सिनेजीवन: सुशांत की पूर्व मैनेजर श्रुति मोदी से नहीं हुई पूछताछ और स्वारा का कंगना को करारा जवाब, बोलीं- शर्मनाक...

सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व मैनेजर श्रुति मोदी से बुधवार को पूछताछ नहीं हो सका। एनसीबी के सामने पेश होने के कुछ घंटे बाद, उन्हें वापस भेज दिया गया। कंगना रनौत की इस बात पर अब स्वरा भास्कर ने भी जवाब दिया है। स्वरा भास्कर ने कंगना रनौत के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि शर्मनाक कमेंट।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

स्वारा भास्कर का कंगना को करारा जवाब, बोलीं- शर्मनाक, बड़ों की इज्जत करना...

जया बच्चन ने बीते दिन बीजेपी सांसद रवि किशन और कंगना रनौत को आडे़ हाथों लेते हुए कहा था कि जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं। जया बच्चन के इस बयान को लेकर कंगना रनौत ने भी उनपर पलटवार किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि कौन सी थाली दी है जया जी और उनकी इंडस्ट्री ने? ये मेरी अपनी थाली है जया जी आपकी नहीं। कंगना रनौत की इस बात पर अब स्वरा भास्कर ने भी जवाब दिया है। स्वरा भास्कर ने कंगना रनौत के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि शर्मनाक कमेंट। बड़ों की इज्जत करना भारतीय संस्कृति का पहला सबक है और तुम तो कथित राष्ट्रवादी हो।

काम शुरू होने को लेकर मैं चिंतित नहीं हूं : सोनाक्षी सिन्हा


अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा का कहना है कि वह काम पर दोबारा वापसी करने के लिए परेशान नहीं हैं और कोरोनाकाल में इंडस्ट्री में होने वाले बदलावों को लेकर भी वह चिंतित नहीं हैं। अभिनेत्री ने साझा किया कि उन्हें लॉकडाउन की यह जिंदगी काफी पसंद आ रही है।

सोनाक्षी ने कहा, "मुझे यह कहने में कोई हर्ज नहीं है कि मुझे लॉकडाउन वाली जिंदगी काफी पसंद आ रही है। पिछले दस सालों में, मैंने लंबे समय तक के लिए कोई ब्रेक नहीं लिया है, जहां कि मैं अपने आप के साथ समय बिता सकूं, यह समझ सकूं कि मुझे जिंदगी से क्या चाहिए, समस्याओं का समाधान ढूंढूं, चीजों पर मंथन करूं, यह जान सकूं कि जिंदगी में क्या जरूरी है और क्या नहीं। मुझे यह समय काफी अच्छा लग रहा है।"


एसआईटी सदस्य के कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद श्रुति मोदी से नहीं हुई पूछताछ

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व मैनेजर श्रुति मोदी के बुधवार को पूछताछ के लिए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के सामने पेश होने के कुछ घंटे बाद, उन्हें वापस भेज दिया गया। ऐसा टीम के अधिकारियों में से एक के कोरोना पॉजिटिव निकलने के कारण किया गया। एनसीबी के उप निदेशक के.पी.एस. मल्होत्रा ने एक बयान में कहा, "एनसीबी एसआईटी टीम का एक सदस्य जांच में कोविड-19 पॉजिटिव निकला। एंटीजन टेस्ट रिपोर्ट अभी एनसीबी को मिली।"

मल्होत्रा ने कहा, एहतियात के मद्देनजर एसआईटी के अन्य सदस्यों की भी जांच करायी जाएगी और सभी निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा, "तदनुसार, एनसीबी ने श्रुति मोदी को वापस भेज दिया है, जो आज सुबह जांच में शामिल हुई थी।"

श्रुति मोदी को जांच में शामिल होने के लिए एनसीबी ने मंगलवार को तलब किया था। श्रुति मोदी के अलावा, सुशांत की टैलेंट मैनेजर जया साहा को भी एजेंसी द्वारा तलब किया गया था।

मैं नकारात्मक किरदार बुद्धिमानी से चुनता हूं: पंकज त्रिपाठी


अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने अपने शानदार प्रदर्शनों से प्रशंसकों का खूब मनोरंजन किया है। उनके द्वारा निभाए गए किरदारों में कुछ नकारात्मक भूमिकाएं भी हैं, जैसे कि वेब सीरीज में खूंखार गैंगस्टर कालिन भैया, गैंग्स ऑफ वासेपुर में कसाई सुल्तान और सेक्रेड गेम्स में गुरुजी। उनका कहना है कि वह नकारात्मक किरदारों को बुद्धिमानी से चुनते हैं।

पंकज ने कहा, "हमारे युवा दिनों में खलनायकों को लेकर विचार सीमित था। हालांकि खलनायकों के किरदार भी कहानियों पर निर्भर करता है। पहले 'मिजार्पुर' और 'गुड़गांव' के साथ और फिर 'सेक्रेड गेम्स' में मैं मनुष्यों के काले पक्ष को उजागर करने में सक्षम रहा हूं।"

उन्होंने आगे कहा, "मैं नकारात्मक किरदारों को बुद्धिमानी से चुनता हूं।" हालांकि अभिनेता ने यह सुनिश्चित करने की कोशिश की है कि उनकी कोई भी भूमिका एक जैसी न हो।


इंडस्ट्री के नियम सही नहीं हैं : अनंग्शा विश्वास


अभिनेत्री अनंग्शा विश्वास का कहना है कि उन्हें इस बात का एहसास हुआ है कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के कायदे-कानून उचित नहीं हैं और खुद को वह गर्व के साथ आउटसाइडर कहती हैं। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से बॉलीवुड में 'भाई-भतीजावाद' और 'इंसाइडर व आउटसाइडर' को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं।

अनंग्शा कहती हैं, "मैं एक थिएटर एक्टर हूं और मैंने सिडनी से अभिनय पर प्रशिक्षण प्राप्त किया है। शुरुआत में, मैंने सोचा था कि मैं काम को अच्छे से सीख खुद को साबित करूंगी और करियर में आगे बढूंगी। हालांकि, जल्द ही मैंने महसूस किया कि इस इंडस्ट्री के नियम अनुचित हैं।"

वह आगे कहती हैं, "आप कितनी ही मेहनत क्यों न कर लें, इसका तब तक कोई फर्क नहीं पड़ता, जब तक कि आप यहां किसी को जानते नहीं हैं और दुभाग्र्यवश मैं किसी को नहीं जानती थी।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;