यूपी चुनावः पहले चरण के मतदान में कई जगह धांधली के आरोप, सपा ने कई दर्जन पत्र आयोग को भेजे, बीजेपी ने किया कटाक्ष

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य अरविंद कुमार सिंह ने आरोप लगाया है कि कई बूथों पर बीजेपी के लोग मतदाताओं को वोट नहीं डालने दे रहे हैं। उनके ऊपर जबरदस्ती बीजेपी को वोट देने का दबाव बना रहे हैं। कई जगह धमकाकर बूथ से वापस भगा दे रहे हैं।

फोटोः ANI
फोटोः ANI
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के आज पहले चरण के मतदान के दौरान समाजवादी पार्टी ने कई जगह धांधली का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग को कई दर्जन पत्र भेजकर बीजेपी की शिकायत की है। इनमें कई जगह मतदाताओं को डराने और धमकाने के साथ ही ईवीएम में गड़बड़ी के बाद भी मतदान जारी रखने के आरोप लगाए गए हैं। उधर बीजेपी ने आरोपों को बेबुनियाद बताया और कहा कि विपक्ष ने अपनी पूरी हार मान ली है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य अरविंद कुमार सिंह ने आरोप लगाया है कि आगरा के फतेहाबाद के बूथ नंबर 237 पर बीजेपी के लोग मतदाताओं को वोट नहीं डालने दे रहे हैं। उनके ऊपर जबरदस्ती बीजेपी को वोट देने का दबाव बना रहे हैं। उन्होंने चुनाव आयोग से शिकायत की है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग से करीब 50-60 शिकायतें की हैं। ईवीएम की समस्याएं हैं। बीजेपी के प्रत्याशी तमाम मतदताओं को धमका रहे हैं। वोटर लिस्ट से नाम भी काटे गए हैं।


उन्होंने बताया कि कई शिकायतें सोशल मीडिया प्लेटफार्म के जरिए भी दर्ज कराई गई हैं। जैसे आगरा की बाह विधानसभा-94 में बूथ जैदपुर में किसी को वोट डालने नहीं दिया जा रहा है। बुलंदशहर जिले की स्याना विधानसभा-66, बूथ न. 134 पर बहुत ही स्लो वोटिंग हो रही है। चुनाव आयोग और जिला प्रशासन कृपया संज्ञान लेते हुए सुचारु रुप से मतदान कराना सुनिश्चित करें।

सपा नेता ने कहा कि अलीगढ़ जिले की छर्रा विधानसभा-74, बूथ नंबर- 443 पर ईवीएम मशीन 1 घंटे से बंद है। आगरा जिले की बाह विधानसभा में बीजेपी प्रत्याशी रानी पक्षालिका सिंह के समर्थक लोगों को वोट नहीं डालने दे रहे हैं। वोटरों की पर्ची छीनी जा रही है। यह लोकतंत्र की हत्या है, चुनाव आयोग शीघ्र संज्ञान लेते हुए निष्पक्ष और भयमुक्त मतदान कराना सुनिश्चित करें।

समाजवादी पार्टी ने निर्वाचन आयोग को पत्र भेजकर कैराना विधानसभा के कुछ मतदान बूथों पर गरीब मतदाताओं को डरा-धमका कर वापस भेजे जाने का आरोप लगाया है। पार्टी ने निर्वाचन आयोग और शामली के जिलाधिकारी को टैग करते हुए ट्वीट किया, "शामली जिले की कैराना-8 विधानसभा के ग्राम डुंडुखेड़ा के बूथ संख्या 347, 348, 349 और 350 पर गरीब वर्ग के मतदाताओं को डरा-धमका कर, वोट की लाइनों से हटाकर वापस भेजा जा रहा है। तत्काल संज्ञान ले कार्रवाई कर सुचारू, भयमुक्त और निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करे चुनाव आयोग।


एक अन्य शिकायत में सपा ने कहा कि मुजफ्फरनगर जिले की खतौली विधानसभा 15 के बूथ नंबर 362 पर पोलिंग पार्टी के लोग खुद ही मतदान कर रहे हैं। चुनाव आयोग और जिला प्रशासन संज्ञान ले। आगरा जिले की बाह विधानसभा-94, बूथ न.228 पर ईवीएम खराब है। चुनाव आयोग और जिला प्रशासन संज्ञान लेते हुए सुचारू रूप से मतदान कराना सुनिश्चित करें।

मेरठ की सिवालखास विधानसभा -43, बूथ संख्या 81, 82 पर वोट डालने पहुंच रहे मतदाताओं को यह कहकर लौटाया जा रहा है कि आपका मतदान हो चुका है। उधर भारतीय जनता पार्टी ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि अभी वोटिंग का आधा दिन भी नहीं हुआ है और विपक्ष ने अपनी पूरी हार मान ली है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia