अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: 'भारत के GDP में गिरावट सबके लिए चेतावनी' और जानें क्यों विदेशी पूंजी को आकर्षित करता है चीन?

चीन में महामारी पर कारगर रूप से नियंत्रित करने के बाद इस साल की दूसरी तिमाही में चीनी अर्थतंत्र का विकास हुआ। अर्थशास्त्री रघुराम राजन ने कहा है कि जीडीपी में नकारात्मक बढ़ोतरी हर किसी के लिए खतरे की घंटी की तरह है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

क्यों विदेशी पूंजी को आकर्षित करता है चीनी वित्तीय बाजार?


हाल में 2020 चीन अंतर्राष्ट्रीय सेवा व्यापार एक्सपो पेइचिंग में आयोजित हो रहा है। वित्तीय सेवा की प्रदर्शनी इस एक्सपो की 8 मुख्य प्रदर्शनियों में से एक है। एक्सपो में भाग लेने वाली 150 से अधिक वित्तीय संस्थाओं में 18 देशों और क्षेत्रों से आयी 43 विदेशी पूंजी वाली वित्तीय संस्थाओं ने हिस्सा लिया, जिनमें मोर्गन स्तेनलेइ, यूबीएस सिक्यूरिटिस, जर्मनी बैंक आदि विश्व की मशहूर वित्तीय संस्थाएं शामिल हैं। उनकी भागीदारी से चीनी वित्तीय बाजार के प्रति उनका दृढ़ विश्वास प्रकट हुआ है। यह विश्वास चीनी समग्र अर्थतंत्र की मजबूत लचीलापन और जोखिम से रोकने की क्षमता से आया है। चीन में महामारी पर कारगर रूप से नियंत्रित करने के बाद इस साल की दूसरी तिमाही में चीनी अर्थतंत्र का विकास हुआ, जो पिछले साल की दूसरी तिमाही की तुलना में 3.2 प्रतिशत का इजाफा हुआ। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने अनुमान लगाया कि इस साल विश्व अर्थतंत्र में 4.9 प्रतिशत की कटौती होगी, जबकि चीन आर्थिक विकास प्राप्त करने वाली एकमात्र प्रमुख आर्थिक इकाई बनता दिख रहा है।

मोटोरोला ने साउंडबार्स, होम थिएटर्स की रेंज में विस्तार किया


लेनोवा की मालिकाना हक वाले स्मार्टफोन ब्रैंड मोटोरोला ने सोमवार को एम्फीसाउंडएक्स रेंज के साउंडबार्स और होमथिएटर्स लॉन्च किए। ये प्रॉडक्ट्स ई-कॉमर्स साइट फ्लिपकार्ट पर लॉन्च किए गए हैं। कम्पनी ने मोटोरोला एम्फीसाउंडएक्स साउंडबार्स के दो वेरिएंट लॉन्च किए। इनकी कीमत क्रमश: 14,999 रुपये (200 वॉट) और 7499 रुपये (100 वॉट) रखी गई है। ये 14 सितम्बर से बिक्री के लिए उपलब्ध होंगे।

मोटोरोला एम्फीसाउंडएक्स 200 वॉट साउंडबार ग्लास टॉप टच पैनल से लैस है। साथ ही इसमें एक वायररेस सबवूफर लगा है और साथ ही साथ यह वायरलेस सराउंड साउंड स्पीकर्स से भी लैस है। यह डिवाइस एचडीएमआई एआरसी और ऑप्टिकल कनेक्टीविटी 4के ऑडियो और 5.1 चैनल के लिए उपयुक्त है।

महामारी से दुनिया भर में लगभग 10 करोड़ लोग गरीबी में फंसेंगे


चीन में स्थित संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम के उपाध्यक्ष महा अहमद ने 6 सितंबर को कहा कि नए कोरोनावायरस महामारी की वजह से यह अनुमान है कि इस वर्ष 7 करोड़ से 10 करोड़ लोग अत्यधिक गरीबी में गिरेंगे। वर्तमान में, संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम 10 करोड़ लोगों की खाद्य जरूरतों को पूरा करने के लिए सक्रिय रूप से संसाधन जुटा रहा है। 6 तारीख को 23 वां चीन कृषि उत्पाद प्रसंस्करण उद्योग निवेश और व्यापार मेला चीन के हनान प्रांत के च्वूमात्येन शहर में उद्घाटित हुआ। अहमद ने उद्घाटन समारोह में कहा कि संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम के अनुमानों के अनुसार, महामारी से पहले 79 देशों में गंभीर खाद्य असुरक्षा का सामना करने वाले लोगों की संख्या 14.7 करोड़ से बढ़कर 2020 के अंत तक 27 करोड़ तक पहुंच जाएगी और हर कम-आय या मध्यम-आय वाले देश को खतरों का सामना करना पड़ेगा।

भारत के जीडीपी में गिरावट सबके लिए चेतावनी : रघुराम राजन


एक सप्ताह पहले वित्तवर्ष 2020-21 की तिमाही अप्रैल-जून के दौरान भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में गिरावट की खबर सामने आने के बाद रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर और जाने माने अर्थशास्त्री रघुराम राजन ने कहा है कि जीडीपी में नकारात्मक बढ़ोतरी हर किसी के लिए खतरे की घंटी की तरह है। हालिया परिदृश्य में सरकारी राहत या समर्थन के महत्व को लेकर उन्होंने इसे 'अल्प' माना।

लिंकडिन पर प्रकाशित नोट में उन्होंने यह भी कहा कि यदि अनौपचारिक क्षेत्रों के नुकसान को ध्यान में रखा जाए तो क्वार्टर-1 के दौरान सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 23.9 प्रतिशत गिरावट और भी बुरा होगा।

उतार-चढ़ाव के बाद हरे निशान में बंद हुआ शेयर बाजार

कमजोर अंतरराष्ट्रीय संकेतों की वजह से सोमवार को भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत भी गिरावट के साथ हुई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 73 अंक टूटकर 38,284.78 पर खुला। इसके बाद दिन भर बाजार में उतार-चढ़ाव रहा। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 60 अंक की तेजी के साथ 38,417.23 पर बंद हुआ। इसी तरह निफ्टी 21.20 अंक की तेजी के साथ 11,355.05 पर बंद हुआ.।

सुबह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 26 अंक बढ़कर 11359 पर खुला था। लेकिन बाद में इसमें भी गिरावट आ गई। कारोबार के दौरान निफ्टी 82 अंक टूटकर 11,251 के निचले स्तर पर पहुंच गया था। करीब 1212 शेयरों में तेजी और 1461 में गिरावट देखी गई।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Published: 7 Sep 2020, 7:30 PM
लोकप्रिय
next