अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: जुलाई में महंगी हुई खाने-पीने की चीजें और फेसबुक पर लग सकता है 500 अरब डॉलर जुर्माना

जुलाई 2020 के लिए कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) आधारित खुदरा महंगाई दर बढ़कर 6.93 फीसदी पहुंच गया है। फेसबुक पर अमेरिका में बायोमेट्रिक डेटा एकत्रित करने के आरोप में 500 अरब डॉलर तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

जुलाई में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 6.93 फीसदी पहुंचा, महंगी हुई खाने-पीने की चीजें


जुलाई 2020 के लिए कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) आधारित खुदरा महंगाई दर बढ़कर 6.93 फीसदी पहुंच गया है। जून महीने के लिए यह 6.23 फीसदी था। सरकार द्वारा जारी आंकड़े से पता चलता है कि खाद्य वस्तुओं की कीमतों में इजाफा की वजह से खुदरा महंगाई दर भी बढ़ी है। CPI आंकड़े से पता चलता है कि जुलाई में खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर 9.62 फीसदी पर पहुंच गया है। सरकार ने जून की खुदरा महंगाई दर ​को 6.09 फीसदी से रिवाइज कर 6.23 फीसदी कर दिया है।

मार्च के अंतिम सप्ताह में लॉकडाउन के ऐलान के बाद से ही खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर में लगातार इजाफा दर्ज किया जा रहा है। जून में यह आंकड़ा 8.72 फीसदी था। सब्जियों की महंगाई दर की बात करें तो जून की तुलना में यह 1.86 फीसदी बढ़कर 11.29 फीसदी पर पहुंच गया है।

सेंसेक्स 59 अंक फिसला, निफ्टी 11300 पर बंद

घरेलू शेयर बाजार में गुरुवार को भारी-उतार चढ़ाव के बीच प्रमुख संवेदी सूचकांक तकरीबन सपाट बंद हुए। संेसक्स पिछले सत्र से 59.14 अंकों यानी 0.15 फीसदी की कमजोरी के साथ 38310.49 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी महज 7.95 अंक फिसलकर 11,300.45 पर ठहरा। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 87.01 अंकों की बढ़त के साथ 38,456.64 पर खुला और दोपहर के पूर्व के कारोबार के दौरान 38,516.85 तक चढ़ा लेकिन दोपहर बाद के कारोबार के दौरान सेंसेक्स 38,215.05 तक फिसला।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी पिछले सत्र से 26.45 अंकों की तेजी के साथ 11,334.85 पर खुला और 11,359.30 चढ़ा जबकि दिनभर के कारोबार के दौरान निफ्टी का निचला स्तर 11,269.95 रहा।

फेसबुक पर डेटा संग्रह का नया मुकदमा, लग सकता है 500 अरब डॉलर जुर्माना


फेसबुक पर अमेरिका में बायोमेट्रिक डेटा एकत्रित करने के आरोप में 500 अरब डॉलर तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। अमेरिका में फेसबुक पर एक मुकदमा दायर किया गया है, जिसमें दावा किया गया है कि फेसबुक की सहायक कंपनी इंस्टाग्राम द्वारा यूजर्स की इजाजत के बिना उनका बायोमेट्रिक डेटा इकट्ठा किया गया है। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, कैलिफोर्निया स्थित रेडवुड सिटी की अदालत में सोमवार को यह मुकदमा दर्ज किया गया है।

इंस्टाराम पर आरोप है कि उसने फोटो-टैगिंग टूल के जरिए लोगों की पहचान करने के लिए फेशियल रिकॉग्निशन तकनीक का इस्तेमाल किया है। इंस्टाग्राम ने भी स्वीकार किया है कि कंपनी इस फीचर का इस्तेमाल कर रही थी, लेकिन कंपनी का कहना है कि उन्होंने डेटा को विशेष सुरक्षा प्रदान की है और यूजर्स की इजाजत के बाद ही कंपनी ने उनसे इस तरह का डेटा लिया है।

दायर किए गए इस मुकदमे में इंस्टाग्राम पर आरोप लगाया गया है कि कंपनी स्वचालित (ऑटोमैटिकली) लोगों के चेहरे को स्कैन करती है। इस दौरान उन लोगों के चेहरे भी स्कैन किए गए हैं, जो किसी दूसरे के इंस्टाग्राम अकाउंट में दिख रहे थे।

लेनोवो ने भारत में एआई संचालित योगा स्लिम 7आई लैपटॉप लॉन्च किया


लेनोवो ने गुरुवार को 79,990 रुपये की शुरूआती कीमत के साथ भारत में अपनी लोकप्रिय योगा सीरीज का एआई संचालित स्लिम 7आई लैपटॉप लॉन्च किया है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि एआई सक्षम 'योगा स्लिम स्लिम 7आई' लैपटॉप स्लेट ग्रे रंग में आता है। इसकी बिक्री 20 अगस्त से लेनोवो डॉट कॉम, अमेजन, फ्लिपकार्ट और ऑफलाइन खुदरा दुकानों पर शुरू हो जाएगी।

लेनोवो इंडिया में उपभोक्ता पीसीएसडी मामलों के कार्यकारी निदेशक शैलेंद्र कत्याल ने अपने एक बयान में कहा, योगा स्लिम 7आई के लॉन्च के साथ, लेनोवो ने 2012 में लॉन्च होने के बाद से इस श्रेणी (कैटेगरी) में लगातार एनोवेशन प्रदान की है और ग्राहकों की मांगों को पूरा करने के लिए लैपटॉप को इन्ट्रिन्सिक डिटेल के साथ बनाया गया है।

डेवलपर्स की मदद के लिए ट्विटर ने लॉन्च किया नया एपीआई


ट्विटर ने एक नए एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस (एपीआई) का अनावरण किया है ताकि व्यवसाय, शिक्षा के साथ-साथ तीसरे पक्ष के डेवलपर्स द्वारा नए फीचर्स का तेजी से निर्माण करने और उन्हें लॉन्च करने के काम में उनकी मदद की जा सके। एपीआई वी2 तीसरे पक्ष के डेवलपर्स को कॉन्वर्सेशन थ्रेडिंग, ट्वीट्स में चुनाव परिणाम, प्रोफाइल पर पिन किए गए ट्वीट, स्पैम फिल्टरिंग और अधिक शक्तिशाली स्ट्रीम फिल्टरिंग व अपने सवालों की खोज की भाषा जैसे फीचर्स के प्रारंभिक चरणों तक पहुंच की सुविधा उपलब्ध कराता है।

द वर्ज की रिपोर्ट के मुताबिक, नए ट्वीट्स के पेश होने का इंतजार करने के बजाय इसमें तीसरे पक्ष को रियल-टाइम ट्वीट स्ट्रीम की सुविधा भी दी जाती है। साल 2012 के बाद से एपीआई वी2 ही ट्विटर के एपीआई का नए सिरे से पहला पुर्ननिर्माण है। इस नए एपीआई सिस्टम द्वारा एक ही मंच में अलग-अलग प्रोडक्ट्स को शामिल किया जाता है और वह भी भिन्न एक्सेस लेवल के साथ।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next