अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: मिठाई खरीदते समय इस बात का रखें ध्यान और जानें अगले हफ्ते कैसा रहेगा शेयर बाजार का रुझान

भारतीय शेयर बाजार की चाल इस सप्ताह भी मुख्य रूप से वैश्विक संकेतों से ही तय होगी। मिठाई खरीदते समय अब आप दुकानों में मिठाइयों की सजी थालियों पर 'बेस्ट बिफोर डेट' जरूर चेक करें।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

विदेशी संकेतों से चाल पकड़ेगा घरेलू शेयर बाजार, आरबीआई के फैसले का रहेगा इंतजार

भारतीय शेयर बाजार की चाल इस सप्ताह भी मुख्य रूप से वैश्विक संकेतों से ही तय होगी, हालांकि निवेशकों को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की 29 नवंबर से होने जा रही मौद्रिक समीक्षा बैठक के फैसलों का इंतजार रहेगा। साथ, ही ऑटो कंपनियों की बिक्री के आंकड़े और प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से भी बाजार को दिशा मिल सकती है। वहीं, दो अक्टूबर को गांधी जयंती के अवकाश पर शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार में कारोबार बंद रहेगा। कोरोना के कहर के साये में निराशाजनक वैश्विक संकेतों से बीते सप्ताह घरेलू बाजार में कोहराम का आलम रहा और प्रमुख संवेदी सूचकांकों में साप्ताहिक आधार पर तकरीबन चार फीसदी की गिरावट रही। इस सप्ताह भी बाजार की चाल तय करने में वैश्विक संकेतों का प्रभाव ज्यादा रहेगा। हालांकि बाजार को दिशा देने में घरेलू कारकों की भी अहम भूमिका होगी।

आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक 29 नवंबर से शुरू होने जा रही है जिसके नतीजे एक अक्टूबर को आएंगे। निवेशकों को आरबीआई के नतीजों का इंतजार रहेगा। वहीं, अगले महीने के आरंभ से ही ऑटो कंपनियां सितंबर महीने की बिक्री के आंकड़े जारी करेंगी जिसका असर ऑटो कंपनियों के शेयरों पर देखने को मिलेगा।

लक्ष्मी विलास बैंक के शेयरधारकों ने सीईओ, निदेशकों की पुनर्नियुक्ति को नामंजूर किया


लक्ष्मी विलास बैंक के शेयरधारकों ने अपने निदेशक मंडल को सात निदेशकों की पुनर्नियुक्ति के खिलाफ मतदान किया है, जिसमें एमडी और सीईओ एस. सुंदर शामिल हैं। सुंदर को इस साल जनवरी में बैंक के अंतरिम एमडी के रूप में नियुक्त किया गया था।

इस मामले के जानकार लोगों का कहना है कि शेयरधारकों के फैसले से बैंक के प्रबंधन को लेकर उनकी नाखुशी का पता चलता है, जो हालिया समय में वित्तीय संकट से गुजर रहा है।

बैंक ने एक रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा कि दिलचस्प बात यह है कि 25 सितंबर को बैंक की वार्षिक आम बैठक में शेयरधारकों ने भी अपने वैधानिक लेखा परीक्षकों की फिर से नियुक्ति के खिलाफ मतदान किया।


विश्व पर्यटन दिवस पर आगरा में रौनक फीकी

कोविड-19 महामारी के कारण बढ़ती सामाजिक-आर्थिक अनिश्चितताओं और स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं के बीच, आगरा में एक नया पर्यटन सीजन शुरू हो गया है, लेकिन आतिथ्य उद्योग के पुनरुत्थान की आशा और उत्साह के बिना।

विश्व पर्यटन दिवस पर मनाया जाने वाला जश्न गायब है। भले ही एक लंबे इंतजार के बाद, ताजमहल और आगरा किले सहित मुगल स्मारक अब पर्यटकों के लिए खुल चुके हैं, लेकिन हमेशा पर्यटकों से गुलजार रहने वाले ताज नगरी की रौनक इस बार फीकी है।

शहर के होटल व्यवसायी हवाई संपर्क और ट्रेन परिचालन सामान्य होने पर अक्टूबर के अंत में हालात कुछ बदलने उम्मीद कर रहे हैं। 'आगरा होटल्स एंड रेस्टोरेंट्स एसोसिएशन' के संस्थापक अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने आईएएनएस को बताया, "अभी इंटरनेशनल ट्रैफिक सुस्त है। शहर के एक दर्जन से अधिक पांच सितारा होटल अंतर्राष्ट्रीय ग्राहकों पर निर्भर हैं। बुकिंग के संबंध में स्थिति निराशाजनक है।"

वोडाफोन आइडिया ने शुरू किया 3जी यूजर्स को 4जी में अपग्रेड करने का काम


वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (वीआईएल) ने कुछ प्रमुख बाजारों में 3जी यूजर्स को 4जी में अपग्रेड करने का काम शुरू कर दिया है। रविवार को एक बयान में कंपनी ने कहा कि वोडाफोन और आइडिया दोनों नेटवर्क को आपस में मिलाकर 4जी की क्षमता को बेहतर बनाने का काम किया गया है। नई तकनीकों की मदद से 3जी स्पेमट्रम के एक बड़े हिस्से को 4जी में अपग्रेड किया जा रहा है।

बयान में कहा गया, "वीआईएल अब वी जीआईजीएनेट नेटवर्क पर अपने 3 जी उपयोगकतरओ को 4 जी डेटा स्पीड प्रदान करने में सक्षम होगा। फिलहाल कंपनी के एंटरप्राइज ग्राहकों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे 3जी सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से 4जी और 4जी आधारित आईओटी एप्लीकेशंस और सेवाओं में अपग्रेड किया जाएगा।"


मिठाई खरीदते समय जरूर चेक करें 'बेस्ट बिफोर डेट', 1 अक्टूबर से लिखना अनिवार्य


मिठाई खरीदते समय अब आप दुकानों में मिठाइयों की सजी थालियों पर 'बेस्ट बिफोर डेट' जरूर चेक करें जो कि एक अक्टूबर 2020 से हलवाइयों के लिए लिखना अनिवार्य होगा। मतलब, मिठाई जिस समय तक खाने योग्य होगी, उसकी तारीख मिठाई की थाली पर अब लिखनी होगी। हालांकि मिठाई बनाने की तारीख थाली पर लिखना अनिवार्य नहीं होगा, क्योंकि भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने इसे विनिमार्तों की इच्छा पर छोड़ दिया है। फेडरेशन ऑफ स्वीट्स एंड नमकीन मैनुफैक्चर्स (एफएसएनएम) डायरेक्टर फिरोज नकवी ने कहा कि इससे हलवाइयों को बड़ी राहत मिली है, लेकिन 'बेस्ट बिफोर डेट' लिखने में भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा क्योंकि यह व्यावहारिक नहीं है।

एफएसएसएआई ने 25 सितंबर के एक आदेश में मिठाइयों की खुली बिक्री के लिए दुकानों में मिठाइयों की थालियों पर 'बेस्ट बिफोर डेट' लिखना एक अक्टूबर से अनिवार्य कर दिया है, लेकिन मिठाई बनाने की तारीख लिखने की कोई बंदिश नहीं होगी। एफएसएसएआई ने आदेश में कहा है कि विनिर्माण की तिथि लिखना ऐच्छिक होगा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia