राजस्थान चुनावः 200 में से 199 सीटों पर वोटिंग आज, 1863 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला EVM में होगा बंद

अधिकारियों के अनुसार मतदान करवाने के लिए पौने 3 लाख से अधिक कर्मचारी लगाए गए हैं। प्रदेश में 51 हजार से अधिक पोलिंग बूथ हैं। शांतिपूर्ण मतदान के लिए पूरे प्रदेश के मतदान केंद्रों समेत अन्य जगहों पर कुल 1 लाख 70 हजार से ज्यादा जवानों की तैनाती की गई है।

राजस्थान में आज 200 में से 199 सीटों पर वोटिंग, 1863 प्रत्याशियों का फैसला EVM में होगा बंद
राजस्थान में आज 200 में से 199 सीटों पर वोटिंग, 1863 प्रत्याशियों का फैसला EVM में होगा बंद
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम के बाद अब राजस्थान में मतदान की बारी। आज राज्य की 200 में से 199 सीटों पर मतदान होगा, जिसमें 5.25 करोड़ से ज्यादा मतदाता 1863 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। करणपुर सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार और मौजूदा विधायक गुरमीत सिंह कुन्नर के निधन के कारण चुनाव स्थगित किया गया है। पूरे राजस्थान में सुबह 7 से शाम 6 बजे तक मतदान होगा। राज्य में मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी दल बीजेपी के बीच है।

51,507 मतदान केंद्र पर होगी वोटिंग

कल होने वाले मतदान के लिए सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। अधिकारियों के अनुसार मतदान करवाने के लिए पौने तीन लाख से अधिक कर्मचारी लगाए गए हैं। प्रदेश में 51 हजार से अधिक पोलिंग स्टेशन बनाए गए है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि सभी 199 सीट पर मतदान की तैयारी पूरी कर ली गई है। मतदान के लिए प्रदेश में 36,101 स्थानों पर 51,507 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जहां 5 करोड़ 26 लाख, 90 हजार,146 मतदाता अपना बोट देंगे और अपने प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। इनमें से 18-30 आयु वर्ग के 1 करोड़ 70 लाख 99,334 के युवा मतदाता भी शामिल है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि राज्य में चुनाव के लिए इस बार 65,277 ईवीएम मशीनों का उपयोग किया जाएगा। इन ईवीएम मशीनों के साथ 62,372 कंट्रोल यूनिट और 67,580 वीवीपैट मशीनें भी होंगी। उन्होंने बताया कि कुल 26,393 मतदान केन्द्रों पर लाइव वेबकास्टिंग करवाई जाएगी। वहीं, 6,247 सेक्टर अधिकारी भी नियुक्त किए हैं जो मतदान दलों से लगातार कॉन्टेक्ट में रहेंगे। इसके साथ चुनाव में 2, 74,846 मतदान कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है।


शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पौने दो लाख जवान तैनात

वहीं, मतदान शांतिपूर्वक करवाने के लिए पूरे प्रदेशभर के मतदान केंद्र समेत अन्य जगहों पर कुल 1 लाख 70 हजार से ज्यादा जवानों की तैनाती की गए है, जिसमें 69,114 पुलिस के जवान, 32,876 राजस्थान होमगार्ड, फोरेस्ट गार्ड और आरएसी जवान हैं। इसके अलावा अति संवेदनशील एरिया में सीएपीएफ की 700 कंपनिंयां तैनात की गई हैं। इसके अलावा अन्य राज्यों (उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, मध्य प्रदेश) के 15 हजार होमगार्ड भी तैनात किया गए हैं। मतदान के दिन जांच और निगरानी के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में 3 फ्लाइंग स्क्वॉड, 3 एसएसटी दल भी तैनात रहेंगे।

कांग्रेस के ये प्रमुख उम्मीदवार

सत्तारूढ़ कांग्रेस की ओर से इस बार भी अपना चुनावी भाग्य आजमा रहे नेताओं में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी, मंत्री शांति धारीवाल, बीडी कल्ला, भंवर सिंह भाटी, सालेह मोहम्मद, ममता भूपेश, प्रताप सिंह खाचरियावास, राजेंद्र यादव, शकुंतला रावत, उदय लाल आंजना, महेंद्रजीत सिंह मालवीय और अशोक चांदना शामिल हैं।


बीजेपी के इन उम्मीदवारों पर होगी सबकी नजर

वहीं बीजेपी की तरफ से प्रमुख उम्मीदवारों में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, उपनेता प्रतिपक्ष सतीश पूनिया और सांसद दीया कुमारी, राज्यवर्धन राठौड़, बाबा बालकनाथ और किरोड़ी लाल मीणा मैदान हैं। बीजेपी ने छह सांसदों और एक राज्यसभा सदस्य सहित 59 मौजूदा विधायकों को टिकट दिया है। बीजेपी सभी सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जबकि सत्तारूढ़ कांग्रेस ने 2018 चुनाव की तरह अपने सहयोगी राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) के लिए एक सीट भरतपुर छोड़ी है। भरतपुर सीट से आरएलडी के मौजूदा विधायक सुभाष गर्ग चुनाव लड़ रहे हैं।

मौजूदा विधानसभा में कांग्रेस के 107 तो बीजेपी के 70 विधायक

राज्य में इसके अलावा सीपीएम, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, भारत आदिवासी पार्टी, भारतीय ट्राइबल पार्टी, आम आदमी पार्टी, एआईएमआईएम समेत कई पार्टियां भी चुनाव मैदान मे हैं। बीजेपी और कांग्रेस दोनों के 40 से अधिक बागी भी मैदान में हैं। मौजूदा विधानसभा की बात करें तो इस समय कांग्रेस के 107 विधायक, बीजेपी के 70, आरएलपी के तीन, सीपीएम और भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के 2-2, राष्ट्रीय लोक दल का एक विधायक है। निर्दलीय विधायक 13 हैं जबकि दो सीटें उदयपुर और करणपुर खाली हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;