विश्व कप जीतने के बाद इंग्लैंड के कप्तान बोले, ‘अल्लाह हमारे साथ थे’ 

यह पूछे जाने पर कि इस रोमांचक मैच में किस्मत आपके साथ थी, कप्तान ने कहा, “ अल्लाह हमारे साथ थे। मैंने आदिल राशिद से बात की थी, उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से अल्लाह हमारे साथ थे।”

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

विश्व कप विजेता इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने खिताबी जीत के बाद विपक्षी टीम न्यूजीलैंड की तारीफ की है। मोर्गन ने मैच के बाद कहा, "वास्तव में, उनके लिए यह टूर्नामेंट हमसे भी अच्छा रहा। फर्क केवल इतना है कि यह ट्रॉफी यहां है।"

उन्होंने कहा, "ग्रुप चरण में भी न्यूजीलैंड का प्रदर्शन काफी बेहतरीन रहा था। उनके प्रदर्शन में निरंतरता साफ दिखाई दे रही थी और सेमीफाइनल में भी उन्होंने भारत के खिलाफ गजब का खेल दिखाया।" यह पूछे जाने पर कि इस रोमांचक मैच में किस्मत आपके साथ थी, कप्तान ने कहा, " अल्लाह हमारे साथ थे। मैंने आदिल राशिद से बात की थी, उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से अल्लाह हमारे साथ थे।"

इंग्लैंड ने रविवार को ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए विश्व कप के फाइनल में सुपर ओवर में भी मैच टाई रहने के बाद ज्यादा बाउंड्री के आधार पर न्यूजीलैंड को हराकर खिताब अपने नाम किया। हालांकि इंग्लैंड को विजेता घोषित किए जाने को लेकर पूर्व क्रिकेटरों ने सवाल खड़े किए हैं।

जिस नियम के तहत इंग्लैंड की जीत करार दी गई उस नियम को क्रिकेटर बेतुका बता रह हैं। आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा, "इंग्लैंड को बधाई। न्यूजीलैंड के साथ मुझे हमदर्दी है। मुझे कहना होगा कि यह फाइनल के विजेता का फैसला निकालने का खराब तरीका है। नियम बदलना चाहिए।"

भारत के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने कहा, "ज्यादा बाउंड्री वाले नियम को पचा पाना काफी मुश्किल है। सडन डेथ, सुपर ओवर तब तक जारी रहना चाहिए था जब तक विजेता का फैसला न निकले। समझते हैं कि एक विजेता जरूरी होता है लेकिन बाउंड्री के आधार पर इसका फैसला करने से बेहतर है कि ट्रॉफी साझा की जाए। न्यूजीलैंड के लिए यह काफी मुश्किल है।"

आस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डीन जोंस ने कहा, "इंग्लैंड को पहली विश्व कप जीत पर बधाई। न्यूजीलैंड दुर्भाग्यशाली रहा। खेल के नियमों को देखना चाहिए। यह विश्व कप फाइनल था।"
युवराज सिंह ने तो साफ तौर पर इस नियम को मानने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, "मैं इस नियम से सहमत नहीं हूं। लेकिन नियम तो नियम हैं। इंग्लैंड को बधाई। मेरी सांत्वाना कीवी टीम के साथ हैं। वह अंत तक लड़े। शानदार खेल, बेहतरीन फाइनल।"

Published: 15 Jul 2019, 8:30 PM
लोकप्रिय