कमजोर वैश्विक संकेतों से शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 1 हजार अंक से अधिक लुढ़का

एशियाई शेयर इस चिंता से गिरे कि अमेरिका के केंद्रीय बैंक और कुछ अन्य प्रमुख केंद्रीय बैंकों को मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए ब्याज दरों को और अधिक आक्रामक तरीके से बढ़ाना होगा।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

वैश्विक बाजारों में कमजोरी के चलते शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में भारतीय इक्विटी बेंचमार्क में तेजी से गिरावट आई। एशियाई शेयर इस चिंता से गिरे कि अमेरिका के केंद्रीय बैंक और कुछ अन्य प्रमुख केंद्रीय बैंकों को मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए ब्याज दरों को और अधिक आक्रामक तरीके से बढ़ाना होगा।

सुबह के सत्र में निफ्टी के सभी सेक्टोरियल इंडेक्स लाल निशान में कारोबार कर रहे थे।

बेंचमार्क सेंसेक्स 1,000 अंक या 1.9 प्रतिशत से अधिक नीचे गिरकर 54,666 अंक पर था, जबकि निफ्टी 300 अंक या 1.8 प्रतिशत से अधिक नीचे 16,376 अंक पर था।

हेम सिक्योरिटीज के पीएमएस प्रमुख मोहित निगम ने कहा, "अमेरिकी गैर-कृषि पेरोल डेटा और बेरोजगारी दर की घोषणा आज की जाएगी, जो वैश्विक बाजारों की दिशा तय कर सकती है।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia