अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: मोदी सरकार के राहत पैकेज पर RBI के डायरेक्टर ने उठाए सवाल, इस मामले में बताया विफल

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के एक डायरेक्टर और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे सतीश काशीनाथ मराठे ने कोरोना से निपटने के लिए मोदी सरकार के राहत पैकेज पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि तीन महीने का मो​रेटोरियम काफी नहीं है और एनपीए में नरमी को राहत पैकेज का हिस्सा होना चाहिए था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मोदी सरकार के राहत पैकेज पर RBI के डायरेक्टर ने उठाए सवाल, इस मामले में बताया विफल

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के एक डायरेक्टर और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे सतीश काशीनाथ मराठे ने कोरोना से निपटने के लिए मोदी सरकार के राहत पैकेज पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि तीन महीने का मो​रेटोरियम काफी नहीं है और एनपीए में नरमी को राहत पैकेज का हिस्सा होना चाहिए था।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'राहत पैकेज अच्छी और प्रगतिशील सोच वाला है, लेकिन यह अर्थव्यवस्था को उबारने में अग्रिम योद्धाओं के रूप में बैंकों को शामिल करने के मामले में विफल रहा है। तीन महीने का मोरेटोरियम पर्याप्त नहीं है। एनपीए, प्रोविजनिंग में नरमी आदि राहत पैकेज का हिस्सा होना चाहिए था ताकि भारत को एक बार फिर तरक्की के रास्ते पर ले जाया सके।' उन्होंने यह भी कहा कि सरकार के राहत पैकेज से मांग बढ़ने की उम्मीद कम है, क्योंकि इसमें सप्लाई साइड पर जोर है।

लगातार तीसरे दिन शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्‍स 30,930 अंक के पार बंद

सप्‍ताह के चौथे कारोबारी दिन यानी गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत उतार-चढ़ाव के साथ हुई। लाल निशान पर खुलने के बाद सेंसेक्‍स में रिकवरी दिखी और यह एक बार फिर 31 हजार अंक के करीब आ गया। इसी तरह निफ्टी करीब 40 अंकों की तेजी के साथ 9100 अंक के स्‍तर को पार कर लिया। गुरुवार को कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 114.29 अंक या 0.37 फीसदी की बढ़त के साथ 30,932.90 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की बात करें तो 39.70 अंक या 0.44 फीसदी की तेजी रही और यह 9,106.25 अंक पर रहा।

घरेलू उड़ानों के लिए न्यूनतम और अधिकतम किराया निर्धारित

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि हमने घरेलू उड़ानों के लिए एक न्यूनतम और अधिकतम किराया निर्धारित किया है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली-मुंबई की दूरी (90-120 मिनट) के बीच की यात्रा के लिए न्यूनतम किराया 3500 रुपये होगा और अधिकतम किराया 10,000 रुपये होगा। उन्होंने बताया कि यह नया किराया 24 अगस्त को आधी रात होने से एक मिनट पहले तक लगभग तीन महीनों के लिए लागू रहेगा।

वैश्विक बाजार में 1 महीने में ब्रेंट क्रूड 130 फीसदी तेज, भारत में 230 फीसदी उछला कच्चा तेल

अमेरिका में तेल के भंडार में कमी और तेल निर्यातक देशों का समूह ओपेक व गैर-ओपेके देशों के बीच उत्पादन कटौती से कच्चे तेल के दाम में लगातार तेजी देखी जा रही है। बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के दाम में करीब 130 फीसदी की तेजी आई है जबकि भारतीय वायदा बाजार में कच्चे तेल के दाम में 28 अप्रैल के बाद 230 फीसदी का उछाल आया है।

वहीं, अमेरिकी क्रूड डब्ल्यूटीआई का भाव 20 अप्रैल की एतिहासिक गिरावट शून्य से नीचे 40.32 डॉलर प्रति बैरल के निचले स्तर से करीब 75 डॉलर प्रति बैरल तेज हो गया है।

कमोडिटी बाजार के जानकार बताते हैं कि कोरोना के कहर से चरमराई आर्थिक गतिविधियों के दोबारा पटरी पर लौटने की उम्मीदों से कच्चे तेल की मांग बढ़ने के आसार हैं। अमेरिका में घटते तेल के भंडार के साथ-साथ ओपेक व गैर-ओपेक देशों के बीच तेल उत्पादन में कटौती का करार इस महीने से लागू होने से तेल के दाम में तेजी लौटी है।

राहत पैकेज नहीं मिलने पर ट्रांसपोर्टरों ने दी चक्का जाम की चेतावनी

केन्द्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में राहत नहीं मिलने पर ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने ट्रकों का चक्का जाम करने की चेतावनी दी है। ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने कहा है कि अगर सरकार ट्रांसपोर्ट व्यवसाय को रेस्क्यू पैकेज नहीं देती है तो वे लोग ट्रक नहीं चलाएंगे, जिससे देश में आवश्यक वस्तुओं की किल्लत हो सकती है और महंगाई बढ़ सकती है।

इस बारे में ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट के अध्यक्ष कुलतरण सिंह ने कहा है कि 20 लाख करोड़ का सरकार ने आर्थिक पैकेज दिया है। इसमें सभी सेक्टर का ध्यान रखा गया है लेकिन ट्रांसपोर्ट व्यवसाय को इससे महरूम रखा गया। इससे हम लोग निराश हैं। सरकार के इस कदम से ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री से जुड़े 20 लाख लोगों के सामने गंभीर संकट उठ खड़ा हुआ है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय