अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: व्हाट्सएप ने भारत में पहली बार शुरू किया ये अभियान और पेट्रोल, डीजल के दाम 5वें दिन स्थिर

व्हाट्सएप ने भारत में अपना पहला ब्रांड अभियान शुरू किया। पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को लगातार पांचवें दिन स्थिरता बनी रही, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इस सप्ताह कच्चे तेल की कीमतों में मजबूती बनी रही।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

व्हाट्सएप ने भारत में पहली बार वैश्विक ब्रांड अभियान शुरू किया

व्हाट्सएप ने भारत में अपना पहला ब्रांड अभियान शुरू किया। इस अभियान के जरिए वे सच्ची कहानियां बताई जाएंगी कि कैसे भारतीय रोजाना अपने नजदीकी लोगों के साथ व्हाट्सएप के माध्यम से संपर्क में रहते हैं। कंपनी ने एक बयान में कहा कि 'इट्स बिटवीन यू' नामक अभियान गोपनीयता के प्रति व्हाट्सएप की प्रतिबद्धता पर जोर देता है।

फेसबुक इंडिया के निदेशक (विपणन) अविनाश पंत ने कहा कि इस अभियान के जरिए आपसी बातचीत, यादें, सच्ची कहानियां या चुटकुले साझा किए जाएंगे जिनमें बताया जाएगा कैसे भारतीय रोजाना अपने नजदीकी लोगों के साथ व्हाट्सएप के माध्यम से संपर्क में रहते हैं।

इस अभियान के लिए व्हाट्सएप ने बॉलीवुड निदेशक गौरी शिंदे और विज्ञापन एजेंसी बीबीडीओ इंडिया की सेवाएं ली हैं। इसके तहत व्हाट्सएप दो विज्ञापन बनाएगी, जिसमें दिखाया जाएगा कि कैसे उसके संदेश भेजने, वीडियो कॉल करने या वॉयस संदेश भेजने के फीचर्स लोगों को एक-दूसरे से जोड़ते हैं।

एप्पल ने आईफोन उपयोगकर्ताओं द्वारा पॉवर एडॉप्टर के उपयोग पर सर्वे किया

प्पल के इस साल के आखिर से आईफोन 12 बॉक्स से पॉवर एडॉप्टर हटाने की खबरों के बीच कंपनी ने अपने सीमित उपयोगकर्ताओं पर एक सर्वे किया है। ऐसा लगता है कि एप्पल ने हाल ही में आईफोन खरीदने वाले लोगों पर सर्वे किया है कि उन्होंने अपने पिछले आईफोन के साथ आए पॉवर एडॉप्टर के साथ क्या किया है।

ब्राजील में कई उपयोगकर्ताओं ने ट्विटर पर बताया कि इस सर्वे में यह प्रश्न भी शामिल है कि उन्होंने चार्जर का उपयोग कैसे किया। उन्होंने पिछले आईफोन एक्सआर के चार्जर का क्या किया। एक ट्वीट में, ब्राजील के एक उपयोगकर्ता ने कहा कि एप्पल ने उस चार्जर के बारे में भी पूछा जो आईफोन 7 प्लस के साथ आया था।

पेट्रोल, डीजल के दाम 5वें दिन स्थिर, ब्रेंट क्रूड इस सप्ताह 2 फीसदी तेज

पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को लगातार पांचवें दिन स्थिरता बनी रही, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इस सप्ताह कच्चे तेल की कीमतों में मजबूती बनी रही। ब्रेंट क्रूड का भाव पिछले सप्ताह के मुकाबले करीब दो फीसदी उछला। हालांकि बाजार के जानकार बताते हैं कि कच्चे तेल का दाम जब तक 45 डॉलर प्रति बैरल से नीचे है तब तक पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि की संभावना कम है क्योंकि पेट्रोल और डीजल का भाव पहले ही काफी बढ़ चुका है।

बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का भाव इस सप्ताह 43 डॉलर के उपर तक उछला, लेकिन सप्ताह के आखिर में थोड़ा फिसलकर 42.80 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ।

देश की राजधानी दिल्ली में पिछले महीने डीजल के दाम में 11.14 रुपये लीटर इजाफा हुआ है जबकि पेट्रोल की कीमत 9.17 रुपये लीटर बढ़ गई है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पेट्रोल से महंगे भाव पर डीजल बिक रहा है।

पीपीए सौर परियोजनाओं को चीन से आयात पर उच्च सीमा शुल्क से मिल सकती है छूट

चीनी उपकरणों का इस्तेमाल कर अपनी परियोजनाएं स्थापित करने वाले सौर विद्युत उत्पादकों के लिए एक राहत भरे कदम के रूप में सरकार ने उन परियोजनाओं को उच्च सीमा शुल्क से छूट देने का प्रस्ताव किया है, जिनके पास उपार्जक राज्यों के साथ खरीदी समझौता होगा। विद्युत मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि जिन सौर विद्युत परियोजनाओं के पास एक अगस्त, 2020 तक वैध पीपीए होंगे, उन्हें सौर उपकरणों और कल-पुर्जो के आयात पर प्रस्तावित आयात शुल्क से छूट होगी, भले ही इस तरह के आयात चीन से ही क्यों न हों। यह छूट एक बार के लिए होगी, क्योंकि सरकार अपने आत्मनिर्भर भारत मिशन के तहत उन सभी उपकरणों के आयात पर रोक लगाना चाहती है, जिनका विनिर्माण घरेलू स्तर पर हो रहा है।

विद्युत मंत्रालय ने मौजूदा साल के लिए सौर मॉड्यूल आयात पर 20-25 प्रतिशत बेसिक सीमा शुल्क का प्रस्ताव किया है, जो अगले साल 40 प्रतिशत तक हो सकता है। सौर बैटरी पर भी पहले साल के लिए 15 प्रतिशत सीमा शुल्क का प्रस्ताव है, जो अगले साल बढ़कर 30-40 प्रतिशत तक हो सकता है। ये प्रस्तावित शुल्क एक अगस्त से प्रभावी होंगे, जब सौर कल-पुर्जो के आयात पर मौजूदा सेफगार्ड शुल्क की मियाद पूरी हो जाएगी।

जूम पर 13500 खर्च करने की जरूरत नहीं, जियोमीट पर 100 लोग करें मुफ्त वीडियो कॉलिंग

रिलायंस जियो ने जियोमीट नाम से वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए नया ऐप बाजार में उतारा है। जियोमीट में 100 लोग वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़ सकते हैं, वो भी बिलकुल मुफ्त। जूम ऐप में जहां इसके बेसिक या मुफ्त प्लान में महज 40 मिनट तक वीडियो कांफ्रेंसिंग की जा सकती है, वहीं जियोमीट में 24 घंटे तक ग्रुप में मुफ्त वीडियो कांफ्रेंसिंग की जा सकती है। जूम ऐप पर फ्री वीडियो कॉलिंग के लिए मात्र 40 मिनट की अवधि दी जाती है और इससे अधिक समय के लिए वीडियो कॉलिगं या कांफ्रेंसिंग करने के लिए ग्राहक को प्रति माह 15 डॉलर का भुगतान करना होता है। यह राशि सालाना 180 डॉलर यानी करीब 13500 रुपये पड़ती है।

जियोमीट पर ग्राहक 24 घंटे तक मुफ्त में बातचीत कर सकते हैं। समयसीमा के कारण जूम पर वीडियो कांफ्रेंसिंग करने वालो को हर 40 मिनट में दोबारा लॉगइन करना पड़ता है। यह ग्राहकों का समय बर्बाद करने के साथ ही उनके लिए एक खराब अनुभव भी है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Published: 4 Jul 2020, 7:30 PM
लोकप्रिय
next