अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: उपभोक्ता बाजार में पहली तिमाही में रिकॉर्ड बढ़ोतरी और 4.22 लाख से अधिक घरों के निर्माण में देरी

उपभोक्ता आंतरिक एसएसडी बाजार शिपमेंट ने 2021 की पहली तिमाही में 34 प्रतिशत की बढ़ोतरी (तिमाही पर तिमाही) दर्ज की। शीर्ष सात शहरों में 2021 के अंत तक 4.22 लाख से अधिक आवास इकाइयों को पूरा होने में देरी हो सकती है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

दुकान ने डंजो और शिपरॉकेट के साथ साझेदारी की - प्लेटफॉर्म पर डिलिवरी का समावेश किया 

ऑनलाईन स्टोर्स के लिए अग्रणी सॉफ्टवेयर एज ए सॉल्यूशन प्लेटफॉम- दुकान ने मंगलवार को भारत के प्रमुख ऑन-डिमांड कॉमर्स एवं डिलिवरी प्लेटफॉर्म-डंजो और अग्रणी टेक-इनेबल्ड लॉजिस्टिक्स एग्रीग्रेशन प्लेटफॉर्म-शिपरॉकेट के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की। इस साझेदारी के तहत सुगम रीटेल अनुभव प्रदान करने के लिए प्लेटफॉर्म में डिलिवरी का समावेशन किया जाएगा। महामारी के चलते होम डिलिवरी की मांग में हुई वृद्धि से दीर्घकालिक रूझान प्रदर्शित होता है, जो महामारी समाप्त होने के बाद भी दुनिया में सामान्य रूप से चलता रहेगा। इसलिए यह आवश्यक हो गया है कि रीटेलर्स बेहतर प्रबंधन एवं स्केलेबिलिटी के लिए सप्लाई चेन की बाधाओं को दूर कर भविष्य के लिए तैयार हों।

शिपरॉकेट इन्वेंटरी भेजने से लेकर डिस्पैच करने और ऑर्डर ट्रैक करने तक पूर्णत: ऑटोमेटेड एंड-टू-एंड वर्कफ्लो प्रदान करता है, जबकि डंजो की विशेषज्ञता ऑन-डिमांड डिलिवरी में है, जिससे सुनिश्चित होता है कि ग्राहकों को उनकी पसंद की चीज उनके अपेक्षित समय पर मिले।

भारत: उपभोक्ता बाजार में पहली तिमाही में रिकॉर्ड बढ़ोतरी

उपभोक्ता आंतरिक एसएसडी बाजार शिपमेंट ने 2021 की पहली तिमाही में 34 प्रतिशत की बढ़ोतरी (तिमाही पर तिमाही) दर्ज की। वार्षिक आधार पर, समग्र बाजार ने वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में 172 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की। इसकी जानकारी मंगलवार को एक रिपोर्ट के जरिये सामने आई। मार्केट रिसर्च फर्म सीएमआर की 'इंडिया हार्ड ड्राइव मार्केट रिव्यू फॉर क्यू1 सीवाई2021' के अनुसार, पीसीआई/एनवीएमई एसएसडी शिपमेंट्स ने छोटे आधार पर 433 फीसदी (वर्ष-दर-वर्ष) बढ़ोतरी दर्ज की, जबकि पोर्टेबल एसएसडी मार्केट शिपमेंट्स में साल की पहली तिमाही में 64 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

समग्र उपभोक्ता आंतरिक एसएसडी बाजार में, डब्ल्यूडी ने 14 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी पर कब्जा किया, उसके बाद एडाटा ने 13 प्रतिशत और क्रूसियल ने 12 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ तीसरे स्थान पर है।


लेनोवो ने भारत में दिनेश नायर को उपभोक्ता व्यवसाय निदेशक नियुक्त किया

फोटो: IANS
फोटो: IANS

वैश्विक प्रौद्योगिकी दिग्गज लेनोवो ने सोमवार को दिनेश नायर को भारतीय क्षेत्र के लिए उपभोक्ता व्यवसाय निदेशक नियुक्त करने की घोषणा की। नायर ने शैलेंद्र कात्याल का स्थान लिया है, जिन्हें लेनोवो इंडिया के लिए साइट लीडर और देश में लेनोवो पीसी और स्मार्ट डिवाइस व्यवसाय के प्रबंध निदेशक के रूप में पदोन्नत किया गया है।

कात्याल ने एक बयान में कहा, "मुझे दिनेश को उपभोक्ता व्यवसाय की बागडोर सौंपते हुए गर्व महसूस हो रहा है। साथ ही, यह आंतरिक रूप से प्रतिभा विकसित करने के लिए हमारी प्रतिबद्धता का प्रदर्शन है। मुझे यकीन है कि वह उपभोक्ता नेतृत्व टीम के साथ व्यापार को नई ऊंचाइयों तक लेकर जाएंगे।"

पेंशनभोगियों को एनपीएस में अपने योगदान को उच्च सीमा के साथ वापस लेने की अनुमति संभव

सेवानिवृत्त व्यक्तियों को अपनी पारिवारिक आपात स्थितियों को पूरा करने या बेहतर रिटर्न देने वाले उपकरणों में निवेश करने के लिए अपने पेंशन फंड के पैसे का उपयोग करने के लिए जल्द ही अपने पूरे जीवनकाल के योगदान को वापस लेने की अनुमति दी जाएगी।

सरकार के सूत्रों ने कहा कि पेंशन नियामक, पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) के ग्राहकों के लिए एक बेहतर विकल्प के साथ आने पर विचार कर रहा है। इसके तहत वे अपना पूरा पैसा एक बार में निकाल सकेंगे यदि पेंशन 5 लाख रुपये तक का कॉर्पस हो।

वर्तमान में, 2 लाख रुपये की सीमा है, जिसमें एक एनपीएस ग्राहक पूरे पैसे निकाल सकता है। इस सीमा से परे, वर्तमान में केवल 60 प्रतिशत पेंशन राशि ही निकाली जा सकती है, जबकि 40 प्रतिशत योगदान को सरकार द्वारा अनुमोदित वार्षिकी में अनिवार्य रूप से रखा जाता है।


4.22 लाख से अधिक घरों के निर्माण में देरी : एनारॉक

फोटो: IANS
फोटो: IANS

गंभीर कोविड संकट के कारण राज्यों में प्रतिबंध और तालाबंदी हो गई है, शीर्ष सात शहरों में 2021 के अंत तक 4.22 लाख से अधिक आवास इकाइयों को पूरा होने में देरी हो सकती है। एनारॉक की एक रिपोर्ट ने यह जानकारी दी। रिपोर्ट के अनुसार, एनसीआर में लगभग 28 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ अधिकतम पूर्णता देखी जाएगी, इसके बाद एमएमआर 26 प्रतिशत और पुणे में लगभग 18 प्रतिशत होगा।

दूसरी कोविड -19 लहर के बीच आपूर्ति में प्रतिबंधों और व्यवधानों के कारण कुछ देरी हो सकती है। इसके अलावा, 2021 के अंत तक डिलीवर किए जाने वाले कुल घरों में से लगभग 72 प्रतिशत पहले ही बिक चुके हैं।

अगर दूसरी लहर के नतीजे फिर से निर्माण गतिविधि को प्रभावित नहीं करते हैं, तो शीर्ष सात शहरों में साल के अंत तक लगभग 1.18 लाख घर खरीद के लिए उपलब्ध होते।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia