हरियाणा: NCR के जिलों में कोरोना का कोहराम, रेवाड़ी को दो दिन के लिए बंद किया गया

हरियाणा में एनसीआर के शहरों में बढ़ते कोरोना केस चिंता का सबब बनते जा रहे हैं। दिल्‍ली के नजदीक रेवाड़ी राज्‍य का पांचवां ऐसा शहर बन गया है, जहां कोरोना के मामले 1000 से अधिक हो गए हैं। इसी देखते हुए जिला प्रशासन ने पूरे शहर को 2 दिन के लिए बंद करने का आदेश जारी कर दिया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

धीरेंद्र अवस्थी

हरियाणा में एनसीआर के शहरों में बढ़ते कोरोना केस चिंता का सबब बनते जा रहे हैं। दिल्‍ली के नजदीक रेवाड़ी राज्‍य का पांचवां ऐसा शहर बन गया है, जहां कोरोना के मामले 1000 से अधिक हो गए हैं। इसी देखते हुए जिला प्रशासन ने पूरे शहर को 2 दिन के लिए बंद करने का आदेश जारी कर दिया है। 20 और 21 जुलाई को रेवाड़ी के बाजार नहीं खुलेंगे। औद्योगिक क्षेत्र धारूहेड़ा भी कोरोना का हॉटस्पॉट बन रहा है। इसी को देखते हुए धारूहेड़ा भी दो दिन बंद रखने का फैसला किया गया है।

हरियाणा में रविवार को 617 नए कोरोना मरीज आने के साथ ही राज्‍य में कुल मरीजों की तादाद 26164 हो गई है। साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मुताबिक 5 और मौतों के साथ प्रदेश में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 349 हो गया है। एनसीआर के जिले गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और रोहतक के बाद अब रेवाड़ी राज्‍य सरकार के लिए चिंता का सबब बन गया है। यह पांचवां ऐसा जिला है, जहां कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1000 को पार करते हुए 1017 हो गया है। कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए जिला प्रशासन ने अब सख्ती शुरू की है। फरमान का उल्‍लंघन करने पर अब लोगों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। यदि कोई होम आइसोलेट किया गया व्यक्ति घर से बाहर मिलता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज होगी। दिल्ली-जयपुर ड्यूटी वालों की भी सूची तैयार करने के लिए रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन को जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिलाधीश ने आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 और एपिडमिक एक्ट में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए नगर परिषद लिमिट रेवाड़ी शहर, नगर पालिका धारूहेडा तथा धारूहेडा के साथ लगती कालोनियों को 20 और 21 जुलाई को बंद रखने के आदेश जारी किए हैं। प्रशासन इन दो दिनों के दौरान यहां विशेष सेनिटाइजेशन अभियान चलाएगा।

सावन में भी गुरुग्राम और फरीदाबाद के मंदिर नहीं खुले

प्रदेशभर में सावन में मंदिरों के कपाट खुले हैं। सरकार ने फरीबाद और गुरुग्राम में भी टोकन सिस्‍टम से मंदिर में दर्शन की अनुमति दी थी, लेकिन कोरोना के हालात के चलते दोनों शहरों में कोई भी मंदिर नहीं खुला है। जिला प्रशासन यहां कोई जोखिम लेने के लिए तैयार नहीं है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय