अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: इस देसी ऐप में 10 करोड़ डॉलर निवेश कर सकता है माइक्रोसॉफ्ट, जानें क्या रहेगा सोना-चांदी का भाव

त्योहारी सीजन में भारतीय बाजार में चांदी का भाव 90,000 रुपये प्रति किलो तक जा सकता है जबकि सोना 60,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर को छू सकता है। च माइक्रोसॉफ्ट भारत की क्षेत्रीय (रीजनल) भाषा के सोशल मीडिया ऐप शेयरचैट में लगभग 10 करोड़ डॉलर का निवेश करने के लिए तैयार है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

त्योहारी सीजन में 90000 रुपये तक उछलेगी चांदी, सोना बनेगा 60 हजारी!

कोरोना महामारी से मिल रही आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए दुनियाभर में किए जा रहे उपाय, केंद्रीय बैंकों द्वारा की गई ब्याज दरों में कटौती, अमेरिकी डॉलर में कमजोरी से सोने और चांदी में निवेशक करने के प्रति निवेशकों की दिलचस्पी बढ़ गई है जिससे इनकी कीमतों में लगातार तेजी बनी हुई है। बुलियन बाजार के जानकार बताते हैं कि त्योहारी सीजन में भारतीय बाजार में चांदी का भाव 90,000 रुपये प्रति किलो तक जा सकता है जबकि सोना 60,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर को छू सकता है। हालांकि सोना-चांदी की तेजी पर सरार्फा बाजार कारोबारी संगठन का आकलन अलग-अलग है।केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि सोना काफी महंगा हो गया है, इसलिए आभूषण की मांग चांदी में बढ़ सकती है, वहीं औद्योगिक मांग भी बनी हुई, इसलिए चांदी का भाव दिवाली तक 90,000 रुपये प्रति किलो तक जा सकता है। चांदी इस समय घरेलू बाजार में 78000 रुपये प्रति किलो से नीचे चल रही है और कोरोना काल में बीते पांच महीने में 44,000 रुपये प्रति किलो से ज्यादा महंगी हो चुकी है।

ट्विटर पर अब सरकारी अकाउंट्स को लेबल करने का काम शुरू होगा

ट्विटर ने ऐलान किया है कि वह राज्य द्वारा नियंत्रित मीडिया संगठनों के ट्वीट्स को एम्पलीफाई नहीं करेगा और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य देशों: चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटने और अमेरिका के सरकारी मीडिया संगठनों व प्रमुख सरकारी अधिकारियों के अकांउट्स को लेबल करेगा ट्विटर ने कहा कि उनकी लेबलिंग की नई नीति में इन पांच देशों से प्रमुख सरकारी अधिकारियों के अकाउंट्स शामिल होंगे जैसे कि विदेशी मंत्री, संस्थागत संस्थाएं, राजदूत, आधिकारिक प्रवक्ता और प्रमुख राजनयिक नेता इत्यादि।कंपनी ने गुरुवार को एक बयान में कहा, "इस वक्त हमारा ध्यान उन वरिष्ठ अधिकारियों और संस्थाओं पर है जो विदेशी राज्यों की आधिकारिक आवाज हैं।"इस कदम से जो अकाउंट्स प्रभावित होंगे, वे नोटिफिकेशंस या सर्च रिजल्ट में कम दिखाई देंगे।ट्विटर राज्य से संबद्ध मीडिया संस्थाओं, उनके संपादकों और उनके वरिष्ठ कर्मचारियों के खातों को भी लेबल करेगा।

किया मोटर्स ने पेश की बिल्कुल नई स्मार्ट अर्बन कॉम्पैक्ट एसयूवी सोनेट

विश्व के सबसे बड़े वाहन निमार्ताओं में शामिल किया मोटर्स कापोर्रेशन ने शुक्रवार को पूरी दुनिया के सामने 'किया सोनेट' की डिजिटल प्रस्तुति की। इसका निर्माण आंध्र प्रदेश के अनंतपुर में स्थित किया के उत्पादन केंद्र में किया गया है। सोनेट किया की बिल्कुल नई स्मार्ट अर्बन कॉम्पैक्ट एसयूवी है। यह सेल्टॉस के बाद ब्राण्ड का आधुनिकतम मेड इन इंडिया वैश्विक प्रोडक्ट है। नई सोनेट के साथ ही, किया मोटर्स ने उभरते हुए कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में प्रवेश किया है और अपने सेगमेंट के पहले फीचर्स के साथ नए मानदंड भी स्थापित किए हैं।कंपनी ने फरवरी, 2020 में दिल्ली में आयोजित ऑटो एक्सपो में सोनेट कॉन्सेप्ट की ग्लोबल प्रस्तुति के बाद उत्पादन के लिए तैयार इस मॉडल का विश्व प्रीमियर आज किया है। भारत में शीघ्र ही नई कार की बिक्री शुरू हो जाएगी। इसके साथ ही किया के अन्य वैश्विक बाजार में कार बिकने लगेगी।

देसी ऐप शेयरचैट में 10 करोड़ डॉलर का निवेश कर सकता है माइक्रोसॉफ्ट

माइक्रोसॉफ्ट-टिकटॉक सौदे को लेकर काफी समय से खबरें सामने आ रही हैं। ऐसे में सभी की नजर इस सौदे पर टिकी हुई है। इस बीच माइक्रोसॉफ्ट भारत की क्षेत्रीय (रीजनल) भाषा के सोशल मीडिया ऐप शेयरचैट में लगभग 10 करोड़ डॉलर का निवेश करने के लिए तैयार है। इस मामले से परिचित लोगों ने शुक्रवार को आईएएनएस को बताया कि वार्ता शुरूआती चरण में है और माइक्रोसॉफ्ट का निवेश ऐप के मूल्य का लगभग तीसरा हिस्सा होगा। शेयरचैट अपने विस्तार के लिए नए सिरे से फंडिंग करने में जुटा हुआ है।शेयरचैट के पास देश में 14 करोड़ से अधिक मासिक सक्रिय (एक्टिव) उपयोगकर्ताओं का यूजर बेस है।ऐप 15 भाषाओं में उपलब्ध है, जिसमें हिंदी, मलयालम, गुजराती, मराठी, पंजाबी, तेलुगू, तमिल, बंगाली, ओडिया, कन्नड़, असमिया, हरियाणवी, राजस्थानी, भोजपुरी और उर्दू शामिल हैं।शेयरचैट एक देसी ऐप है, जो कि कुल 15 स्थानीय भाषाओं में उपलब्ध है और काफी विख्यात भी हो चुकी है। यही कारण है कि माइक्रोसॉफ्ट से पहले ट्विटर भी शेयरचैट में 10 करोड़ डॉलर का निवेश कर चुका है।

फेसबुक के स्टाफ 2021 के मध्य तक करेंगे घर से काम

फेसबुक की तरफ से अपने 48,000 कर्मियों को जुलाई, 2021 तक घर से काम करने की बात कही गई है और इतना ही नहीं, कंपनी की तरफ से हर कर्मचारी को अतिरिक्त 1,000 हजार डॉलर की राशि भी दी जाएगी ताकि होम ऑफिस के लिए वे जरूरी सामान खरीद सकें। फेसबुक ने पहले अपने स्टॉफ को साल 2020 के अंत तक घर पर रहकर काम करने के लिए कहा था।फेसबुक के एक प्रवक्ता के हवाले से गुरुवार को द वर्ज ने अपनी रिपोर्ट में कहा, "स्वास्थ्य और सरकारी विशेषज्ञों के मार्गदर्शन के साथ-साथ इन मामलों में हमारी आंतरिक चर्चा से लिए गए निर्णय के आधार पर हम कर्मचारियों को जुलाई, 2021 तक स्वेच्छा से घर से काम करना जारी रखने की अनुमति दे रहे हैं। इसके अलावा, हम कर्मचारियों को होम ऑफिस के लिए सभी जरूरी सामनों की खरीददारी करने के लिए अतिरिक्त 1,000 डॉलर भी दे रहे हैं।"

लोकप्रिय
next