व्यापार की 5 बड़ी खबरें: पेट्रोल के दाम छठे दिन भी बढ़े, डीजल भी हुआ महंगा और फेसबुक, इंस्टाग्राम फिर डाउन 

पेट्रोल और डीजल के दाम में महंगाई से राहत मिलने की कोई गुंजाइश नहीं दिख रही है। लगातार छठे दिन पेट्रोल के दाम में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी रहा। दुनियाभर के विभिन्न हिस्सों में यूजर्स ने ट्विटर के माध्यम से फेसबुक, इंस्टाग्राम और मैसेंजर चलाने में परेशानी होने की शिकायत की।

फोटो: सोेशल मीडिया
फोटो: सोेशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पेट्रोल के दाम में छठे दिन वृद्धि जारी, डीजल भी हुआ महंगा

पेट्रोल और डीजल के दाम में महंगाई से राहत मिलने की कोई गुंजाइश नहीं दिख रही है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पिछले दिनों कच्चे तेल के दाम में हुई वृद्धि के कारण लगातार छठे दिन मंगलवार को पेट्रोल के दाम में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी रहा। लगातार छह दिनों की स्थिरता के बाद डीजल की कीमत भी बढ़ गई है। पेट्रोल दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में फिर 15 पैसे जबकि चेन्नई में 16 पैसे प्रति लीटर मंहगा हो गया है और चारों महानगरों में डीजल के दाम में पांच पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। इससे पहले तेल विपणन कंपनियों ने लगातार छह दिनों तक डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया था।

फेसबुक, इंस्टाग्राम हुए डाउन, यूजर्स परेशान

अमेरिका और ब्रिटेन के कई भागों समेत दुनियाभर के विभिन्न हिस्सों में यूजर्स ने ट्विटर के माध्यम से फेसबुक, इंस्टाग्राम और मैसेंजर चलाने में परेशानी होने की शिकायत की। ऑनलाइन रुकावटों पर नजर रखने वाली वेबसाइट डाउनडिटेक्टर के अनुसार, फेसबुक के संपूर्ण नेटवर्क पर रुकावट नहीं दिख रही है लेकिन दुनियाभर के कई हिस्सों में इसकी सेवाओं में रुकावट पाई गई है।

बढ़त के साथ बंद हुआ बाजार, 9.5 लाख करोड़ के पार RIL का मार्केट कैप

सप्‍ताह के दूसरे कारोबारी दिन मंगलवार को भारतीय शेयर बाजार में तेजी दर्ज की गई। कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 185.51 अंक की तेजी के साथ 40,469.70 अंक के स्‍तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी 55.60 अंक की बढ़त के साथ 11,940.10 अंक पर रहा। बीएसई इंडेक्‍स में कारोबार के अंत में सबसे बड़ी गिरावट यस बैंक के शेयर में रही। यस बैंक के शेयर 2.66 फीसदी की फिसलन के साथ बंद हुए. वहीं एयरटेल के शेयर 7 फीसदी से अधिक तेजी के साथ बंद हुए। जबकि वोडाफोन-आइडिया में रिकॉर्ड 38.20 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई।

जलवायु परिवर्तन कृषि के लिए गंभीर चुनौती, सही जानकारी की दरकार : बिल गेट्स

प्रौद्योगिकी क्षेत्र के दिग्गज कारोबारी और दुनिया के सबसे अमीर बिल गेट्स ने जलवायु परिवर्तन को कृषि क्षेत्र के लिए गंभीर चुनौती बताया है। हालांकि उनका कहना है कि किसानों को सही जानकारी मिलने से इस चुनौती से निपटा जा सकता है। देश की राजधानी दिल्ली में चल रहे चार दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कृषि सांख्यिकी सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में सोमवार को बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे बिल गेट्स ने कहा कि किसानों को अगर सही जानकारी मिले तो वे जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से बच सकते हैं।

वायु प्रदूषण संबंधी बीमारी को भी कवर करेगा स्वास्थ्य बीमा

देश के लगभग सभी मेट्रो शहर इन दिनों वायु प्रदूषण से जूझ रहे हैं। इसकी वजह से लोग गंभीर रूप से प्रदूषित हवा में सांस लेने को मजबूर हैं, जो कि उनकी सेहत और स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डाल रही है। भारत में हेल्थ रिस्क रैंकिंग के लिहाज से वायु प्रदूषण, अब मृत्यु होने की तीसरी सबसे बड़ी वजह बन चुका है। ऐसे में प्रदूषण से होने वाली बीमारी को कवर करने वाला स्वास्थ्य बीमा का मुद्दा जरूरी हो गया है। प्रदूषण से होने वाली बीमारियों का इलाज ज्यादातर लोग ओपीडी में कराते हैं क्योंकि इन बीमारियों में अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ती। भारत में अब तक बीमा प्लान में ओपीडी इलाज में हुए खर्च की भरपाई नहीं होती थी, लेकिन अब कई इंश्योरेंस प्लान ऐसे हैं जो ओपीडी पर हुए खर्च समेत कई ऐसे इलाज, जिनके लिए अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ती, उनकी भी भरपाई करते हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Published: 19 Nov 2019, 6:02 PM
लोकप्रिय