अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: फिच के बाद इस एजेंसी ने भी घटाया GDP ग्रोथ अनुमान, शेयर बाजारों में गिरावट जारी

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने बुधवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 5.5 फीसदी रहेगी। देश के शेयर बाजारों में बुधवार को गिरावट दर्ज की गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

इंडिया रेटिंग्स को वित्त वर्ष 2021 में जीडीपी वृद्धि दर 5.5 फीसदी रहने की उम्मीद

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने बुधवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 5.5 फीसदी रहेगी। वित्त वर्ष 2020 के लिए राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा अनुमानित सकल घरेलू उत्पाद की विकास दर की तुलना में एजेंसी का अनुमान थोड़ा ज्यादा है। एजेंसी के अनुसार, वर्तमान आर्थिक गतिविधि में मंदी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के उधार देने में कमी की वजह से है। दूसरे कारणों में आम लोगों की आमदनी और उनकी बचत में कमी आना तथा फंसी हुई पूंजी से जुड़े विवादों के जल्द निपटारे में देरी प्रमुख हैं। इंडिया रेटिंग्स ने कहा, "2021 में कुछ सुधार की उम्मीद है, लेकिन ये जोखिम लगातार बने रहने वाले हैं। परिणामस्वरूप, भारतीय अर्थव्यवस्था कम खपत के साथ-साथ कम निवेश की मांग में फंस गई है।" एजेंसी का मानना है कि इस स्थिति से निपटने के लिए नीतिगत स्तर पर बड़े कदम उठाने की जरूरत है ताकि घरेलू मांग बढ़े।

शेयर बाजारों में गिरावट, सेंसेक्स 208 अंक नीचे

देश के शेयर बाजारों में बुधवार को गिरावट दर्ज की गई। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 208.43 अंकों की गिरावट के साथ 41,115.38 पर और निफ्टी 62.95 अंकों की गिरावट के साथ 12,106.90 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 143.32 अंकों की तेजी के साथ 41,467.13 पर खुला और 208.43 अंकों या 0.50 फीसदी गिरावट के साथ 41,115.38 पर बंद हुआ। दिन भर के कारोबार में सेंसेक्स ने 41,532.29 ऊपरी स्तर और 41,059.04 के निचले स्तर को छुआ।

सेंसेक्स के 30 में से नौ शेयरों में तेजी रही। नेस्ले इंडिया (1.73 फीसदी), टीसीएस (1.61 फीसदी), इंफोसिस (1.06 फीसदी), एचसीएल टेक (1.04 फीसदी) व भारतीय स्टेट बैंक (0.78 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही।

बजट के दिन शनिवार को बीएसई में होगा कारोबार

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) ने सर्कुलर जारी कर कहा है कि एक फरवरी, 2020 यानी शनिवार को बजट के दिन घरेलू शेयर बाजार खुला रहेगा और उसमें कारोबार होगा। कारोबार का समय सामान्य रूप से सुबह 9:15 बजे से अपराह्न् 3:30 बजे तक रहेगा। एक्सचेंज का प्री-ओपन ट्रेड सुबह नौ बजे से 9:15 बजे के बीच होगा। एक्सचेंज ने मंगलवार देर रात एक नोटिस के जरिए यह जानकारी दी। आमतौर पर शनिवार को शेयर बाजार बंद रहते हैं।

यह पहली बार नहीं होगा, जब बजट के मौके पर घरेलू शेयर बाजार शनिवार को खुला रहने वाले हैं। इससे पहले पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली ने 28 फरवरी, 2015 को शनिवार के दिन बजट पेश किया था और उस दिन शेयर बाजार खुले रहे थे।

छह दिन बाद पेट्रोल, डीजल की कीमत स्थिर, कच्चे तेल में नरमी जारी

पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार छह दिनों से जारी गिरावट पर ब्रेक लग गया है। तेल विपणन कंपनियों ने बुधवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया। उधर, मांग के मुकाबले कच्चे तेल की आपूर्ति ज्यादा होने के कारण लीबिया से आपूर्ति बाधित होने से अंतर्राष्ट्रीय बाजार पर कोई खास असर नहीं पड़ने की संभावनाओं के बीच तेल के दाम में लगातार दूसरे दिन नरमी जारी रही। बीते छह दिनों में देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 88 पैसे प्रति लीटर सस्ता हुआ जबकि डीजल के दाम में उपभोक्ताओं को एक रुपया प्रति लीटर से ज्यादा की राहत मिली।

प्याज निर्यात पर प्रतिबंध हटाने पर विचार कर रही सरकार

चालू रबी सीजन में प्याज की पैदावार बढ़ने के मद्देनजर केंद्र सरकार इसके निर्यात पर प्रतिबंध हटाने पर विचार कर रही है। कृषि मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि प्याज की घरेलू आवक बढ़ने से इस महीने दाम में नरमी आई है, जिसके बाद प्याज के निर्यात से प्रतिबंध हटाने पर विचार किया जा रहा है और कभी भी इस संबंध में फैसला लिया जा सकता है। मालूम हो कि बीते मॉनसून में हुई भारी बारिश से खरीफ सीजन में प्याज की फसल खराब होने से देश में प्याज की उपलब्धता कम हो गई थी, जिसके कारण प्याज का दाम आसमान छू गया था। लिहाजा, केंद्र सरकार ने प्याज के दाम को काबू में रखने के लिए पिछले साल सितंबर में प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था। साथ ही, देश में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने के मद्देनजर सरकार ने प्याज का आयात करने का फैसला किया। सरकार ने अब तक विदेशों से 24,500 टन प्याज मंगाया है, जबकि आयात के कुल 40,000 टन के सौदे हुए हैं।

लोकप्रिय