विश्व कप 2019 का महामुकाबला: दिल्ली ने दिल से कहा-पाकिस्तान को ‘धो’ देगा भारत 

भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच रविवार को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड मैदान पर आईसीसी विश्व कप का महामुकाबला खेला जाना है। ऐसे में जबकि भारतीय टीम विश्व कप में पाकिस्तान के हाथों अब तक एक भी मैच नहीं हारी है, दिल्ली में इस मैच को लेकर जबरदस्त उत्साह है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

भारतीय टीम विश्व कप में पाकिस्तान के हाथों अब तक एक भी मैच नहीं हारी है, दिल्ली में इस मैच को लेकर जबरदस्त उत्साह है और लोगों की यही उम्मीद है कि भारत एक बार फिर अपने इस पड़ोसी को 'धो' देगा।

भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को हालांकि 2017 के चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान के हाथों मिली हार अभी भी टीस देती है लेकिन उन्हें इतना यकीन है कि भारतीय टीम लंदन के केनिंग्टन ओवल मैदान पर मिली उस हार का हिसाब बराबर करेगी और प्रशंसकों के दुखते रगों पर मरहम लगाएगी।

दोनों देशों के बीच होने वाले मैच को लेकर भारतीय प्रशंसक क्या सोचते हैं इस बारे में आईएएनएस संवादादाता ने राष्ट्रीय राजधानी में अलग-अलग स्थानों पर कुछ लोगों से बात की। सभी के दिल में एक ही बात है- भारत की जीत।

साउथ एक्सटेंशन पार्ट-1 में स्थित एमएएसी (मैक) इंस्टीट्यूट से एनिमेशन का कोर्स कर रहे रवि कुमार ने कहा कि जीत तो निश्चित भारत की होगी और चैम्पियंस ट्रॉफी की हार का बदला भी पूरा होगा। रवि ने कहा, "जीतेगा तो भारत ही। अभी तक हम विश्व कप में हारे नहीं हैं और इस बार भी नहीं हारेंगे। हमारी टीम पाकिस्तान से काफी मजबूत है। हमारी बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों। जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार तो पाकिस्तान के बल्लेबाजों को रन नहीं बनाने देंगे और कोहली एक बार फिर सौ मारेगा।"

रवि हालांकि इंग्लैंड की स्थिति से वाकिफ हैं और इसलिए उन्हें चिंता है कि बारिश इस मैच के रोमांच पर पानी न फेर दे।

साउथ एक्सटेंशन मार्केट में पान की दुकान चलाने वाले विजयभान पांडे के विचार भी अलग नहीं है। वह पूरे आत्मविश्वास से कहते हैं, "ये कोई पूछने की बात है। जीतेगा को इंडिया ही। "

दोनों टीमों के बीच विश्व कप में 1992 से लेकर 2015 तक कुल छह मैच हुए हैं। सभी में भारत ने जीत हासिल की है। दोनों टीमों के बीच सिर्फ वेस्टइंडीज में 2007 में खेले गए विश्व कप में कोई मुकाबला नहीं हुआ था।

जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम के बाहर मिले 37 साल के रामकिशोर को पूरी उम्मीद है कि कोहली इस मैच में शतक जमाएंगे और भारत को जीत दिलाएंगे। रामकिशोर ने कहा, "मैं काम के कारण ज्यादा मैच देख नहीं पाता हूं। चूंकि कल भारत और पाकिस्तान का मैच है तो मैं बीच-बीच में देखता रहूंगा। उम्मीद तो है कि भारत जीतेगा और कोहली 100 से ज्यादा रन बनाएगा।"

हिन्दुस्तान में इस समय किसी से भी यह सवाल किया जाए तो जबाव लगभग यही होंगे। यह मैच विश्व कप से भी ऊपर रखा जाता है। 2003 में जब भारत ने पाकिस्तान को मात दी थी तो भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली ने भी यह बात दोहराई थी कि, "हमारा विश्व कप तो यही मैच था।"

भारत की मौजूदा टीम के कप्तान कोहली ने हालांकि कई मौकों पर कहा है कि उनके और उनकी टीम के लिए यह सिर्फ दूसरे मैचों की तरह है, लेकिन माहौल ऐसी स्थिति बयां नहीं करते।

इस मैच को लेकर आलम इंग्लैंड में भी अलग नहीं है। ब्रिटेन में लाखों की संख्या में भारतीय और पाकिस्तानी मूल के लोग रहते हैं और इसी कारण इस 'महामुकाबले' के लिए टिकटों की कीमत लाखों रुपये तक पहुंच गई है। 20 हजार क्षमता वाले ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में होने वाले इस मैच के टिकट विंडो खुलने के कुछ ही घंटों में बिक गए लेकिन जिन लोगों ने उस समय टिकट खरीदा था, अब वे उन्हें बेचकर भारी मुनाफा कमा रहे हैं।

बात सिर्फ यहीं तक नहीं रूकती है। दोनों देशों में टीवी विज्ञापनों पर भी इस मैच का खुमार छाया हुआ है और यहां एक अलग जंग जारी है। स्टार स्पोटर्स के विज्ञापन के जवाब में पाकिस्तान के जैज टीवी ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को लेकर एक वीडियो जारी किया और भारत का माखौल उड़ाया। इसके जवाब में भारत की ओर से शुक्रवार देर रात एक वीडियो जारी किया गया, जिसमें जैज टीवी के वीडियो का करारा जवाब दिया गया है। इस वीडियो को 20 घंटो में 10 लाख से अधिक लोग देख चुके हैं।

इस मैच को लेकर हालांकि भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ज्यादा हाइप नहीं दिया। कोहली ने एक दिन पहले कहा था, "हम आपसे पहले भी कई दफे कह चुके हैं। अगर आप खिलाड़ियों से पूछेंगे तो उनकी सोच प्रशंसकों से अलग होती है। हां, हम मैदान में जाते हुए रोमांच और उत्सुकता को महसूस कर सकते हैं लेकिन हमारे लिए यह सिर्फ एक मैच होगा, जो हम जीतना चाहेंगे। माहौल को देखते हुए हम पर दबाव होगा क्योंकि इस मैच के लिहाज से हमसे कई सारी अपेक्षाएं होंगी लेकिन जैसी ही हम मैदान में जाएंगे हम क्रिकेट पर फोकस करेंगे।"

1992 में खिताब जीतने वाली पाकिस्तानी टीम के कप्तान सरफराज अहमद ने भी बिल्कुल यही बात कही। भारत ने 1983 और 2011 में यह खिताब अपने नाम किया है। 2011 में दोनों टीमें सेमीफाइनल में भिड़ी थीं, जिसे भारत ने जीतते हुए फाइनल में प्रवेश किया था।

इस विश्व कप में दोनों टीमों के सफर के बारे में बात की जाए तो भारत ने अब तक तीन मुकाबले खेले हैं। उसे दो में जीत मिली है जबकि उसका एक मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था। भारतीय टीम पांच अंकों के साथ 10 टीमों की तालिका में तीसरे स्थान पर है जबकि पाकिस्तान ने चार मैच खेले हैं और दो में हार तथा एक में जीत मिली है। उसका भी एक मैच रद्द हुआ है। यह टीम तीन अंकों के साथ आठवें स्थान पर है।

लोकप्रिय