यूपी चुनावः दूसरे चरण में योगी के कई मंत्रियों की किस्मत दांव पर, आजम-अब्दुल्ला पर भी होगी नजर, जानें पूरा गणित

दूसरे चरण की सबसे हॉट सीट रामपुर है, जहां से दो साल से जेल में बंद समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान चुनाव मैदान में हैं। इस चरण की दूसरी हॉट सीट शाहजहांपुर है, जहां से बीजेपी नेता और योगी सरकार में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना चुनाव लड़ रहे हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश चुनाव के दूसरे चरण के लिए आज प्रचार का शोर थम गया। इस चरण में नौ जिलों की 55 सीटों पर 14 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। यूपी के अमरोहा, बरेली, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, सहारनपुर, बिजनौर, संभल, रामपुर और बदायूं जिले में पड़ने वाली इन 55 सीटों पर कुल 586 प्रत्याशी मैदान में हैं। दूसरे चरण में वैसे तो कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर होगी, लेकिन दस सीटें सबसे ज्यादा हॉट मानी जा रही हैं, जिन पर सभी दलों के साथ पूरे देश की मिडिया की भी निगाहें होंगी।

दूसरे चरण की सबसे हॉट सीट रामपुर है, जहां से दो साल से जेल में बंद समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान चुनाव मैदान में हैं। आजम खान के खिलाफ बीजेपी ने आकाश सक्सेना, बीएसपी ने सदाकत हुसैन और कांग्रेस ने काजिम अली खान को उम्मीदवार बनाया है। इसी तरह रामपुर की स्वार सीट भी चर्चा में है, क्योंकि यहां से आजम के बेटे अब्दुल्ला आजम को सपा ने टिकट दिया है। यहां से अब्दुल्ला के खिलाफ अपना दल (सोनेलाल) ने हैदर अली खान, बीएसपी ने शंकर लाल सैनी और कांग्रेस ने राम रक्षपाल सिंह को उतारा है।

दूसरे चरण में हॉट सीट की लिस्ट में शाहजहांपुर भी है, जहां से बीजेपी नेता और योगी सरकार में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना चुनाव लड़ रहे हैं। खन्ना 1989 से इस सीट पर लगातार जीत रहे हैं और कई बार मंत्री रह चुके हैं। यहां से खन्ना के खिलाफ सपा ने तनवीर खान, बीएसपी ने सर्वेश चंद्र धांधू और कांग्रेस ने पूनम को उम्मीदवार बनाया है।


इस चरण में सहारनपुर जिले की नकुड़ विधासनभा सीट भी हाईप्रोफाइल हो गई है। यहां से बीजेपी के बागी मंत्री धर्म सिंह सैनी इस बार सपा के टिकट पर मैदान में हैं। सैनी 2017 में बीजेपी से विधायक बने थे। अब तक वह चार बार विधायक रह चुके हैं। सैनी के खिलाफ बीजेपी ने मुकेश चौधरी को मैदान में उतारा है। बीएसपी ने साहिल खान और कांग्रेस ने रणधीर सिंह चौहान को टिकट दिया है।

इस चरण की हॉट सीट की लिस्ट में अगली सीट रामपुर की बिलासपुर सीट है। यहां से मौजूदा विधायक और योगी सरकार में जल शक्ति राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख फिर से चुनाव लड़ रहे हैं। औलख योगी कैबिनेट में एकलौते सिख मंत्री हैं। उनके खिलाफ सपा ने अमरजीत सिंह, बीएसपी ने राम अवतार कश्यप, कांग्रेस ने संजय कपूर को टिकट दिया है।

इसी तरह बरेली की आंवला विधानसभा सीट पर भी इस बार मुकाबला काफी रोचक हो गया है। यहां से बीजेपी के मौजूदा विधायक धर्मपाल सिंह मैदान में हैं। जबकि बिल्सी से बीजेपी के टिकट पर पिछला चुनाव जीते विधायक राधा कृष्ण शर्मा इस बार सपा के टिकट पर यहां से मैदान में हैं। धर्मपाल सिंह चार बार, तो शर्मा दो बार विधायक रह चुके हैं। बीएसपी ने यहां से लक्ष्मण प्रसाद और कांग्रेस ने ओमवीर यादव को उतारा है।

अगली हॉट सीट संभल की चंदौसी सीट है, जहां से बीजेपी ने योगी सरकार में माध्यमिक शिक्षा राज्यमंत्री गुलाबो देवी को टिकट दिया है। पिछली बार भी गुलाबो देवी ने यहां से जीत हासिल की थी। उनके खिलाफ समाजवादी पार्टी ने विमलेश कुमारी और बीएसपी ने रणविजय सिंह को मैदान में उतारा है। कांग्रेस ने मिथिलेश कुमारी को टिकट दिया है।


इनके अलावा मुरादाबाद की कुंदरकी सीट भी इस बार चर्चा में है। यहां से सपा के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के पोते जियाउर्रहमान को सपा ने टिकट दिया है। इस सीट से अभी तक सपा के विधायक रहे हाजी रिजवान टिकट कटने के बाद बीएसपी में शामिल हो गए हैं। बीएसपी ने उन्हें यहां से उम्मीदवार बना दिया है। वहीं बीजेपी ने कमल प्रजापति और कांग्रेस ने दरकशा बेगम को अपना उम्मीदवार बनाया है।

इसी तरह शाहजहांपुर की तिलहर सीट पर सपा ने बीजेपी के बागी विधायक रोशन लाल वर्मा पर दांव खेला है। रोशन लाल ही स्वामी प्रसाद मौर्य का इस्तीफा लेकर राजभवन पहुंचे थे। वहीं, बीजेपी ने इस बार यहां से सलोना कुशवाहा और बीएसपी ने नवाब फैजान अली खान को मैदान में उतारा है। कांग्रेस ने रजनीश गुप्ता पर भरोसा जताया है।

इस चरण में दसवीं हॉट सीट अमरोहा है, जहां से समाजवादी पार्टी सरकार में मंत्री रहे महबूब अली फिर से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। महबूब अली के खिलाफ बीजेपी ने राम सिंह तो बीएसपी ने मोहम्मद नवैद अयाज और कांग्रेस ने सलीम खान को अपना उम्मीदवार बनाया है।

गौरतलब है कि दूसरे चरण में जिन 55 सीटों पर मतदान होना है, उनमें से ज्यादातर पर 2017 में बीजेपी ने जीत हासिल की थी। मुस्लिम और दलित बाहुल्य इन 55 सीटों में से बीजेपी ने 2017 में 38 सीटों पर जीत दर्ज की थी। 15 सीटों पर सपा और दो पर कांग्रेस की जीत हुई थी। समाजवादी पार्टी ने जिन 15 सीटों पर जीत दर्ज की थी, उनमें 10 मुस्लिम उम्मीदवार जीते थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia