मधुबालाः आज के दिन दुनिया छोड़ गई थी आसमां से उतरी मल्लिका

मधुबाला के चाहने वालों को यह दुख रहा है कि इस खूबसूरती की मल्लिका को 36 साल की उम्र में ऊपर वाले ने अपने पास बुला लिया। 23 फरवरी 1969 को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया था।

फाइल फोटो : सोशल मीडिया से
फाइल फोटो : सोशल मीडिया से
user

इकबाल रिजवी

वो दुनिया की सबसे खूबसूरत औरत मानी जाती हैं। उन्हें लाखों लोगों ने दिल दिया, लेकिन ये उनकी बदकिस्मती ही थी कि उन्हें कभी उनका प्यार नहीं मिल सका और जब शादी की, तो मां नहीं बन सकीं। बात हो रही है भारतीय सिनेमा की वीनस कही जाने वाली मधुबाला की।

उनका असली नाम मुमताज जहां था। घर की आर्थिक मदद के लिये महज 6 साल की उम्र से उन्होंने फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया। मशहूर निर्देशक केदार शर्मा ने उन्हें फिल्मी नाम मधुबाला दिया। यही नाम फिल्मों के इतिहास में हमेशा के लिये अमर हो गया।

फाइल फोटो
फाइल फोटो
(बाएं से) फिल्म “रेल का डिब्बा” में मधुबाला, ‘मुगल-ए-आज़म’ का एक सीन और मई 1959 में ‘फिल्मफेयर’ पत्रिका में प्रकाशित मधुबाला की फोटो

मधुबाला की मुस्कुराहट फरिश्तों जैसी थी, इसका अंदाज आज भी उनकी फिल्में देख कर किया जा सकता है। इस मुस्कुराहट ने हर उस शख्स को दीवाना बना दिया, जिसे उनके नजदीक जाने का मौका मिला। उस वक्त मधुबाला की उम्र महज 17 साल थी जब उन्होंने प्रेमनाथ के साथ फिल्म बादल (1951) साइन की। मधुबाला की सुंदरता के साथ ही उनके सौम्य व्यवहार ने कुछ ही दिनो में प्रेमनाथ को उनका दीवाना बना दिया। प्रेमनाथ ने मधुबाला के सामने अपने प्यार का इजहार भी कर दिया। मधुबाला शरमा कर चुप हो गयीं। प्रेमनाथ ने जल्द ही फैसला कर लिया कि वे मधुबाला से शादी करेंगे। उसी समय मधुबाला ने दिलीप कुमार के साथ फिल्म तराना (1951) साइन की। अपनी मुस्कुराहट से कयामत ढाने वाली मधुबाला, खुद दिलीप कुमार की शरमीली मुस्कुराहट का शिकार हो गयीं।

उस दौर की फिल्मी पत्रिकाओं ने इस मुद्दे पर खूब छापा कि देखें प्रेमनाथ और दिलीप कुमार में कौन मधुबाला का दिल जीत पाता है। खैर दिलीप कुमार का नाम सुनते ही आंखों की चमक और चेहरे पर छा जाने वाली सुर्खी ने प्रेमनाथ के सामने सारी स्थिति साफ कर दी। वो खामोशी से रास्ते से हट गए। लेकिन, मधुबाला के चाहने वालों की संख्या नहीं घटी। शम्मी कपूर ने तो अपनी मां के सामने एलान कर दिया था कि वे मधुबाला से ही शादी करेंगे। भारत भूषण और प्रदीप कुमार का नाम भी उनके चाहने वालों की सूची में रखा जाता है, लेकिन मधबीली को अपना जीवन साथी बनाने में कामयाब हुए किशोर कुमार।

दिलीप कुमार और मधुबाला की मोहब्बत शादी की देहरी तक पहुंच गयी थी। उस समय मधुबाला अपने परिवार के लिये सोने का नहीं, बल्कि हीरे का अंडा देने वाली मुर्गी थीं। तभी फिल्म मधुमति ( इसमें पहले मधुबाला को हिरोइन के रूप में लिया गया था) की आऊटडोर शूटिंग के मुद्दे पर फिल्म निर्दशक बीआर चोपड़ा और मधुबाला के पिता अताउल्ला खान में मुकदमे बाजी शुरू हो गयी। इस मामले में दिलीप कुमार ने चोपड़ा का साथ दिया। यहीं से अताउल्ला ने मधुबाला और दिलीप के रिश्तों को हमेशा के लिये खत्म कर दिया।

मधुबाला दिलीप कुमार को किस हद तक चाहती थीं यह मधुबाला के करीबी लोग जैसे अजित, निम्मी, के आसिफ और नादिरा अच्छी तरह जानते थे। निम्मी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि फिल्म अमर(1954) के सेट पर निम्मी और मधुबाला में गहरी दोस्ती हो गयी थी। वे अपने भोजन के साथ-साथ मेकअप रूम और अपने अनुभवों को भी शेयर करती थीं। दोनों इतनी गहरी दोस्त हो गयीं कि दोनों के बीच दिलीप कुमार को लेकर भी चर्चाएं होने लगीं, जो उस फिल्म में मुख्य अभिनेता की भूमिका निभा रहे थे। दिलीप कुमार को अपना दिल दे चुकीं मधुबाला के दिमाग में निम्मी की बातों से थोड़ा शक पैदा हुआ। मधुबाला के मन में यह स्वभाविक सवाल उठा, ‘‘निम्मी दिलीप का उतना ही ख्याल क्यों रखती है, जितना मैं रखती हूं? अगर ऐसा है तो मुझे क्या करना चाहिए?’’

एक दिन मधुबाला ने निम्मी से कहा, ‘‘निम्मी, क्या मैं तुमसे कुछ पूछ सकती हूं? मुझे विश्वास है कि तुम मुझसे झूठ नहीं बोलोगी और मुझसे कुछ नहीं छुपाओगी।’’ जब निम्मी ने उन्हें आश्वस्त किया तो उन्होंने कहा कि अगर तुम दिलीप कुमार के बारे में वैसा ही महसूस करती हो जैसा मैं करती हूं तो मैं तुम्हारी खातिर उनकी जिंदगी से निकल जाउंगी और मैं उन्हें तुम्हारे लिये छोड़ दूंगी.’’ निम्मी को यह सुन कर गहरा धक्का लगा। फिर निम्मी ने खुद को संभालते हुए मधुबाला से दोस्ताना अंदाज में कहा कि वे मधुबाला की तरह खूबसूरत नहीं है, लेकिन उन्हें दान में पति नहीं चाहिये।

मधुबाला के चाहने वालों को ऊपर वाले से यह शिकायत रही है कि इस बेमिसाल खूबसूरती की मलिका को महज 36 साल की उम्र में दुनिया से उठा लेना अगर जुल्म नहीं तो ज्यादती जरूर थी. 14 फरवरी 1933 को जन्मी मधुबाला की 23 फरवरी 1969 को मृत्यु हो गयी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 14 Feb 2018, 7:59 AM
लोकप्रिय