अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: भारत में व्हाट्सएप यूजर बेस में तेजी से पैठ बना रहा टेलीग्राम और फिर बढ़े पेट्रोल, डीजल के दाम

भारत में कई मैसेजिंग एप के इस्तेमाल का चलन बढ़ रहा है और पिछले तीन साल में व्हाट्सएप के 42.9 फीसदी नए यूजर्स को लुभाने के बाद, टेलीग्राम अब सबसे आगे है। पेट्रोल और डीजल के दाम में बुधवार को फिर लगातार दूसरे दिन वृद्धि दर्ज की गई।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

रवि प्रकाश

पेट्रोल, डीजल के दाम फिर बढ़े, 8 सत्रों के बाद टूटा कच्चा तेल

फोटो: IANS
फोटो: IANS

पेट्रोल और डीजल के दाम में बुधवार को फिर लगातार दूसरे दिन वृद्धि दर्ज की गई। दिल्ली में पेट्रोल 87.60 रुपये प्रति लीटर जबकि मुंबई में 94.12 रुपये प्रति लीटर हो गया है। उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में लगातार आठ सत्रों की तेजी के बाद गिरावट आई है। हालांकि बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड 61 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर बना हुआ है। तेल विपणन कंपनियों ने बुधवार को पेट्रोल का भाव दिल्ली में 30 पैसे, कोलकाता और मुंबई में 29 पैसे, और चेन्नई में 26 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की। वहीं डीजल के दाम में दिल्ली और कोलकाता में 25 पैसे, मुंबई में 27 पैसे और चेन्नई में 24 पैसे प्रति लीटर बढ़ोतरी हुई है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का भाव बढ़कर क्रमश: 87.60 रुपये, 88.92 रुपये, 94.12 रुपये और 89.96 रुपये प्रति लीटर हो गया है। डीजल की कीमतें भी दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में बढ़कर क्रमश: 77.73 रुपये, 81.31 रुपये, 84.63 रुपये और 82.90 रुपये प्रति लीटर हो गई है।

नोकिया 5.4 और नोकिया 3.4 भारत में लॉन्च

फोटो: IANS
फोटो: IANS

एचएमडी ग्लोबल के स्वामित्व वाले हैंडसेट निर्माता नोकिया ने बुधवार को भारत में 2 नए स्मार्टफोन नोकिया 5.4 और नोकिया 3.4 लॉन्च किए हैं। इनमें से नोकिया 5.4 स्मार्टफोन 17 फरवरी से दो वैरिएंट के साथ फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध होगा। ये वैरिएंट - 4जीबी प्लस 64जीबी और 6जीबी प्लस 64जीबी क्रमश: 13,999 रुपये और 15,499 रुपये में उपलब्ध होंगे।

वहीं नोकिया 3.4 आने वाली 20 फरवरी से एमेजॉन और फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध होगा। इसका एक ही वैरिएंट 4जीबी प्लस 64जीबी आया है, जिसकी कीमत 11,999 रुपये है।

जेब्रोनिक्स ने वायरलेस सबवूफर के साथ डॉल्बी एटमॉस साउंडबार लॉन्च किया

फोटो: IANS
फोटो: IANS

स्वदेशी ऑडियो सिस्टम और लाइफस्टाइल एक्सेसरीज ब्रांड जेब्रोनिक्स ने बुधवार को वायरलेस सबवूफर के साथ डॉल्बी एटमॉस साउंडबार लॉन्च किया, जिसे जेब-जूक बार 9800 डीडब्ल्यूएस प्रो नाम दिया गया है। जेब्रोनिक्स ने कहा कि जूक बार 9800 डीडब्ल्यूएस प्रो डॉल्बी एटमॉस साउंडबार की कीमत फ्लिपकार्ट सेल पर 20,999 रुपये है और इसके अलावा यह पूरे भारत में प्रमुख खुदरा दुकानों पर भी उपलब्ध है। साउंडबार को एक आकर्षक डिजाइन के साथ पेश किया गया है और इसे एक जगह से दूसरी जगह ले जाना भी आसाना है।

वायरलेस सबवूफर उपयोगकर्ताओं को उनकी जरूरत के मुताबिक स्थिति को लेकर अधिक स्वतंत्रता (फ्रीडम ऑफ पोजिशन) भी प्रदान करता है। जेब-जूक बार 9800 डीडब्ल्यूएस प्रो डॉल्बी एटमॉस एक जोरदार और प्रभावशाली बास का अनुभव भी देता है, जो कि 16.51 से.मी. वायरलेस सबवूफर ड्राइवर के साथ बाजार में उतारा गया है।

भारत में व्हाट्सएप यूजर बेस में तेजी से पैठ बना रहा टेलीग्राम : सर्वे

फोटो: IANS
फोटो: IANS

भारत में कई मैसेजिंग एप के इस्तेमाल का चलन बढ़ रहा है और पिछले तीन साल में व्हाट्सएप के 42.9 फीसदी नए यूजर्स को लुभाने के बाद, टेलीग्राम अब सबसे आगे है। बुधवार को एक नए सर्वेक्षण में यह खुलासा हुआ है। मार्केट रिसर्च फर्म टेकआर्क के अनुसार, हालांकि, व्हाट्सएप वर्तमान में अपने प्लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले देश में 53 प्रतिशत से अधिक यूजर्स के साथ मैसेजिंग लीडर बना हुआ है, टेलीग्राम ने इसके अधिकांश यूजर्स को लुभाया है, इसके बाद सिग्नल है जिसने पिछले एक साल में 47 प्रतिशत व्हाट्सएप यूजर्स को अपने अतिरिक्त सुरक्षा पेशकश के साथ लुभाया है।

15 मई से आगामी व्हाट्सएप डेटा गोपनीयता नीति के मामले में, केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने मैसेजिंग प्लेटफॉर्म को नई नीति वापस लेने के लिए कहा। व्हाट्सएप के सीईओ विल कैथर्ट को लिखे अपने पत्र में, मंत्रालय ने प्लेटफॉर्म के 'सभी या कुछ भी नहीं' के दृष्टिकोण की आलोचना की है।

भारतीय दवा निर्माता कंपनी अमेरिका में भरेगी 3 अरब रुपये का जुर्माना

फोटो: IANS
फोटो: IANS

कैंसर की दवाएं बनाने वाले एक भारतीय कंपनी ने स्वीकार किया है कि उसने अमेरिकी अधिकारियों द्वारा पश्चिम बंगाल में उसके प्लांट का निरीक्षण करने से पहले रिकॉर्ड छिपाए थे और नष्ट किए थे। न्याय विभाग के अनुसार कंपनी ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए 50 मिलियन डॉलर (3 अरब रुपये से ज्यादा) जुर्माना देने की हामी भर दी है।

विभाग ने कहा है कि कंपनी फ्रेजेनियस काबी अन्कोलॉजी लिमिटेड (एफकेओएल) ने मंगलवार को लास वेगस में संघीय अदालत में सार्वजनिक तौर पर ये बातें स्वीकार कीं। कंपनी ने माना कि वह यूस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के जांचकर्ताओं को कुछ रिकॉर्ड उपलब्ध कराने में नाकाम रही। उसने फेडरल फूड, ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट का उल्लंघन किया और वह अपने इन अपराधों के लिए 30 मिलियन डॉलर का आपराधिक जुर्माना और 20 मिलियन डॉलर का दंड भरेगी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय