अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: सोना ने बनाया नया रिकॉर्ड और हरे निशान में खुलने के बाद फिसल गया शेयर बाजार

सोना ने पिछला सारा रिकॉर्ड तोड़ दिया है। वैश्विक बाजार में बुलियन में आई उछाल के बाद घरेलू वायदा बाजार में सोने का भाव सोमवार को नई फिर ऊंचाई पर चली गई। शेयर बाजार में आज उतार चढ़ाव देखने को मिला और अंत में यह लाल निशान पर बंद हुआ।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

सोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, एमसीएक्स पर 52000 रुपये के करीब भाव

सोना ने पिछला सारा रिकॉर्ड तोड़ दिया है। वैश्विक बाजार में बुलियन में आई उछाल के बाद घरेलू वायदा बाजार में सोने का भाव सोमवार को नई फिर ऊंचाई पर चली गई। एमसीएक्स पर सोना 51,833 रुपये प्रति 10 ग्राम तक उछला और जल्द ही 52 हजारी बनने के करीब है। वहीं, वैश्विक बाजार में सोना 1944 डॉलर प्रति औंस के पार चला गया जोकि एक नया रिकॉर्ड है। कमोडिटी बाजार विश्लेषक बताते हैं कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को लेकर वैश्विक अर्थव्यवस्था की विकास दर को लेकर बनी चिंता से निवेशकों का रुझान निवेश के सुरक्षित साधन की तरफ है, इसलिए महंगी धातु के दाम में उछाल आया है।

देश के सबसे बड़े वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर सोने के अगस्त वायदा अनुबंध में पूर्वान्ह 10.40 बजे पिछले सत्र की क्लोजिंग से 735 रुपये यानी 1.44 फीसदी की तेजी के साथ 51,770 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले सोने का भाव 51,833 रुपये प्रति 10 ग्राम तक उछला जोकि अब तक का रिकॉर्ड स्तर है।

पायलटों ने पुरी से कहा, निजीकरण को बेपटरी करने की हो रही साजिश

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ एक तत्काल बैठक की मांग करते हुए एयर इंडिया के पायलटों ने एयर इंडिया को नुकसान पहुंचाने और निजीकरण की प्रक्रिया को पटरी से उतारने की साजिश रचे जाने का आरोप लगाया है। पुरी को लिखे एक पत्र में, इंडियन कॉमर्शियल पायलट्स एसोसिएशन और इंडियन पायलट्स गिल्ड ने कहा, "16 जुलाई, 2020 की प्रेस कॉन्फ्रेंस से यह स्पष्ट होता है कि आपको ब्रीफिंग करने वाले अधिकारियों ने एयर इंडिया के वर्तमान स्थिति के बारे में आपको गलत जानकारी दी है। आपको गुमराह किया जा रहा है।"

पायलटों ने पुरी से कहा है, "निहित स्वार्थ के लिए औद्योगिक भेदभाव पैदा करने और एयर इंडिया को नुकसान पहुंचाने और निजीकरण की प्रक्रिया को पटरी से उतारने की साजिश का यह जानबूझकर रचा गया अनैतिक एजेंडा है।"

नीतीश अस्थाना पाइन लैब्स के अध्यक्ष और सीओओ नियुक्त

प्रमुख मर्चेंट कॉमर्स प्लेटफॉर्म पाइन लैब्स ने सोमवार को अध्यक्ष और मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) के रूप में नीतीश अस्थाना की नियुक्ति की घोषणा की है। वर्तमान में प्रति वर्ष 30 बिलियन डॉलर से अधिक की भुगतान प्रक्रिया में मदद करने वाली पाइन लैब्स 3,700 शहरों में 4.5 लाख से अधिक मर्चेंट टचपॉइंट के साथ 1.5 लाख से अधिक व्यापारियों की सेवा करती है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि अस्थाना को प्रौद्योगिकी नवाचार और भारत समेत दक्षिण पूर्व एशिया के व्यापारियों के बीच डिजिटल भुगतान स्वीकार्यता बढ़ाने के लिए कंपनी के प्रयासों में तेजी लाने का काम सौंपा गया है। पाइन लैब्स के सीईओ बी अमरीश राऊ ने कहा, "पाइन लैब्स में, हम मर्चेंट पेमेंट और कॉमर्स को फिर से परिभाषित करने के मिशन पर हैं। ऐसे में अस्थाना का विविध ज्ञान और अंतर्²ष्टि कंपनी के भीतर नवाचार को तेज करने और परिचालन उत्कृष्टता सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।"

टाटा मोटर्स ईवी के सेल्स हेड आशीष धर का निधन

टाटा मोटर्स में इलेक्ट्रॉनिक व्हिकल्स खंड के सेल्स, मार्केटिंग और कस्टमर केयर हेड आशीष धर का हृदयाघात के कारण निधन हो गया। उन्होंने शुक्रवार रात अंतिम सांस ली। धर दो साल पहले ईवी खंड के सेल्स, मार्केटिंग और कस्टमर केयर के हेड बने थे। वह 2011 में टाटा मोटर्स से जुड़े थे। धर के लिंक्डइन प्रोफाइल के अनुसार, टाटा मोटर्स से पहले वह महिंद्रा फर्स्ट चॉइस व्हील लिमिटेड में ऑपरेशन के वाइस प्रेसीडेंट थे। वह अपने पूरे करियर के दौरान ऑटो उद्योग से जुड़े रहे।

बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी एंड साइंस, पिलानी से पास होने के बाद उन्होंने 1991 में बजाज ऑटो जॉइन किया था, और उसके बाद वह टीवीएस मोटर्स चले गए, जहां वह नौ साल तक रहे।

हरे निशान में खुलने के बाद फिसल गया शेयर बाजार,सेंसेक्स 194 अंकों की गिरावट के साथ बंद

मिले-जुले अंतरराष्ट्रीय संकेतों के बाद भारतीय शेयर बाजार में सोमवार को कारोबार की शुरुआत हरे निशान में हुई। लेकिन थोड़ी ही देर में बाजार टूट गए। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स सुबह 147 अंकों की तेजी के साथ 38,275.34 पर खुला। लेकिन कुछ ही मिनटों के बाद इसमें गिरावट आने लगी और सुबह 9.49 तक सेंसेक्स 337 अंक टूटकर 37791 तक पहुंच गया। इसके बाद दिनभर बाजार संभल नहीं पाया।

बैंकिंग, वित्तीय आदि सेक्टर में बिकवाली के दबाव की वजह से शेयर बाजार लाल निशान में चला गया। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 194.17 अंकों की गिरावट के साथ 37,934.73 पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 31 अंकों की तेजी के साथ 11,225 पर खुला। लेकिन थोड़ी देर के बाद इसमें भी गिरावट आने लगी। सुबह 10.13 बजे तक निफ्टी 78 अंक टूटकर 11,115.90 पर पहुंच गया था। निफ्टी अंत में 62.35 अंकों की गिरावट के साथ 11,131.80 पर बंद हुआ।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next