अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: पेट्रोल-डीजल की कीमत में फिर इजाफा और सरकार के इस फैसले से किसानों को होगा नुकसान

पेट्रोल और डीजल के दाम में एक दिन के विराम के बाद सोमवार को फिर बढ़ोतरी हुई। पेट्रोल से ज्यादा डीजल के दाम में इजाफा हुआ है। सरकार द्वारा टैरिफ रेट कोटा के तहत 10000 टन मिल्क पाउडर विदेशों से मंगाने के फैसले के बाद किसानों की परेशानी और बढ़ गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सेंसेक्स 210 अंक फिसलकर 35000 से नीचे बंद हुआ, 10312 पर निफ्टी

विदेशी बाजारों से मिले कमजोर संकेतों से सोमवार को घरेलू बाजार में बिकवाली का दबाव बना रहा। सेंसेक्स पिछले सत्र से 209.75 अंकों यानी 0.60 फीसदी फिसलकर 34961.52 पर बंद हुआ। निफ्टी भी पिछले सत्र से 70.60 अंकों यानी 0.68 फीसदी की कमजोरी के साथ 10,312.40 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 244.32 अंक फिसलकर 34,926.95 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 34,662.06 तक लुढ़का जबकि ऊपरी स्तर 35032.36 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी बीते सत्र के मुकाबले 71.05 अंकों की कमजोरी के साथ 10311.95 पर खुला और कारोबार के दौरान 10,223.60 तक लुढ़का जबकि निफ्टी का ऊपरी स्तर 10337.95 रहा।

कोरोना प्रभाव : दूध की खपत घटी, किसानों को भाव मिल रहा 25 फीसदी कम

कोरोना काल में दूध की खपत घटने की मार किसानों पर पड़ी है। खपत कम होने की वजह से किसानों को दूध का बाजिव दाम नहीं मिल पा रहा है। होटल, रेस्तरां, कैंटीन और हलवाई की दुकानों में दूध की खपत घट जाने से कीमतों में गिरावट आई है। लॉकडाउन से पहले किसान जिस भाव पर दूध बेच रहे थे, उसके मुकाबले अब करीब 25 फीसदी कम भाव पर बेचने को मजबूर हैं।

भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक है, जहां रोजाना करीब 50 करोड़ लीटर दूध का उत्पादन होता है। कोरोना काल में शादी-समारोह व अन्य बड़े आयोजनों पर पाबंदी होने और होटल, रेस्तरां, व कैंटीन ठीक ढंग से नहीं खुलने के कारण दूध और इससे बने उत्पाद खासतौर से आइसक्रीम की मांग पर असर पड़ा है। इस तरह खपत कम हो जाने से किसानों को दूध का उचित भाव नहीं मिल रहा है।

मिल्क पाउडर आयात से किसानों को होगा नुकसान : डेयरी उद्योग

कोराना काल में होटल, रेस्तरा, कैंटीन (होरेका) सेगमेंट में दूध और दूध से बने उत्पादों की मांग कम हो जाने के बाद घरेलू डेयरी उद्योग खपत के बाद बचा दूध (सरप्लस) मिल्क का उपयोग मिल्क पाउडर और बटर बनाने में करने लगा है लेकिन सरकार द्वारा टैरिफ रेट कोटा के तहत 10000 टन मिल्क पाउडर विदेशों से मंगाने के फैसले के बाद उनकी परेशानी बढ़ गई। डेयरी उद्योग इसे असमय लिया फैसला बताते हैं। डेयरी कारोबारी कहते हैं कि मिल्क पाउडर आयात से देश के किसानों को नुकसान होगा।

देश में डेयरी उत्पादों का प्रमुख ब्रांड 'अमूल' का विक्रेता गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (जीसीएमएमएफ) के प्रबंध निदेशक डॉ. आर. एस. सोढ़ी कहते हैं कि सस्ती ड्यूटी पर मिल्क पाउडर का आयात करने का फैसला असमय लिया गया फैसला है।

एप्पल 10.8 इंच आईपैड, 8.5 इंच आईपैड मिनी लॉन्च करने की तैयारी में

एप्पल कथित तौर पर अपने आईपैड्स को दो नए वेरिएंट्स लॉन्च करने की तैयारी में है। टेक कम्पनी इस साल के अंत तक 10.8 इंच आईपैड और 20121 में 8.5 इंच आईपैड मिनी लॉन्च करने की तैयारी में है।

मशहूर एप्पल एनालिस्ट मिंग ची कू के मुताबिक 10.8 इंच आईपैड मौजूदा 10.2 इंच मॉडल या फिर 10.5 इंच आईपैड एअर की जगह लेगा। मैकरियूमर्स की रिपोर्ट के अनुसार 8.5 इंच आईपैड मिनी कम्पनी का बिल्कुल नया उत्पाद होगा। कू के मुताबिक एप्पल 10.8 इंच आईपैड, 8.5 इंच आईपैड मिनी में 20 वॉट पावर एडाप्टर का उपयोग करेगा।

पेट्रोल से ज्यादा बढ़ा डीजल का दाम, 1 दिन के विराम के बाद फिर बढ़ा भाव

पेट्रोल और डीजल के दाम में एक दिन के विराम के बाद सोमवार को फिर बढ़ोतरी हुई। पेट्रोल से ज्यादा डीजल के दाम में इजाफा हुआ है। तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल के दाम में चार-पांच पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की है, जबकि डीजल का भाव 11.13 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का भाव बढ़कर क्रमश: 80.43 रुपये, 82.10 रुपये, 87.19 रुपये और 83.63 रुपये प्रति लीटर हो गया है। डीजल का दाम भी चारों महानगरों में बढ़कर क्रमश: 80.53 रुपये, 75.64 रुपये, 78.83 रुपये और 77.72 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

इस महीने सात जून से तेल की कीमतों वृद्धि का सिलसिला शुरू हुआ, जिसके बाद 23 दिनों में 22 बार डीजल के दाम में वृद्धि हुई जबकि पेट्रोल की कीमत में 21 बार वृद्धि हुई है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय