अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: खुदरा महंगाई दर में फिर इजाफा, नवंबर में खाने-पीने की चीजों के दाम 10.01 फीसदी तक बढ़े

महंगाई के मोर्चे पर मोदी सरकार नवंबर महीने में भी झटका लगा है। खुदरा महंगाई दर में खासी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। नवंबर के महीने में खुदरा महंगाई दर 4.62 फीसदी से बढ़कर 5.54 फीसदी हो गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

खुदरा महंगाई दर में फिर इजाफा

महंगाई के मोर्चे पर मोदी सरकार नवंबर महीने में भी झटका लगा है। खुदरा महंगाई दर में खासी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। नवंबर के महीने में खुदरा महंगाई दर 4.62 फीसदी से बढ़कर 5.54 फीसदी हो गई है। वहीं अक्टूबर में औद्योगिक उत्पादन दर में सितंबर के मुकाबले अक्टूबर में थोड़ी सुधार देखने को मिली है।

इससे पहले अक्टूबर में खुदरा मुद्रास्फीति 4.62 फीसदी थी। जबकि सितंबर महीने में खुदरा महंगाई दर 3.99 फीसदी थी। इस तरह से नवंबर में खुदरा महंगाई दर तीन साल में सबसे ऊपर पहुंच गई है।

सेंसेक्स 150 अंक चढ़ा, निफ्टी में भी तेजी

देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को तेजी दर्ज की गई। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 169.14 अंकों की तेजी के साथ 40,581.71 पर और निफ्टी 61.65 अंकों की तेजी के साथ 11,971.80 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 148.77 अंकों की तेजी के साथ 40,561.34 पर खुला और 169.14 अंकों या 0.42 फीसदी तेजी के साथ 40,581.71 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 40,712.65 के ऊपरी और 40,490.69 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के मिडकैप व स्मॉलकैप सूचकांक में तेजी रही। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 100.22 अंकों की तेजी के साथ 14,695.67 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 77.37 अंकों की तेजी के साथ 13,223.98 पर बंद हुआ।

सरकार का बीएसएनएल, एमटीएनएल के विनिवेश से इनकार

सरकार ने संकटग्रस्त दूरसंचार सार्वजनिक उपक्रमों भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) की हिस्सेदारी बेचने या विनिवेश की किसी भी योजना से गुरुवार को इनकार कर दिया है। सरकार ने संसद में कहा कि चालू वित्त वर्ष में दोनों कंपनियों की परिसंपत्तियों के मुद्रीकरण से 200 करोड़ और 300 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य तय किया गया है।

संकटग्रस्त क्षेत्रों में निवेश बढ़ाने के लिए विधेयक पेश

केंद्र सरकार ने गुरुवार को लोकसभा में दिवाला और दिवालियापन संहिता (दूसरा संशोधन) विधेयक 2019 पेश किया। इस विधेयक पर विपक्ष ने तीखी आपत्ति जताई और इसे स्थायी समिति को भेजने का अनुरोध किया। इस विधेयक में वित्तीय तौर पर संकटग्रस्त क्षेत्रों में निवेश को बढ़ावा देने और अड़चनों को दूर करने के लिए वित्त पोषण सुरक्षा के उद्देश्य से कॉर्पोरेट इन्सॉल्वेंसी रिजोल्यूशन प्रोसेस (सीआईआरपी) को कारगर बनाने का प्रावधान है। विधेयक केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किया गया।

पेट्रोल के दाम में मामूली गिरावट, डीजल का भाव स्थिर

पेट्रोल के दाम में दो दिनों की स्थिरता के बाद गुरुवार को मामूली गिरावट दर्ज की गई, जबकि डीजल के दाम में लगातार तीसरे दिन कोई बदलाव नहीं हुआ। तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम में पांच पैसे प्रति लीटर जबकि कोलकाता में छह पैसे प्रति लीटर की कटौती की है। हालांकि डीजल के दाम में स्थिरता बनी हुई है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम घटकर क्रमश: 74.95 रुपये, 77.61 रुपये, 80.60 रुपये और 77.92 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

लोकप्रिय