अर्थ जगत: थोक मुद्रास्फीति 8 महीने के उच्चतम स्तर पर और निफ्टी ने बनाए नए रिकॉर्ड

अमेरिकी फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) की बैठक में नरम रुख के चलते निफ्टी गुरुवार को सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। यह आठ महीनों में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) मुद्रास्फीति का उच्चतम स्तर है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मुंबई के यूजर ने इस साल स्विगी पर 42.3 लाख रुपये का खाना ऑर्डर किया

फोटो: IANS
फोटो: IANS

'हाउ इंडिया स्विगी'ड इन 2023' में इस साल की खास बातों को उजागर करते हुए ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म ने गुरुवार को बताया कि मुंबई के एक अकेले यूजर ने इस साल खाने के ऑर्डर पर 42.3 लाख रुपये खर्च किए।

प्लेटफ़ॉर्म को 10 हजार रुपये से अधिक के सबसे ज्यादा ऑर्डर चेन्नई, दिल्ली और हैदराबाद के यूजर अकाउंट्स से प्राप्त हुए। बिरयानी लगातार आठवें वर्ष स्विगी पर सबसे अधिक ऑर्डर किए जाने वाले व्यंजन के रूप में चार्ट में शीर्ष पर रही।

प्लेटफॉर्म को 2023 में प्रति सेकंड बिरयानी के 2.5 ऑर्डर मिले। शाकाहारी बिरयानी के मुकाबले चिकन बिरयानी का ऑर्डर 5.5 गुना रहा। दुर्गा पूजा के दौरान गुलाब जामुन के 77 लाख से ज्यादा ऑर्डर मिले। गरबा के साथ-साथ, नवरात्रि के सभी नौ दिनों के शाकाहारी ऑर्डरों में मसाला डोसा सबसे पसंदीदा था। इडली ने भी एक समय सर्वोच्च स्थान हासिल किया जब हैदराबाद के एक ग्राहक ने उस पर छह लाख रुपये खर्च किए।

फेड के नरम रुख से निफ्टी अब तक के उच्चतम स्तर पर

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अमेरिकी फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) की बैठक में नरम रुख के चलते निफ्टी गुरुवार को सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया और पहली बार 21,100 अंक को पार कर गया। निफ्टी जहां 256.35 अंक ऊपर 21,182.70 पर बंद हुआ, वहीं सेंसेक्स 929.60 अंक ऊपर 70,514.20 पर बंद हुआ।

एक्सिस सिक्योरिटीज के एमडी और सीईओ प्रणव हरिदासन ने कहा, निफ्टी में तेजी के कई कारण हैं। अमेरिकी 10-वर्षीय बांड यील्ड में 100 आधार अंक की कमी आई है। वित्त वर्ष 2024 में जीडीपी में 6.5 प्रतिशत से 7 प्रतिशत तक सकारात्मक संशोधन के साथ आरबीआई ने दरें बरकरार रखी हैं। इसके अलावा आगे मजबूत आय वृद्धि की उम्मीदों ने बाजार की गति में योगदान दिया है। हाल के विधानसभा चुनाव परिणाम से पता चलता है कि 2024 में यही नीतियां बनी रहेंगी, जिससे बाजार का विश्वास बढ़ा है।


थोक मुद्रास्फीति 8 महीने के उच्चतम स्तर पर

फोटो: IANS
फोटो: IANS

भारत की थोक मूल्य मुद्रास्फीति इस साल मार्च के बाद पहली बार डिफ्लेशन से बाहर निकल कर नवंबर में 0.26 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़ों ये बात पता चली है।

यह आठ महीनों में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) मुद्रास्फीति का उच्चतम स्तर है। हाल के महीनों में थोक कीमतें गिर रही थीं। अक्टूबर 2023 में डब्ल्यूपीआई मुद्रास्फीति माइनस 0.52 प्रतिशत और नवंबर 2022 में 6.12 प्रतिशत थी।

खाद्य सूचकांक में 1.9 प्रतिशत की वृद्धि के साथ डब्ल्यूपीआई में वृद्धि हुई और सब्जियों की कीमतें महीने-दर-महीने 16.45 प्रतिशत बढ़ीं। प्याज की कीमतों में 41.3 फीसदी का उछाल आया। डब्ल्यूपीआई डेटा देश की खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़ों पर आधारित होता है, जो नवंबर में तीन महीने के उच्चतम स्तर 5.55 प्रतिशत पर पहुंच गई।

ई-कॉमर्स कंपनी इट्सी ने की 225 कर्मचारियों की छंटनी

फोटो: IANS
फोटो: IANS

ई-कॉमर्स कंपनी इट्सी अपने कारोबार के पुनर्गठन और लागत को सुव्यवस्थित करने के लिए 11 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी कर रही है। सीएनबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, छुट्टियों के मौसम में इट्सी में लगभग 225 कर्मचारी अपनी नौकरियां खो देंगे, इससे इसके मुख्य बाज़ार में कर्मचारियों की संख्या लगभग 1,770 रह जाएगी।

इट्सी के सीईओ जोश सिल्वरमैन ने एक ईमेल में कर्मचारियों को बताया, "हम एक बहुत ही चुनौतीपूर्ण मैक्रो और प्रतिस्पर्धी माहौल में काम कर रहे हैं, और (सकल व्यापारिक बिक्री) 2021 से अनिवार्य रूप से स्थिर बनी हुई है।"

उन्होंने कहा,“इसका मतलब है कि हम अपने विक्रेताओं को अधिक बिक्री नहीं ला रहे हैं, जो कि उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज है, जो हम कर सकते हैं। साथ ही, कर्मचारियों के खर्च में वृद्धि हुई है, भले ही हमने लागत में कटौती के उपाय पेश किए हैं और भर्ती योजनाओं को रोक दिया है।”

घोषणा के बाद इट्सी स्टॉक 2 प्रतिशत गिरकर बंद हुआ, जबकि पहले दिन में इसमें 7 प्रतिशत की गिरावट आई थी।


नीतीश कुमार ने 'बिहार बिजनेस कनेक्ट-2023' के 'प्लेनरी सेशन' का किया उद्घाटन

फोटो: IANS
फोटो: IANS

बिहार की राजधानी पटना में आयोजित दो दिवसीय इन्वेस्टर्स समिट के दूसरे और अंतिम दिन गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार बिजनेस कनेक्ट 2023 के प्लेनरी सेशन का उद्घाटन किया।

कार्यक्रम के दौरान अडानी ग्रुप के निदेशक प्रणव अडानी, नाहर ग्रुप इंडस्ट्री के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक कमल ओसवाल, एएमडी के चीफ इंफॉर्मेशन ऑफिसर हंसमुख रंजन ने बिहार में अपनी-अपनी कंपनियों द्वारा किए जा रहे निवेश के संबंध में विस्तृत जानकारी दी और सभी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बिहार में किए जा रहे कार्यों की भूरी-भूरी प्रशंसा की।

इन्होंने शिक्षा, नारी सशक्तीकरण, सोशल रिफॉर्म, लॉ एंड ऑर्डर, इंफ्रास्ट्रक्चर और कृषि क्षेत्र सहित अन्य क्षेत्रों में किए जा रहे विकास कार्यों की चर्चा की और कहा कि बिहार में काफी बदलाव आया है और यहां निवेश के लिए अनुकूल माहौल है। लोगों ने बिहार सरकार का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि बिहार में उद्योग लगाने के लिए हम लोगों को मौका दे रही है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;