78 के हुए बिग बी, कोरोना के कारण उनके मंदिर में नहीं दिखी रौनाक, वर्चुअल मुलाकात का आयोजन

दक्षिण कोलकाता के बालीगंज फाड़ी के पास बॉन्डेल गेट इलाके में स्थित महानायक अमिताभ बच्चन के मंदिर में रविवार को 11 अक्टूबर के दिन वह रौनक देखने को नहीं मिल रही है, जो हर बार यहां देखने को मिलती है।

फोटो : IANS
फोटो : IANS
user

आईएएनएस

दक्षिण कोलकाता के बालीगंज फाड़ी के पास बॉन्डेल गेट इलाके में स्थित महानायक अमिताभ बच्चन के मंदिर में रविवार को 11 अक्टूबर के दिन वह रौनक देखने को नहीं मिल रही है, जो हर बार यहां देखने को मिलती है। कोरोना वायरस महामारी के चलते भक्त अपने प्रिय अभिनेता के जन्मदिन को धूमधाम से भले ही नहीं मना पा रहे हैं, लेकिन उनमें जोश-उत्साह की कोई कमी नहीं है।

बॉलीवुड अभिनेता आज अपना 78वां जन्मदिन मना रहे हैं, ऐसे में मंदिर के संस्थापकों ने एक वर्चुअल मीट का आयोजन किया है, जिसमें बिग बी द्वारा अपने इन्हीं चाहनेवालों के साथ मुखातिब होने की योजना है। अपने प्रशंसकों के इस श्रेणी को बिग बी ने एक्सटेंडेड फैमिली का नाम दिया है।

बिग बी के नाम से बने इस मंदिर में होम यज्ञ, पूजा-अर्चना का आयोजन किया जाता है। भोग प्रसाद का वितरण किया जाता है और केक भी काटे जाते हैं। साल 2011 में यह मंदिर बनकर तैयार हुआ था, तब से यह रिवाज बरकरार है।

हालांकि, इस बार कोविड-19 के चलते स्थिति कुछ अलग है। संयमित तरीके से चीजों का पालन किया जाएगा। अभिनेता के जन्मदिन के सेलिब्रेशन में केवल मंदिर के मुख्य सदस्य ही भाग लेंगे और इस बार बाहर के किसी को भी मंदिर में आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए यह व्यवस्था अपनाई गई है।

मंदिर के संस्थापक संजय पाटोदिया ने आईएएनएस को बताया, "हम उनके जन्मदिन पर एक वर्चुअल मीटिंग का आयोजन कर रहे हैं, जिसमें सर खुद भी शामिल होने वाले हैं। हमने उन्हें आमंत्रित किया था और उन्होंने इसके जवाब में कहा था कि वह कुछ समय के लिए इसमें भाग लेंगे। दुनिया भर से उनके एक्सटेंडेड फैमिली के साथ दोपहर के बारह बजे से दो बजे तक के बीच में यह मीटिंग रखी गई है। हम फिल्म निर्माता शूजीत सरकार, कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव और गायक सुदेश भोंसले को भी इसमें भाग लेने के लिए आमंत्रित करेंगे।"

उन्होंने आगे कहा, "इस बार गुरू (अमिताभ को प्यार व इज्जत से उनके प्रशंसक इसी नाम से बुलाते हैं) का जन्मदिन खास है क्योंकि उन्होंने कोरोनावायरस से जंग लड़ी है और इसे मात दी है। उन्होंने साबित किया है कि वह असल में एक वीर है।"

वह आगे कहते हैं, "इस बार कोविड-19 के चलते हम लोगों को नहीं बुला रहे हैं। मंदिर को सजाया जाएगा और 15-20 करोड़ सदस्यों के सामने केक कटिंग होगी। हर बार की तरह हम उन्हें भोग अर्पित करेंगे, सबसे पहले उनके माता-पिता की पूजा होगी और उनकी आराधना की जाएगी। इसके बाद अमिताभ चालीसा का पाठ किया जाएगा, इसके बाद हम बर्थडे केक काटेंगे।" इस साल, मंदिर के सदस्य बच्चन के नाम पर एक 1000 मास्क, 1000 सैनिटाइजर की बोतलें और 200 लोगों को सूखा राशन वितरित कर रहे हैं।

लोकप्रिय
next