जम्मू बस स्टैंड के पास ग्रेनेड फेंकने वाला गिरफ्तार, हिजबुल कमांडर के कहने पर किया धमाका: पुलिस

जम्मू बस स्टैंड पर हुए ग्रेनेड धमाके के बाद इलाके में दहशत का माहौल है। विस्फोट के बाद घटनास्थल पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है। पुलिस ने यासिर भट्ट नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

जम्मू बस स्टैंड पर हुए ग्रेनेड धमाके में पुलिस ने ग्रेनेड फेंकने वाले जिस आरोपी को गिरफ्तार किया है। उसने अपना नाम यासिर भट्ट बताया है। आईजीपी मनीष के सिन्हा ने एक प्रेस वार्ता करते हुए कहा, “जांच के लिए टीम का गठन किया गया है। सीसीटीवी फुटेज और लोगों से पूछताछ के आधार पर एक शख्स को गिरफ्तार किया है, आरोपी ने अपना नाम यासिर भट्ट बताते हुए अपना जुर्म कुबूला है।” मनीष सिन्हा ने यह भी बताया कि यासिर भट्ट को ग्रेनेड फेंकने का जिम्मा कुलगाम में हिजबुल मुजाहिदीन के डिस्ट्रिक्ट कमांडर फारूक अहमद भट्ट ने दिया था।

आज सुबह जम्मू बस स्टैंड पर हुए ग्रेनेड धमाके में पुलिस ने ग्रेनेड फेंकने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। यह जानकारी डीजीपी दिलबाग सिंह ने दी है। इस ग्रेनेड धमाके में इलाज के दौरान 1 शख्स की मौत हो गई थी। वहीं 27 लोगों का अस्पताल में इलाज जारी है। धमाके के बाद पूरे इलाके में दहशत का माहौल है। पुलिस ने बताया कि हमले के बाद सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया, जहां उनका इलाज जारी है। पुलवामा हमले के बाद अलर्ट जारी किया गया था, बावजूद इसके यह ग्रेनेड धमाका हो गया।

धमाके की वजह से स्टैंड पर मौजूद कई बसों के शीशे भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। जम्मू के आईजीपी एम के सिन्हा ने घटना स्थल पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली और मीडिया से बात करते हुए उन्होंने इस धमाके में घायल लोगों के बारे में जानकारी दी। ग्रेनेड धमाके के बाद घटनास्थल पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है।

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने जम्मू ग्रेनेड हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “स्थानीय स्तर पर इस मामले की जांच शुरू हो गई है। सरकार सुरक्षा बलों को पहले पूरी आजादी दे चुकी है। जो भी जरूरी कदम हैं, सुरक्षा बल उठा सकते हैं।”

बता दें कि पुलवामा हमले के बाद जम्मू-कश्मीर में अलर्ट जारी किया गया था। बावजूद इसके यह ग्रेनेड धमाका हुआ है। ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। पुलवामा हमले से पहले 28 दिसंबर को भी जम्मू के एक बस स्टैंड के पास ढाबे पर ऐसा ही ग्रेनेड धमाका हुआ था, जिसमें एक पानी की टंकी और आस पास की चीजों को नुकसान पहुंचा था।

Published: 7 Mar 2019, 2:03 PM
लोकप्रिय