अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: शेयर बाजार में हाहाकार और 29,999 रुपये में मिल रहा 70 हजार का LG का ये मोबाइल!

देश में कोरोना का प्रकोप दोबारा गहराने से बने निराशा के माहौल में दलाल स्ट्रीट पर सोमवार को कोहराम का आलम रहा। एलजी विंग, जो कि एक रोटेटेबल मुख्य स्क्रीन की विशेषता वाला एक ड्यूअल-डिस्प्ले स्मार्टफोन है, उसकी कीमतों में अब कटौती की गई है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

चौतरफा बिकवाली के दबाव में 1708 अंक टूटा सेंसेक्स, निफ्टी 524 अंक लुढ़का

देश में कोरोना का प्रकोप दोबारा गहराने से बने निराशा के माहौल में दलाल स्ट्रीट पर सोमवार को कोहराम का आलम रहा। चैतरफा बिकवाली के भारी दबाव में सेंसेक्स बीते सत्र से 1707.94 अंकों यानी 3.44 फीसदी की गिरावट के साथ 47,883.38 पर कारोबार बंद हुआ, जबकि निफ्टी बीते सत्र से 524.05 अंकों यानी 3.53 फीसदी की गिरावट के साथ 14,310.80 पर ठहरा। कोरोनासंक्रमण के मामले बढ़ने और इसकी रोकथाम के लिए किए गए प्रतिबंधात्मक उपायों से आर्थिक गतिविधियों पर पड़ने वाले असर को भापंते हुए निवेशकों में बिकवाली का मूड बना रहा। इससे पहले सोमवार की सुबह आई रिपोर्ट के अनुसार, बीते 24 घंटे में पूरे देश में कोरोनावायरस संक्रमण के 1.69 लाख नए केस सामने आए हैं।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स बीते सत्र से 634.67 अंकों की गिरावट के साथ 48,956.65 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 47,693.44 तक फिसला। सेंसेक्स के 30 शेयरों में सिर्फ एक शेयर में बढ़त रही, जबकि 29 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी बीते सत्र से 190.20 अंकों की कमजोरी के साथ 14,644.65 पर खुला और 14,652.50 तक चढ़ने के बाद फिसलकर 14,248.70 पर आ गया। निफ्टी के सिर्फ चार शेयर बढ़त के साथ बंद हुए, जबकि 46 शेयरों में गिरावट रही।

एलजी विंग की कीमतों में भारी कटौती, फ्लिपकार्ट पर 29,999 रुपये में उपलब्ध

फोटो: IANS
फोटो: IANS

एलजी विंग, जो कि एक रोटेटेबल मुख्य स्क्रीन की विशेषता वाला एक ड्यूअल-डिस्प्ले स्मार्टफोन है, उसकी कीमतों में अब कटौती की गई है। अब यह स्मार्टफोन भारत में फ्लिपकार्ट पर 29,999 रुपये में उपलब्ध होगा। संशोधित मूल्य निर्धारण के साथ एक फ्लिपकार्ट लिस्टिंग से पता चलता है कि 8 जीबी रैम और 128 जीबी इंटरनल स्टोरेज वाला स्मार्टफोन, जिसे देश में 69,990 रुपये में लॉन्च किया गया था, वह अब जल्द ही रियायती मूल्य पर 30 हजार से भी कम मूल्य पर उपलब्ध होगा।

दरअसल कंपनी ने हाल ही में अपने मोबाइल फोन व्यवसाय इकाई को बंद करने की घोषणा की है और इस बीच एलजी प्लेटफॉर्म पर अपने स्मार्टफोन पर विशेष छूट दे रहा है।

दक्षिण कोरियाई कंपनी ने एक नियामकीय फाइलिंग में कहा कि उसकी मोबाइल संचार (एमसी) इकाई अब 31 जुलाई के बाद हैंडसेट का उत्पादन और बिक्री नहीं करेगी। उद्योग में छाई मंदी और भयंकर प्रतिस्पर्धा का हवाला देते हुए इस निर्णय के पीछे के कारण बताए गए हैं।


मार्च में दुनियाभर में टिकटॉक बना सबसे अधिक डाउनलोड किया जाने वाला ऐप

फोटो: IANS
फोटो: IANS

साल 2021 के मार्च महीने में टिकटॉक को 5.8 करोड़ से अधिक बार डाउनलोड किया गया और इसी के साथ यह इस समयावधि में दुनियाभर में सबसे अधिक डाउनलोड किया जाने वाला ऐप बन गया है। एक नई रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। ऐप एनालिटिक्स फर्म सेंसर टावर से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, टिकटॉक के बाद इस सूची में दूसरे नंबर पर फेसबुक है, जिसे 5.6 करोड़ से अधिक लोगों ने डाउनलोड किया।

नॉन गेमिंग ऐप्स की श्रेणी में टॉप फाइव में जगह बनाने वाले ऐपों में फेसबुक से संबंधित इंस्टाग्राम, व्हाट्सऐप और मैसेंजर भी शामिल हैं, जिन्हें दुनियाभर में काफी ज्यादा बार डाउनलोड किया गया।

सेंसर टॉवर की रिपोर्ट के मुताबिक, जिन देशों में टिकटॉक को सबसे अधिक डाउनलोड किया गया, उनमें चीन और अमेरिका शामिल हैं। जहां चीन में यह 11 फीसदी है, वहीं अमेरिका में इसे 10 फीसदी दर्ज किया गया है।

पेट्रोल, डीजल की कीमतों स्थिरता 13वें दिन जारी, कोरोना काल में तेल में नरमी

पेट्रोल और डीजल के दाम में स्थिरता सोमवार को लगातार 13वें दिन बनी रही। उधर, कोरोना के गहराते कहर से तेल की खपत पर असर पड़ने की आशंकाओं के बीच अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में नरमी देखी जा रही है। वैश्विक बाजार में कच्चे तेल में नरमी से आयात सस्ता होगा, जिसके फलस्वरूप तेल विपणन कंपनियां पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती कर सकती हैं।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम सोमवार को क्रमश: 90.56 रुपये, 90.77 रुपये, 96.98 रुपये और 92.58 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर रहे। डीजल की कीमतें भी दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 80.87 रुपये, 83.75 रुपये, 87.96 रुपये और 85.88 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर बनी हुई हैं।


पैन कार्ड को आधार से लिंक नहीं करने पर 30 जून के बाद भरना होगा जुर्माना

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अगर आपने अपने पैन कार्ड को आधार नंबर से लिंक नहीं करवाया है तो इसमें देर न करें, क्योंकि 30 जून के बाद इसके लिए जुर्माना भरना पड़ सकता है। आयकर कानून के तहत किए गए नये नियम के अनुसार पैन कार्ड के आधार से लिंक नहीं होने की सूरत में 1,000 रुपये जुर्माने का प्रावधान है।

चार्टर्ड अकाउंटेंट सी. के. मिश्रा ने बताया कि वित्त विधेयक 2021 के जरिए आयकर कानून में धारा 234 एच जोड़ा गया है, जिसके अनुसार निर्धारित समयसीमा के भीतर पैन कार्ड को आधार से लिंक नहीं करने पर 1,000 रुपये जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

पहले इस समयसीमा की आखिरी तारीख 31 मार्च 2021 थी। लेकिन केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने अब इसे बढ़ाकर 30 जून 2021 कर दिया है।

मिश्रा ने बताया कि 30 जून तक अगर किसी ने अपने पैन को आधार से लिंक नहीं करवाया तो उसे 1,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;