अंपायर की इस एक गलती की वजह धोनी हुए आउट और टीम इंडिया हो गई विश्व कप से बाहर? देखें वीडियो

विश्व कप 2019 में टीम इंडिया का सफर सेमीफाइनल में ही समाप्त हो गया। भारतीय टीम इस बार विश्व कप की सबसे प्रबल दावेदार मानी जा रही थी। लेकिन दो दिन तक चले रोमांच से भरे मैच में न्यूजीलैंड से 18 रनों से हारकर टीम इंडिया का विश्व कप जीतने का सपना सपना ही रह गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

विश्व कप 2019 में टीम इंडिया का सफर सेमीफाइनल में ही समाप्त हो गया। भारतीय टीम इस बार विश्व कप की सबसे प्रबल दावेदार मानी जा रही थी। लेकिन दो दिन तक चले रोमांच से भरे मैच में न्यूजीलैंड से 18 रनों से हारकर टीम इंडिया का विश्व कप जीतने का सपना सपना ही रह गया। वहीं मैच को लेकर सोशल मीडिया पर कई सवाल भी खड़े किए जा रहे हैं। एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें हार के लिए अंपायर के गलत फैसले को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें यह कहा जा रहा है कि जिस गेंद पर महेंद्र सिंह धोनी रन आउट हुए थे वह बॉल नो बॉल थी। कहा जा रहा है कि अंपायर ने पावर प्ले के दौरान फिल्डिंग के नियमों की अनदेखी की जिस वजह से धोनी रन आउट हुए। लोगों का कहना है कि तीसरे पावर प्ले में तीस गज के दायरे के बाहर अधिकतकम 5 खिलाड़ी ही बाहर रह सकते हैं, लेकिन धोनी के रन आउट के वक्त 6 खिलाड़ी सर्कल से बाहर थे। हालांकि ये बताया जा रहा कि यह ग्राफिक्स की गलती थी।


एक अन्य यूजर ने ट्वीट किया कि ‘अंपायरिंग में गलती? क्या वे इसे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में सहन कर सकते थे? सर्कल के बाहर 6 खिलाड़ी... वह तीसरे पावर प्ले में, कितनी देर इस तरह खेले?

एक यूजर ने ट्वीट किया कि कितनी बढ़िया अंपायरिंग..? महेंद्र सिंह धोनी को रन आउट नहीं दिया जाना चाहिए था क्योंकि गेंद नो बॉल थी। धोनी को खेलने चाहिए था और भारत जीतता। क्या महान वर्ल्ड कप है? क्या महान अंपायरिंग है?


ये है तीसरे पावर प्ले का नियम

तीसरे पावर प्ले में 30 गज के घेरे के बाहर अधिकतम पांच ही खिलाड़ी रह सके हैं। उससे कम या ज्यादा होने पर नो बॉल करार दी जाती है। नो बॉल रहने पर रन आउट के अलावा किसी और तरीके से बल्लेबाज आउट नहीं हो सकता। यानी अंपायर ने नो बॉल दी होती, तो भी धोनी रन आउट होते।

बता दें कि पहले सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड ने भारत को 18 रनों से हराया था। इस मैच में भारतीय टॉप ऑर्डर पूरी तरह से फेल रही थी। हालांकि बाद में धोनी-जडेजा की जोड़ी ने भारत को मैच में वापसी करा दी थी। जडेजा के आउट होने के बाद धोनी टीम इंडिया की आखिरी उम्मीद थे। आखिरी दो ओवरों में भारत को 31 रनों की दरकार थी। धोनी ने पहली गेंद पर छक्का मारा और दूसरी गेंद पर दो रन लेने के चक्कर में रन आउट हो गए और मैच यहीं भारत दूर चला गया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Jul 2019, 3:05 PM