अलविदा दीदी: सीमाओं से परे, राजनयिक हलकों में 'नाइटिंगेल ऑफ इंडिया' के लिए मनाया गया शोक

संगीत की कोई सीमा नहीं होती। दुनिया ने 'भारत की कोकिला' लता मंगेशकर के निधन की खबर सुनते ही संदेशों द्वारा शोक व्यक्त किया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

संगीत की कोई सीमा नहीं होती। दुनिया ने 'भारत की कोकिला' लता मंगेशकर के निधन की खबर सुनते ही संदेशों द्वारा शोक व्यक्त किया। भारत में अमेरिकी दूतावास ने अपने संदेश में लिखा, हम भारत की महान गायिका लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं, जिनका आज 92 वर्ष की आयु में निधन हो गया। इतिहास भारत के संगीत में उनके योगदान को सुनहरे शब्दों में अंकित करेगा।

भारत में इजरायल के दूतावास ने अपने शोक संदेश में लिखा, "हम भारत की कोकिला, लता मंगेशकर जी के निधन के बारे में सुनकर दुखी हैं। संगीत में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। ओम शांति!"

मुंबई में इजराइल के महावाणिज्य दूत कोबी शोशनी ने लिखा, "गाने संस्कृति का हिस्सा हैं, हमारी यादों का हिस्सा हैं। धन्यवाद लता जी।"

भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने लिखा, भारत रत्न लता मंगेशकर के निधन से गहरा दुख हुआ। वह अपने आप में एक संस्था थी, उन्हें उनके अतुलनीय गायन के लिए ऑफिसर डे ला लीजन डी'होन्योर से सम्मानित किया गया। दुनिया भर में उनके प्रियजनों और प्रशंसकों के प्रति हमारी हार्दिक संवेदना।"


भारत में अफगानिस्तान के राजदूत फरीद ममुंडजे ने लिखा, सात दशकों से अधिक समय से भारत की सबसे महान पाश्र्व गायिकाओं में से एक लता मंगेशकर की दुखद निधन से दुखी हूं। उनके गीतों ने संगीत के माध्यम से हर शैली और संस्कृतियों को फैलाया है। उन्हें पीढ़ियों तक उनकी स्थायी विरासत के लिए याद किया जाएगा।"

विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने लिखा, "भारत रत्न लता मंगेशकर जी के निधन से गहरा दुख हुआ। यह वास्तव में एक युग का अंत है।"

टी.एस. तिरुमूर्ति, संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत और स्थायी प्रतिनिधि ने लिखा कि राष्ट्र के लिए एक अपूरणीय क्षति है। संगीत की दुनिया के लिए एक अपूरणीय क्षति है। भारत रत्न लता मंगेशकर हमेशा हमारे दिलों में जीवित रहेंगी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 06 Feb 2022, 7:12 PM