अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: रूस-यूक्रेन युद्ध से घरेलू शेयर बाजार में पांच फीसदी की भारी गिरावट और कच्चे तेल में लगी आग!

यूक्रेन के रूस पर हमला करने की खबरों के हतोत्साहित निवेशकों की जबरदस्त बिकवाली से गुरुवार को घरेलू शेयर बाजार करीब पांच फीसदी की तेज गिरावट के साथ बंद हुए। वहीं अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल आठ साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

रूस के हमले से हतोत्साहित निवेशक,घरेलू शेयर बाजार में पांच फीसदी की भारी गिरावट

यूक्रेन के रूस पर हमला करने की खबरों के हतोत्साहित निवेशकों की जबरदस्त बिकवाली से गुरुवार को घरेलू शेयर बाजार करीब पांच फीसदी की तेज गिरावट के साथ लाल निशान में बंद हुये। विदेशी बाजारों में भी कोहराम मचा रहा, जिससे निवेश धारणा कमजोर रही। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 4.7 प्रतिशत यानी 2,702 अंक लुढ़ककर 54,529 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 4.8 प्रतिशत यानी 815 अंक फिसलकर 16,248 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी में टाटा मोटर्स, इंडसइंड बैंक, ग्रासिम इंडस्ट्रिज और जेएसडब्ल्यू स्टील को सबसे भारी नुकसान उठाना पड़ा और इनके शेयरों की कीमत सात से 11 प्रतिशत तक लुढ़क गयी।
निफ्टी के सभी क्षेत्रों के सूचकांक में भी गिरावट देखी गयी और सबसे अधिक गिरावट पीएसयू बैंक के सूचकांक में देखी गयी। विदेशी बाजारों में हांगकांग का हैंगशैंग 3.2 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी, 2.7 प्रतिशत, जापान का निक्के ई 2.4 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.9 प्रतिशत टूट गया।

सैमसंग ने भारत में विंडफ्री एसी की नई रेंज पेश की

सैमसंग ने गुरुवार को भारतीय बाजार में विंडफ्री तकनीक वाले एयर कंडीशनर के 2022 लाइन-अप का अनावरण किया। सैमसंग के प्रीमियम 28 मॉडल के विंडफ्री एयर कंडीशनर की नई रेंज 50,990 रुपये से शुरू होकर 99,990 रुपये तक जाती है।

सैमसंग इंडिया के एचवीएसी डिवीजन, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स बिजनेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, राजीव भूटानी ने एक बयान में कहा, "नई लाइन-अप को सही तापमान बनाए रखने और केवल 21 डेसिबल की कम साउंड पर काम करके हमारे उपभोक्ताओं की डेली रूटीन्स में अधिक सुविधा जोड़ने के लिए डिजाइन किया गया है।"

एसी की नई रेंज पीएम 1.0 फिल्टर के साथ आती है जो 99 फीसदी बैक्टीरिया को स्टरलाइज करती है और फ्रीज वॉश फीचर जो हीट एक्सचेंजर से गंदगी और बैक्टीरिया को घर पर आसानी से बनाए रखने के लिए हटा देता है। नई रेंज का डिजाइन किसी भी रहने की जगह या कार्य स्थान को आकर्षक बना सकता है।


साइबर हमले : एशिया में शीर्ष 3 सबसे अधिक प्रभावित देशों में भारत

2021 में एशिया साइबर अपराधियों द्वारा सबसे अधिक हमला किया गया क्षेत्र था। यह वैश्विक स्तर पर चार हमलों में से एक के लिए जिम्मेदार था और भारत शीर्ष तीन देशों में से एक था, जिसने इस क्षेत्र में सबसे अधिक सर्वर एक्सेस और रैंसमवेयर हमलों का अनुभव किया। गुरुवार को एक नई रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई। सर्वर एक्सेस अटैक (20 फीसदी) और रैंसमवेयर (11 फीसदी) 2021 में एशियाई संगठनों पर शीर्ष दो प्रकार के हमले थे, इसके बाद डेटा चोरी (10 फीसदी) का नंबर आया।

आईबीएम के एक्स-फोर्स थ्रेट इंटेलिजेंस टीम के शोधकर्ताओं ने कहा, "जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत एशिया में सबसे अधिक हमले वाले देश थे। एशिया में सर्वर एक्सेस हमलों के उच्च प्रतिशत से पता चलता है कि एशियाई संगठन हमलों को जल्दी से पहचानने में माहिर हैं, इससे पहले कि वे हमले के प्रकारों में आगे बढ़ते।" रिमोट एक्सेस ट्रोजन और एडवेयर 9 प्रतिशत हमलों के साथ चौथे स्थान पर हैं।

रूस और यूक्रेन युद्ध के चलते कच्चा तेल आठ साल के उच्चतम स्तर पर, 104 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचा

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध होने से अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल आठ साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। गुरुवार को विदेशी बाजारों में कच्चा तेल 104 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया। वर्ष 2014 के बाद पहली बार विदेशी बाजारों में कच्चे तेल के दाम में इतनी तेजी दर्ज की गयी है। लंदन का ब्रेंट क्रूड 7.3 प्रतिशत यानी 7.07 डॉलर की छलांग लगाकर अगस्त 2014 के बाद के उच्चतम स्तर 103.91 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

अमेरिकी क्रूड भी सात प्रतिशत यानी 6.43 डॉलर की तेजी के साथ जुलाई 2014 के बाद के उच्चतम स्तर 98.53 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

रूस तेल का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक और दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक देश है। इस युद्ध से और रूस पर लगाये गये प्रतिबंधों ने तेल आपूर्ति संकट की चिंता बढ़ा दी है।

तेल का भंडार भी फिलहाल कम है और आपूर्ति संकट की हालत में तेल भंडारण बढ़ाये जाने का चलन जोर पकड़ने लगता है, जिसका असर कच्चे तेल की कीमतों पर दिखता है।


कैनन ने भारत में 37,995 रुपये का नया प्रिंटर लॉन्च किया

देश में घरेलू कार्यालयों और छोटे व्यवसायों को सशक्त बनाने के लिए कैनन ने गुरुवार को भारत में एक नया स्याही टैंक प्रिंटर लॉन्च किया। 37,995 रुपये कीमत वाला यह प्रिंटर कार्यालयों और व्यवसायों को दक्षता बढ़ाने और उत्पादकता में तेजी लाने के अनुकूल है। यह कागज का अच्छी तरह से संचालन करता है और नेटवर्किं ग क्षमताओं के साथ कम रंग खपत के कारण मुद्रण लागत में कमी लाता है।

कैनन इंडिया के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनाबू यामाजाकी ने एक बयान में कहा, "आज हम एमएक्सआईएफवाई जीएक्स5070 प्रिंटर के लॉन्च के साथ अपने व्यापार इंक-जेट उत्पाद पोर्टफोलियो को और मजबूत करने के लिए खुश हैं, जिसे घरेलू और छोटे व्यवसायों के लिए उत्पादकता बढ़ाने के अनुरूप डिजाइन किया गया है।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia