दिल्ली में कोरोना का कहर: एक दिन में सबसे ज्यादा मौतों का रिकॉर्ड, संक्रमितों की संख्या 7600 पार  

बीते 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोरोना वायरस से 13 लोगों की मौत हुई है। कोरोना संक्रमण फैलने के बाद दिल्ली में कोरोना से एक दिन में होने वाली मौतों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

बीते 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोरोना वायरस से 13 लोगों की मौत हुई है। कोरोना संक्रमण फैलने के बाद दिल्ली में कोरोना से एक दिन में होने वाली मौतों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। कोरोना वायरस के कारण मरने वाले सभी 13 व्यक्ति दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती थे। इसके साथ ही दिल्ली में अब तक कोरोना वायरस के कारण मरने वाले व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 86 हो गई है। दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या भी 7600 के पार पहुंच चुकी है। 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 406 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद मंगलवार को दिल्ली में कोरोना के कुल मामले 7639 हो गए हैं। दिल्ली में कोरोना से अभी तक 86 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। रविवार को भी बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना वायरस से 5 लोगों की मौत हुई थी।

दिल्ली सरकार ने कोरोना के विषय में लिखित जानकारी साझा करते हुए कहा, "कोरोना से मरने वालों में सबसे अधिक 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के व्यक्ति हैं। दिल्ली में ऐसे कुल 1133 व्यक्तियों को कोरोना वायरस हुआ है जिनमें से अब तक तक 45 की मृत्यु हो चुकी है। वहीं 50 से 60 वर्ष की उम्र के 1172 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं इनमें से 26 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। सबसे अधिक कोरोना रोगी 50 वर्ष या उससे कम उम्र के व्यक्ति हैं। 50 वर्ष से कम उम्र के 5336 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से 15 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है।"

दिल्ली में कोरोना के 2512 रोगी अभी तक ठीक भी हो चुके हैं। इनमें से 383 रोगियों को सोमवार से मंगलवार के बीच अस्पताल से छुट्टी दी गई है। शहर में कुल 5041 कोरोना के एक्टिव रोगी हैं।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, "कोरोना तो है और अभी बहुत समय तक रहने वाला है। ऐसा नहीं है कि कोरोना एक-दो महीने में खत्म हो जाएगा। कोरोना को रोकने के लिए दिल्ली सरकार की तरफ से काफी कुछ किया गया है। पहले किसी को यह अंदाजा नहीं था कि कोरोना वायरस किस तरह का व्यवहार करता है और यह कैसे काम करता है। हमारे देश में और अन्य देशों में बहुत कुछ फर्क तो है। हमारे देश में कोरोना का खतरा अमेरिका के मुकाबले कम लगता है।"

दिल्ली में कोरोना के मामलों के दोगुना होने की रफ्तार अभी 11 दिन है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि अमेरिका में बहुत ज्यादा लोग गंभीर रूप से बीमार हैं। दिल्ली में कोरोना के 111 रोगी आईसीयू में हैं, जबकि उसमें से 20 लोग वेंटिलेटर पर हैं। दिल्ली सरकार के मुताबिक बाकी देशों में बहुत बड़ी संख्या में मरीज वेंटिलेटर पर और आईसीयू में हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली में अभी तक 1,06,109 टेस्ट किए जा चुके हैं। दिल्ली सरकार उन सभी इलाकों को हॉटस्पॉट मानकर सील कर रही है जहां कोरोना के 3 से अधिक मामले एक साथ पाए गए हैं।

दिल्ली में अब कुल 82 कोरोना कंटेनमेंट जोन है। इन इलाकों को दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस की मदद से पूरी तरह सील कर दिया है। किसी भी कोरोना कंटेनमेंट जोन या कोरोना हॉटस्पॉट में बाहर का कोई व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता। इसी तरह इन कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोग भी इस इलाके से बाहर नहीं आ सकते। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कोरोना का संक्रमण इन क्षेत्रों से निकलकर अन्य इलाकों में न फैल सके।

लोकप्रिय
next