चीनी माल के चक्कर में फंसे पाक को अब भारत का सहारा, पोलियो मार्कर्स के लिए इमरान ने फैलाया हाथ

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद भारत से कारोबार पर रोक लगाने वाले पाकिस्तान को अपना फैसला बदलना पड़ा है। चीन के पोलियो मार्कर्स से धोखा खाने के बाद अब इमरान सरकार ने इन्हें भारत से खरीदने के लिए दवा व्यापार से रोक हटा दी है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने भारत से पोलियो मार्कर्स खरीदने का फैसला किया है। इससे पहले पाक सरकार चीन से ये पोलियो मार्कर्स खरीद रही थी, लेकिन क्वालिटी बेहद घटिया होने की वजह से चीनी पोलियो मार्कर्स खुद समस्या बनते जा रहे थे। ऐसे में अवाम के दबाव के बीच मंगलवार को प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में हुई बैठक में उनकी सरकार ने अब भारत से ये पोलियो मार्कर्स खरीदने का फैसला किया है।

बता दें कि पाकिस्तान ने पहले भारत से ही 80 हजार मार्कर्स खरीदने का समझौता किया था। लेकिन पुलवामा हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना द्वारा पीओके में किए गए एयर स्ट्राइक और उसके बाद जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने से तिलमिलाए पाकिस्तान ने भारत के साथ तमाम तरह के कारोबार पर रोक लगा दिया था। इस रोक में दोनों देशो के बीच दवा व्यापार को भी रखा गया था। इसके बाद आनन-फानन में पाक सरकार ने इन्हें चीन से मंगाने का फैसला ले लिया, लेकिन वह काफी मंहगा पड़ गया।

पाकिस्तान के पोलियो उन्मूलन अभियान के प्रमुख राणा सफदर के अनुसार चीन से मंगाए गए मार्कर्स न सिर्फ काफी महंगे थे बल्कि उनकी क्वॉलिटी भी बहुत खराब थी। उन्होंने बताया कि असल में पोलियो ड्रॉप के बाद बच्चे कई बार मार्कर लगी उंगली अपने मुंह में रख लेते हैं। इस मामले में भारतीय मार्कर सुरक्षित यानी नॉन टॉक्सिक हैं, लेकिन चीनी मार्कर के साथ ऐसा नहीं है। पाकिस्तान ने कई बार इसकी शिकायत भी चीन सरकार से की, लेकिन गुणवत्ता सुधारने के भरोसे के सिवा कुछ नहीं मिला। अब पाकिस्तान ने इन्हें भारत से खरीदने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि पोलियो मार्कर्स का उपयोग बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के बाद उंगली पर निशान लगाने के लिए किया जाता है। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने सिर्फ भारत और चीन को पोलियो मार्कर्स के बनाने के लिए अधिकृत कर रखा है। पाकिस्तान के व्यापार पर एकतरफा रोक लगाने से वहां जीवनरक्षक दवाइयों का अकाल पड़ा तो उसमें पोलियो मार्कर्स भी शामिल थे। यहां बता दें कि दुनिया के केवल तीन देशों में पोलियो उन्मूलन नहीं हुआ है। ये देश हैं- पाकिस्तान, नाईजीरिया और अफगानिस्तान। साल 2014 में पाकिस्तान में पोलियो के कुल 306 मामले सामने आए थे। जबकि सिर्फ जून 2019 तक यहां 41 पोलियो केस सामने आ चुके हैं।

लोकप्रिय
next