अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: Moratorium अवधि में ब्याज पर ब्याज दोगुनी मार, एक और चीनी कंपनी ने अपना अमेरिकी कारोबार बेचा

वरिष्ठ वकील राजीव दत्ता ने कहा कि उनके मुवक्किल ने सोचा कि जब ईएमआई से राहत दी तो सब कुछ ठीक था, लेकिन सरकार ने चक्रवृद्धि ब्याज लगा दिया। यह तो हमारे ऊपर दोहरी मार है। चीन की एक और कंपनी शिजी ग्रुप भी अमेरिका में अपना कारोबार बेचने की तैयारी में है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ताओं ने कहा, ऋण स्थगन अवधि में ब्याज पर ब्याज दोगुनी मार


सर्वोच्च न्यायालय ने बुधवार को माना कि आरबीआई के पास ताकत की कोई कमी नहीं है। याचिकाकर्ताओं के वकील ने तर्क दिया कि बैंक ऋणों की पुर्नसरचना के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन ईमानदार ऋणधारियों पर ऋण स्थगन अवधि में ईएमआई देना स्थगित रहने के दौरान ब्याज पर ब्याज लगाकर उन्हें दंडित नहीं कर सकते। शॉपिंग सेंटर एसोसिएशन का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता रंजीत कुमार ने न्यायमूर्ति अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष दलील दी कि शॉपिंग सेंटर बंद हैं, फिर भी कर्मचारियों को भुगतान किया जा रहा है। इस पर पीठ ने जबाव दिया कि आरबीआई के पास शक्ति की कोई कमी नहीं है और कोई भी इससे इनकार नहीं कर रहा है।

कुमार ने कहा कि फार्मा, एफएमसीजी और इंटरनेट कंपनियों ने बहुत अच्छा व्यापार किया है, लेकिन उनके क्लाइंट जिस इंडस्ट्री से हैं, उनके साथ ऐसा नहीं है। कुमार ने कहा, "हमें राहत मिलनी चाहिए।"

एक और याचिकाकर्ता गजेंद्र शर्मा की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील राजीव दत्ता ने कहा कि उनके मुवक्किल ने सोचा कि जब ईएमआई से राहत दी तो सब कुछ ठीक था, लेकिन सरकार ने चक्रवृद्धि ब्याज लगा दिया। यह तो हमारे ऊपर दोहरी मार है।

शाओमी ने भारत में लॉन्च किया किफायती रेडमी 9ए


चीनी स्मार्टफोन निर्माण कंपनी शाओमी बुधवार को अपने नए बजट स्मार्टफोन रेडमी 9ए को लॉन्च करने जा रहा है, जिसकी कीमत (2जीबी प्लस 32 जीबी) वेरिएंट के लिए 6,799 रुपये रखी गई है। इसके 3जीबी रैम के साथ 32 जीबी इंटरनल स्टोरेज वाले वेरिएंट की कीमत 7,499 रुपये रखी गई है।

एमआई इंडिया में रेडमी की बिजनेस लीड स्नेहा तेनवाला ने एक बयान में कहा, "रेडमी 9ए का मकसद अपनी कंपनी के विरासत को बनाए रखना है और ऐसा करते हुए डॉट नोच सहित एचडी प्लस एलसीडी आईपीएस डिस्प्ले संग देखने के बेहतरीन अनुभव को पेश किया जा रहा है। इस कीमत में यह अपने तरह का एक खास फोन है।"

स्मार्टफोन को 4 सितंबर से तीन कलर वेरिएंट में उपलब्ध कराया जाएगा।

जेएसपीएल ने जेएसआईएस ओमान की 49 फीसदी हिस्सेदारी वल्कन स्टील को बेची


जिंदल स्टील एंड पावर की मॉरीशस शाखा ने अपनी ओमान की संपत्ति जिंदल शदीद आयरन एंड स्टील एलएलसी की 48.99 फीसदी हिस्सेदारी टेंपलर इनवेस्टमेंट की सहायक कंपनी वल्कन स्टील को बेच दी है। यह बिक्री की पहली किस्त है। बुधवार को जिंदल स्टील एंड पावर (जेएसपीएल) ने कहा कि कंपनी का लक्ष्य निर्धारित समय के भीतर बिक्री को पूरा करना है। जून में जेएसपीएल ने कहा था कि वह अपनी ओमान एसेट में अपनी पूरी हिस्सेदारी टेंपलर इनवेस्टमेंट को 1 बिलियन डॉलर से अधिक की एंटरप्राइज कीमत में बेचेगी।

फाइलिंग में कहा गया ,"जिंदल स्टील एंड पावर (मॉरीशस) लिमिटेड (जेएससीएमएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी ने 4,86,999 शेयर बेचे हैं। यह वल्कन स्टील के लिए जेएसआईएस ओमान की 48.99 प्रतिशत शेयर पूंजी है।"

फेसबुक ने हटाए पाकिस्तान से संचालित सैकड़ों फर्जी अकाउंट्स


फेसबुक ने मंगलवार को कहा कि इसने ऐसे 453 अकाउंट्स, 103 पेज, 78 ग्रुप और 107 इंस्टाग्राम अकाउंट्स हटाए हैं जिन्हें पाकिस्तान से संचालित किया जाता था और इनके द्वारा मूलत: भारत में भ्रामक व गलत जानकारियों का प्रसार किया जाता था। ये ज्यादातर फर्जी नामों से बने हुए अकाउंट्स थे जिनमें भारत से भी कुछ लोगों के होने का दावा किया जा रहा है। ये कंटेंट पोस्ट करने के साथ ही भारतीय सेना के कुछेक फैन पेज और ग्रुप को भी मैनेज करते थे।

फेसबुक ने अपने एक बयान में कहा, "ये प्राथमिक तौर पर हिंदी और अंग्रेजी में स्थानीय खबरें और वर्तमान में हो रही घटनाओं के अलावा मीम्स भी पोस्ट करते थे। इनके द्वारा पाकिस्तान और भारत में राजनीतिक मुद्दों की भी जानकारी दी जाती थी जिनमें चीन के प्रति भारत की नीतियां, भारतीय सेना, भारत सरकार और इनके द्वारा कोरोनावायरस महामारी की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदमों की निंदा इत्यादि विषय शामिल रहे हैं।"

एक और चीनी कंपनी ने अपना अमेरिकी कारोबार बेचा


टिकटॉक पिछले काफी समय से सुर्खियों में है। कभी डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन द्वारा इसकी मूल कंपनी बाइटडांस पर अमेरिका में कारोबार को बेचने के दबाव के चलते, तो कभी कंपनी के सीईओ केविन मेयर के इस्तीफा देने की खबर के चलते, किसी न किसी वजह से यह चीनी कंपनी खबरों में है। अब खबर आ रही है कि चीन की एक और कंपनी शिजी ग्रुप भी अमेरिका में अपना कारोबार बेचने की तैयारी में है।

शिजी समूह, चीन में स्थित एक वैश्विक आतिथ्य प्रौद्योगिकी सेवा देने वाली कंपनी है जिसके ग्राहकों में केमपिनस्की होटल भी शामिल है।

द ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, व्हाइट हाउस के एक प्रशासनिक आदेश के बाद ग्रुप ने मंगलवार को कहा कि बोर्ड ने अमेरिका द्वारा नियंत्रित अपनी सहायक कंपनी 'स्टे एन टच' को सौ फीसदी तक बेचने का फैसला लिया है। इसका कारोबार संयुक्त राज्य अमेरिका में होटलों का संचालन करने वाली कंपनी एमआरसी को सौंपा जाएगा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next