीसद यानी 959 अंक टूटकर 17249 पर बंद हुआ। निफ्टी ऑटो भी लाल निशान पर बंद हुआ।


एसबीआई ने जनधन खातों से निकासी के लिए तैयार किया शेड्यूल

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने कोविड-19 के कारण लागू किए गए लॉकडाउन की कठिन अवधि के दौरान जन-धन खातों से निकासी के लिए शेड्यूल तैयार किया है। लॉकडाउन की वजह से पैदा हुई नकदी की किल्लत को कम करने के प्रयासों के तहत खातों से निकासी के लिए बैकों के बाहर भीड़ ना लगे और सामाजिक दूरी बनाई रखी जा सके, इसके लिए बैंक ने शेड्यूल तैयार किया है।

महिलाओं के जन-धन खातों में शुक्रवार को 500 रुपये की पहली किस्त डाली जा रही है। लॉकडाउन के दौरान गरीबों को आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज में की गई घोषणा के तहत यह पहली किस्त महिलाओं के जन-धन खाते में डाली जा रही है।

5-जी आईफोन निर्धारित समय पर आने की संभावना : फॉक्सकॉन

इलेक्ट्रॉनिक्स सामान बनाने वाली ताइवान की हॉन हाई प्रिसिजन इंडस्ट्री कंपनी लिमिटेड (फॉक्सकॉन) ने कहा है कि नए हैंडसेट 5-जी आईफोन का उत्पादन समय पर शुरू होने की संभावना है। जीएसएम एरिना की रिपोर्ट के अनुसार, फॉक्सकॉन को कोविड-19 के प्रकोप के कारण एक महीने के लिए अपने कारखाने बंद करने पड़े थे, लेकिन अब कंपनी का काम पहले की तरह सामान्य रूप से शुरू हो गया है।

बताया जा रहा है कि नए पेश किए जाने वाले आईफोन-12 में नए रंगों के साथ ही स्क्रीन के आकार के विकल्प भी मिल सकेंगे। इसके अलावा यह फोन 5-जी सपोर्ट के साथ आने की संभावना जताई जा रही है।


छत्तीसगढ़ में कर्मचारियों के वेतन में कटौती नहीं

कोरोना संकट और लॉकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से किसी प्रकार की कटौती नहीं की जाएगी। वहीं कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा व्यापक प्रयास और इंतजाम किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य के अधिकारियों व कर्मचारियों के वेतन में कटौती नहीं की जाएगी, लेकिन राज्य शासन के अधिकारी-कर्मचारी स्वेच्छा से संकट की इस घड़ी में मुख्यमंत्री सहायता कोष में अपना आर्थिक योगदान कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने राज्य के सभी निजी औद्योगिक और व्यापारिक संस्थानों से भी यह कहा है कि वे लॉकडाउन के दौरान अपने कर्मियों का वेतन नहीं काटे। यदि कोई कर्मचारी स्वेच्छा से आर्थिक योगदान करना चाहे तो कर सकता है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia