अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: देश भर के व्यापारी कल करेंगे हड़ताल और आसमान चढ़े खाने के तेल के दाम, जानें कब मिलेगी राहत

एक बयान में कैट ने कहा है कि देश भर में सभी ट्रांसपोर्ट कंपनियां शुक्रवार को बंद रहेंगी। सरसों के उत्पादन में बढ़ोतरी के अनुमान के बावजूद खाद्य तेल की महंगाई से उपभोक्ताओं को राहत मिलने की गुंजाइश नहीं दिख रही है।

फोटो : IANS
फोटो : IANS
user

नवजीवन डेस्क

सेंसेक्स 258 अंक चढ़कर 51039 पर बंद, 15097 पर निफ्टी

वैश्विक बाजारों से मिले मजबूत संकेतों से देश के शेयर बाजार में गुरुवार को लगातार तीसरे सत्र में तेजी का सिलसिला जारी रहा। सेंसेक्स बीते सत्र से 257.62 अंकों यानी 0.51 फीसदी की तेजी के साथ 51,039.31 पर बंद हुआ और निफ्टी 115.35 अंकों यानी 0.77 फीसदी की बढ़त बनाकर 15,097.35 पर ठहरा। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स बीते सत्र से 425.92 अंकों की बढ़त के साथ 51,207.61 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 51,386.12 तक उछला, जबकि सेंसेक्स का निचला स्तर 50,991.76 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी बीते सत्र से 97.85 अंकों की बढ़त के साथ 15,079.85 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 15,176.50 तक चढ़ा, जबकि इसका निचला स्तर 15,065.35 रहा।

बीएसई मिडकैप सूचकांक बीते सत्र से 219.95 अंकों यानी 1.09 फीसदी की तेजी के साथ 20,333.80 पर बंद हुआ जबकि स्मॉलकैप सूचकांक 285.01 अंकों यानी 1.42 फीसदी की तेजी के साथ 20,304.98 पर ठहरा।

खाने के तेल के दाम आसमान चढ़े, अप्रैल से पहले राहत के आसार कम

फोटो: IANS
फोटो: IANS

सरसों के उत्पादन में बढ़ोतरी के अनुमान के बावजूद खाद्य तेल की महंगाई से उपभोक्ताओं को राहत मिलने की गुंजाइश नहीं दिख रही है। खाने के तमाम तेल के दाम आसमान छू रहे हैं। तेल व तिलहनों की वैश्विक आपूर्ति कम होने के कारण कीमतों में तेजी का सिलसिला जारी है। खाद्य तेल कांप्लेक्स में सबसे सस्ता कच्चा पाम तेल का भाव बीते करीब 10 महीने में 89 फीसदी उछला है। पाम तेल के दाम में इजाफा होने से खाने के अन्य तेल के दाम में भी जोरदार उछाल आया है।

देश के सबसे बड़े वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर गुरुवार को क्रूड पाम तेल (सीपीओ) का मार्च अनुबंध 1,072 रुपये प्रति 10 किलो तक उछला जोकि एक साल के निचले स्तर से 89 फीसदी तेज है। बीते एक साल के दौरान सात मई 2020 को सीपीओ का वायदा भाव एमएसीएक्स पर 567.30 रुपये प्रति 10 किलो तक टूटा था। वहीं, हाजिर में थोक भाव की बात करें तो सात मई 2020 को कांडला पोर्ट पर पामोलीन आरबीडी का थोक भाव 68 रुपये किलो था जोकि बढ़कर गुरुवार को 116 रुपये किलो हो गया। कांडला पोर्ट पर आयातित सोया तेल का भाव इस समय 118 रुपये प्रति किलो और सूर्यमुखी तेल का भाव 157 रुपये प्रति किलो है।


बांग्लादेश का विदेशी मुद्रा भंडार 44 अरब डॉलर के उच्च स्तर पर

बांग्लादेश के विदेशी मुद्रा भंडार ने 44.02 अरब डॉलर से अधिक के साथ एक नया रिकॉर्ड बनाया है। इसका श्रेय विदेशों से भेजी गई रकम को जाता है। फरवरी के पहले 23 दिनों में देश का विप्रेषित धन (विदेशों से भेजा गया पैसा) 1.49 अरब डॉलर था।

बांग्लादेश बैंक के पूर्व गवर्नर अतीउर रहमान ने गुरुवार सुबह आईएएनएस को बताया, "विप्रेषण ने चल रहे कोविड-19 महामारी के बीच विदेशी मुद्रा भंडार को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।" बढ़ते विदेशी मुद्रा भंडार का कारण औपचारिक ट्रांसमिशन को प्रोत्साहन देने और मोबाइल वित्तीय सेवाओं और एजेंट बैंकिंग सहित डिजिटल भुगतान प्रणाली में बहुत सुधार है, जिसके कारण विप्रेषण में तेजी देखने को मिला है।

कच्चे तेल में तेजी से पेट्रोल, डीजल के दाम फिर बढ़ने के आसार

फोटो: IANS
फोटो: IANS

पेट्रोल और डीजल के दाम में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन स्थिरता बनी रही, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में तेजी का सिलसिला जारी है। बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड 66 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर बना हुआ है और डब्ल्यूटीआई का भाव 63 डॉलर के ऊपर चल रहा है। जानकार बताते हैं कि तेल की मांग बढ़ने और उत्पादन में कटौती के चलते दाम में तेजी देखी जा रही है, जिससे आगे पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का भाव गुरुवार को बिना किसी बदलाव के क्रमश: 90.93 रुपये, 91.12 रुपये, 97.34 रुपये और 92.90 रुपये प्रति लीटर बना रहा। वहीं, डीजल का भाव दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 81.32 रुपये, 84.20 रुपये, 88.44 रुपये और 86.31 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर है।


देश भर के व्यापारी शुक्रवार को करेंगे हड़ताल

फोटो: IANS
फोटो: IANS

कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने जीएसटी नियमों में हाल ही में किये गए कुछ संशोधन तथा ई कॉमर्स व्यापार में विदेशी कंपनियों की मनमानी को रोकने के लिए शुक्रवार को एक दिन के हड़ताल का आह्वान किया है। एक बयान में कैट ने कहा है कि देश भर में सभी ट्रांसपोर्ट कंपनियां शुक्रवार को बंद रहेंगी। इसके अलावा उसने कहा कि लघु उद्योग, हॉकर्स, महिला उद्यमी, स्वयं उद्यमियों एवं व्यापार से जुड़े अन्य क्षेत्रों के राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय संगठन भी व्यापार बंद को अपना समर्थन देंगे।

बयान में कहा गया है कि सभी राज्यों में चार्टर्ड अकाउंटेंट एवं टैक्स अधिवक्ता के संगठन भी बंद को समर्थन देंगे।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी. भरतिया और महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि दिल्ली सहित देश भर में सभी राज्यों के लगभग 1500 छोटे-बड़े संगठन शुक्रवार को धरना देंगे।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia