अग्निपथ का विरोध : पटना पुलिस ने गुरु रहमान के ठिकानों पर मारा छापा, युवाओं को उकसाने का आरोप

पटना पुलिस ने फरार कोचिंग संचालक गुरु रहमान के कई ठिकानों पर छापेमारी की है, जिस पर रक्षा भर्ती की अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं को हिंसक आंदोलन के लिए उकसाने का आरोप है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पटना पुलिस ने फरार कोचिंग संचालक गुरु रहमान के कई ठिकानों पर छापेमारी की है, जिस पर रक्षा भर्ती की अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं को हिंसक आंदोलन के लिए उकसाने का आरोप है। रहमान के खिलाफ दानापुर थाने में 17 जून को एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद प्राथमिकी दर्ज की गई थी, जिसमें वह कथित तौर पर युवाओं को आंदोलन के लिए उकसा रहा था।


वीडियो ऐसे समय में प्रसारित किया गया था, जब गुरुवार को आंदोलनकारी उग्र हो उठे थे और गुरुवार और शुक्रवार को दानापुर इलाके में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। दानापुर रेलवे स्टेशन पर खड़ी फरक्का एक्सप्रेस को 18 जून को भीड़ ने आग लगा दी थी और पटना पुलिस का मानना है कि उसके वीडियो बयान को आंदोलनकारियों को भड़काने के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।


पटना एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने कहा, "दानापुर पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी और वर्तमान में नया टोला और कोचिंग संस्थान में उनके घर पर छापेमारी चल रही है। गुरु रहमान फिलहाल फरार है।"

एक अन्य कोचिंग संस्थान संचालक रमेश यादव को रोहतास पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया।

कराटा प्रखंड में एक कोचिंग संस्थान चलाने वाले यादव ने अपने व्हाट्सएप ग्रुप पर एक आपत्तिजनक संदेश प्रसारित किया था, जहां वह व्यवस्थापक और रोहतास के पुलिस अधीक्षक भी हैं। जिले में गुरुवार और शुक्रवार को बड़े पैमाने पर हिंसा की सूचना मिली थी।

बिहार पुलिस के मुताबिक, राज्य में 7 कोचिंग संस्थानों के संचालकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। फिलहाल इनके खिलाफ जांच चल रही है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia